Home /News /nation /

Coronavirus: ICMR के आदेश के बाद तमिलनाडु ने वापस कीं 24 हजार रैपिड टेस्ट किट, चीन को की जाएंगी वापस

Coronavirus: ICMR के आदेश के बाद तमिलनाडु ने वापस कीं 24 हजार रैपिड टेस्ट किट, चीन को की जाएंगी वापस

कोरोना की जांच से नहीं टूटेगा रोजा

कोरोना की जांच से नहीं टूटेगा रोजा

स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) ने बताया कि कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण का पता लगाने के लिये चीन से आयात की गयी त्वरित एंटीबॉडी जांच किट (Covid-19 Rapid Antibody Test Kit) से सटीक परिणाम नहीं मिलने पर, आपूर्तिकर्ता कंपनियों के विरुद्ध करार के मुताबिक कार्रवाई की गयी है.

अधिक पढ़ें ...
    नई दिल्ली. भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (Indian Council of Medical Research) ने सोमवार को राज्यों से दो चीनी कंपनियों से खरीदी गयीं कोविड-19 रैपिड एंटीबॉडी जांच किट (Covid-19 Rapid Antibody Test Kit) का इस्तेमाल रोकने और उन्हें लौटाने को कहा है ताकि उन्हें कंपनियों को वापस भेजा जा सके. जिसके बाद तमिलनाडु (Tamilnadu) ने 24000 किट वापस भेजी हैं. ये सभी किटें चीन की कंपनी को वापस भेजी जाएंगीं.

    आईसीएमआर ने सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के मुख्य सचिवों को सोमवार को भेजे परामर्श में कहा कि उसने "ग्वांगझोऊ वोंदफो बायोटेक और झुहाई लिवसन डायग्नोस्टिक्स की किटों का क्षेत्रीय परिस्थितियों में मूल्यांकन किया. परिणामों में उनकी माइक्रो एलिजेबिलिटी में काफी अंतर आया है जबकि निगरानी के उद्देश्य से इसके अच्छे प्रदर्शन का वादा किया गया था."

    परामर्श में कहा गया, "इसके मद्देनजर राज्यों को इन किट का इस्तेमाल बंद करने की सलाह दी जाती है जिन्हें उक्त कंपनियों से खरीदा गया था. इन्हें लौटाया जाए ताकि आपूर्तिकर्ताओं को वापस भेजा जा सके."

    ऑर्डर किया गया कैंसिल
    स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) ने अपने बयान में कहा कि आईसीएमआर (ICMR) ने कुछ आपूर्तियां प्राप्त करने के बाद क्षेत्रीय स्थितियों में इन किटों पर गुणवत्ता अध्ययन कराया. इसमें कहा गया, "इनके कामकाज के वैज्ञानिक आकलन के आधार पर खराब प्रदर्शन वाले ऑर्डर के साथ (वोंडफो के) विवादास्पद ऑर्डर को भी रद्द कर दिया गया है."

    मंत्रालय ने कहा, "इस बात पर जोर दिया जाता है कि आईसीएमआर ने इन आपूर्तियों के संदर्भ में अब तक कोई भुगतान नहीं किया है. उचित प्रक्रिया (शत प्रतिशत अग्रिम राशि देकर खरीद नहीं करने की) का पालन करके भारत सरकार का एक भी रुपया नहीं जाएगा."

    करार के मुताबिक की गई कार्रवाई
    स्वास्थ्य मंत्रालय ने सोमवार को बताया कि कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण का पता लगाने के लिये चीन से आयात की गयी त्वरित एंटीबॉडी जांच किट से सटीक परिणाम नहीं मिलने पर, आपूर्तिकर्ता कंपनियों के विरुद्ध करार के मुताबिक कार्रवाई की गयी है.

    स्वास्थ्य मंत्रालय में संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने नियमित संवाददाता सम्मेलन में बताया कि भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) ने चीन की दो कंपनियों (बायोमेडीमिक्स और वोंडफो) से त्वरित जांच किट की खरीद का करार किया था." उन्होंने बताया कि पिछले दिनों इन किट की आपूर्ति के बाद फील्ड परीक्षण के दौरान इनसे सटीक परिणाम नहीं मिलने पर आईसीएमआर ने आपूर्तिकर्ता कंपनियों के विरुद्ध करार की शर्तों के मुताबिक कार्रवाई की है"

    गौरतलब है कि चीन से आयात की गयी त्वरित जांच किट से पश्चिम बंगाल सहित कुछ राज्यों में सटीक परिणाम नहीं मिलने के बाद आईसीएमआर ने इनके इस्तेमाल को फिलहाल रोक दिया है."

    (भाषा के इनपुट के साथ)

    ये भी पढ़ें-
    कोरोना से बड़ी राहत, पूर्वोत्तर के 8 में से 5 राज्य Covid-19 से मुक्त

    कोरोना से लड़ाई के लिए महाराष्ट्र के पास हैं इतने ICU, वेंटिलेटर और PPE किट

    Tags: Coronavirus, Coronavirus in India, COVID 19 Test, Tamilnadu

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर