'कोरोना के खिलाफ लड़ाई में ढीले दिख रहे 7 राज्य, 50 फीसदी से भी कम टीकाकरण'

देश में अब तक 1 करोड़ से ज्यादा स्वास्थ्यकर्मियों और फ्रंटलाइन कर्मचारियों का कोरोना वायरस टीकाकरण हुआ है, जिसमें सिर्फ 34 दिन लगे हैं. ANI

Coronavirus vaccination: केंद्रीय मंत्री ने कहा कि इसके लिए 2.11 लाख सेशन आयोजित किए गए, जहां 62 लाख स्वास्थ्य कर्मियों और 33 लाख फ्रंटलाइन कर्मचारियों ने कोरोना वायरस वैक्सीन का पहला टीका लगवाया. इनके साथ 6 लाख स्वास्थ्यकर्मियों को कोरोना वायरस वैक्सीन का दूसरा डोज दिया गया है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) के खिलाफ लड़ाई में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने नारा दिया था कि 'जब तक दवाई नहीं, तब तक ढिलाई नहीं', लेकिन टीकाकरण के मामले में देश के सात राज्य और केंद्रशासित प्रदेश ढीले दिख रहे हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने शुक्रवार को बताया कि सात राज्य और केंद्रशासित प्रदेशों में कोरोना वायरस टीकाकरण (Vaccination) के तहत वैक्सीन का पहला डोज दिए जाने का लक्ष्य 50 प्रतिशत तक भी पूरा नहीं हुआ है. जैसे, लद्दाख में 49 प्रतिशत, तमिलनाडु में 48.8 प्रतिशत, दिल्ली में 46.5 प्रतिशत, नागालैंड में 38.6 प्रतिशत, पंजाब में 38.4 प्रतिशत, चंडीगढ़ में 34.3 प्रतिशत और पुडुच्चेरी में 30.2 प्रतिशत स्वास्थ्य कर्मियों को वैक्सीन का पहला डोज दिया गया है.

    केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय में संयुक्त सचिव मंदीप भंडारी ने कहा कि शुक्रवार को शाम 6 बजे तक 33 लाख 97 हजार 97 फ्रंटलाइन कर्मचारियों का कोरोना वायरस टीकाकरण हुआ है. स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक 12 राज्यों और सात केंद्रशासित प्रदेशों में 75 फीसदी से ज्यादा स्वास्थ्य कर्मियों को कोरोना वायरस वैक्सीन का पहला टीका दिया गया है. इन राज्यों में बिहार (84.7%), त्रिपुरा (82.9%), ओडिशा (81.8%), लक्ष्यद्वीप (81%), गुजरात (80.1%), छत्तीसगढ़ (79.7%), उत्तराखंड (77.2%), मध्य प्रदेश (77%), झारखंड और उत्तर प्रदेश (75.6%), हिमाचल प्रदेश (75.4%) और राजस्थान (75%) हैं.

    मंदीप भंडारी के मुताबिक शुक्रवार को 6 बजे तक 1 करोड़ 4 लाख 49 हजार 942 लोगों का टीकाकरण हुआ है. स्वास्थ्य कर्मियों के टीकाकरण की बात करें तो कुल 70 लाख 52 हजार 845 लोगों का टीकाकरण हुआ है. इनमें से 62 लाख 95 हजार 903 को वैक्सीन का पहला टीका दिया गया है. 7 लाख 56 हजार 942 लोगों को वैक्सीन का दूसरा टीका भी लगा दिया गया है. भंडारी के मुताबिक देश में एक दिन का सबसे ज्यादा टीकाकरण 18 फरवरी को हुआ. इस दिन 6 लाख 58 हजार 674 लोगों को वैक्सीन का टीका लगाया गया और इसी दिन टीकाकरण के मामले में भारत ने 1 करोड़ के आंकड़े को पार कर लिया.

    केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन (Union Minister Harsh Vardhan) ने शुक्रवार को कहा कि देश में अब तक 1 करोड़ से ज्यादा स्वास्थ्यकर्मियों और फ्रंटलाइन कर्मचारियों का कोरोना वायरस टीकाकरण हुआ है, जिसमें सिर्फ 34 दिन लगे हैं और टीकाकरण की ये रफ्तार पूरी दुनिया में दूसरी सबसे तेज दर है.

    केंद्रीय मंत्री ने कहा कि इसके लिए 2.11 लाख सेशन आयोजित किए गए, जहां 62 लाख स्वास्थ्य कर्मियों और 33 लाख फ्रंटलाइन कर्मचारियों ने कोरोना वायरस वैक्सीन का पहला टीका लगवाया. इनके साथ 6 लाख स्वास्थ्यकर्मियों को कोरोना वायरस वैक्सीन का दूसरा डोज दिया गया है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.