कोविड-19 का उपचार करा रहे कुल मरीजों का 86 फीसदी 10 राज्यों से : स्वास्थ्य मंत्रालय

कोविड-19 का उपचार करा रहे कुल मरीजों का 86 फीसदी 10 राज्यों से : स्वास्थ्य मंत्रालय
कोविड-19 के कारण ठीक हुए लोगों की संख्या उपचार करा रहे लोगों की तुलना में 1.8 गुना अधिक है

स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) में विशेष कार्य अधिकारी राजेश भूषण (OSD Rajesh Bhushan) ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि दो सर्वाधिक प्रभावित राज्य महाराष्ट्र (Maharashtra) और तमिलनाडु (Tamilnadu) हैं और देश भर में वायरस का उपचार करा रहे कुल लोगों में 50 फीसदी इन दो राज्यों से हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirs) के मामले मंगलवार को नौ लाख से ज्यादा होने के साथ ही स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) ने कहा कि महामारी का उपचार करा रहे कुल मरीजों का 86 फीसदी देश के दस राज्यों में हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय में विशेष कार्य अधिकारी राजेश भूषण ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि दो सर्वाधिक प्रभावित राज्य महाराष्ट्र (Maharashtra) और तमिलनाडु (Tamilnadu) हैं और देश भर में वायरस का उपचार करा रहे कुल लोगों में 50 फीसदी इन दो राज्यों से हैं. कर्नाटक (Karnataka), दिल्ली (Delhi), आंध्रप्रदेश (Andhra Pradesh), उत्तरप्रदेश (Uttar Pradesh), तेलंगाना (Telangana), पश्चिम बंगाल (West Bengal), गुजरात (Gujarat) और असम (Assam) अन्य प्रभाावित राज्य हैं जहां इलाज करा रहे मरीजों की संख्या 36 फीसदी है.

भूषण ने बताया कि कोविड-19 के कारण ठीक हुए लोगों की संख्या उपचार करा रहे लोगों की तुलना में 1.8 गुना अधिक है. कोविड-19 की जांच के बारे में उन्होंने कहा कि 22 राज्य वर्तमान में प्रतिदिन प्रति दस लाख की आबादी पर 140 जांच करा रहे हैं. मृत्यु दर पर एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय स्तर पर कोविड-19 मृत्यु दर (Covid-19 Fatality Rate) 2.6 फीसदी है और यह तेजी से कम होती जा रही है. उन्होंने कहा, ‘‘वैश्विक मामलों की तुलना में मृत्यु दर अपेक्षाकृत कम है.’’

ये भी पढ़ें- ICMR ने कहा- कोविड-19 वैक्सीन के लिए साइटें तैयार, 2000 वॉलंटियर्स पर किया जाएगा टेस्ट



भारत में प्रति 10 लाख जनसंख्या पर 657 मामले
वहीं देश में कोरोना वायरस के मामलों पर बात करते हुए स्वास्थ्य मंत्रालय के ओएसडी राजेश भूषण ने कहा कि भारत में प्रति 10 लाख जनसंख्या पर कोरोना मामलों की संख्या 657 है. हम दुनिया के उन देशों में से हैं जिनमें प्रति 10 लाख जनसंख्या पर कोविड-19 के मामले सबसे कम हैं. उन्होंने कहा कि भारत में प्रति 10 लाख जनसंख्या पर कोरोना के कारण होने वाली मौतों की संख्या 17.2 है जबकि दूसरे देशों में यह भारत से 35 गुणा है.

ये भी पढ़ें- वो जानलेवा बीमारियां, वैक्सीन के कारण जिनके नाम तक भूल चुके हम

लगातार चौथे दिन 26,000 से ज्यादा मामले
भारत में कोविड-19 के 28,498 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमण के मामले बढ़कर मंगलवार को नौ लाख के पार पहुंच गए. केवल तीन दिन में ही मामले आठ से नौ लाख के पार पहुंच गए हैं. केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा मंगलवार सुबह आठ बजे अद्यतन किये गए आंकड़ों के अनुसार भारत में कोरोना वायरस के मामले अब 9,06,752 हैं. वहीं 553 और लोगों की जान जाने के बाद वायरस से मरने वालों की संख्या अब 23,727 हो गई है. कुल पुष्ट मामलों में से 5,71,459 लोग ठीक हो चुके हैं और 3,11,565 लोगों का इलाज जारी है. कुल पुष्ट मामलों में विदेशी नागरिक भी शामिल हैं.

मंत्रालय के अनुसार अब तक 5,53,470 लोग स्वस्थ हो चुके हैं, जबकि 3,01,609 लोगों का इलाज चल रहा है और एक व्यक्ति देश से बाहर जा चुका है. यह लगातार चौथा ऐसा दिन है, जब देश में संक्रमण के 26,000 से ज्यादा मामले सामने आए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading