Gujarat News: कोरोना के इलाज में मददगार रेमडेसिवीर दवा की कालाबाजारी, राजकोट से डॉक्टर-MR अरेस्ट

रेमेडीसीवीर इंजेक्शन इन दिनों कोरोना की लड़ाई में काफी मदद दे रहा है.
रेमेडीसीवीर इंजेक्शन इन दिनों कोरोना की लड़ाई में काफी मदद दे रहा है.

रेमडेसिवीर इंजेक्शन (Remdesivir injectable formulation) से कुछ मामलों में मरीजों की जिंदगी बची है. इसलिए इस दवा की मांग भी बढ़ गई है. 4800 रुपये का एक इंजेक्शन अब 50 हजार रुपये से 1 लाख रुपये में बेचा जा रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 6, 2020, 11:17 AM IST
  • Share this:
राजकोट. गुजरात के कई शहरों में कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) में जरूरी दवाइओं की कालाबाजारी (Black Marketing) के मामले लगातार सामने आ रहे हैं. रेमडेसिवीर इंजेक्शन (Remdesivir injectable formulation) की कालाबाजारी में एक के बाद एक कड़ियां भी खुल रही हैं. राजकोट पुलिस ने अब इस रैकेट में एक डॉक्टर और एक दवाई कंपनी में एमआर को गिरफ्तार किया है. अब तक इस रैकेट में 11 लोग गिरफ्तार हो चुके हैं. इसमें एक महिला भी शामिल है.

कोरोनाकाल में भी लोग इंसानियत को दरकिनार करते पैसे कमाने के नए नए तरीके ढूंढ ही लेते है. राजकोट पुलिस ने कालाबाजारी के एक बड़े रैकेट का भंडाफोड़ किया है. रेमडेसिवीर इंजेक्शन इन दिनों कोरोना की लड़ाई में काफी मदद दे रहा है. इस इंजेक्शन से कुछ मामलों में मरीजों की जिंदगी बची है. इसलिए इस दवा की मांग भी बढ़ गई है. 4800 रुपये का एक इंजेक्शन अब 50 हजार रुपये से 1 लाख रुपये में बेचा जा रहा है.

COVID-19 Case in India: 24 घंटे में मिले कोरोना के 61,267 नए केस, 884 मरीज़ों की हुई मौत



कोरोना के इलाज में 5 इंजेक्शन का कोर्स होता है. एक-एक इंजेक्शन के लिए इतनी मोटी रकम वसूली जा रही है. राजकोट में ही रेमडेसिवीर इंजेक्शन के कालाबाजारी की आठ मामले सामने आए हैं. पुलिस ने चार एफआईआर दर्ज की है और जांच में जुटी है.
राजकोट के पुलिस कमिश्नर मनोज अग्रवाल कहते हैं, 'कालाबाजारी के एक केस में डॉक्टर और दवाई बनानेवाले कैडिला कंपनी के एमआर की भूमिका सामने आई है. एक और केस में कोविड सेंटर के स्टाफ जुड़े थे. पुलिस ने इन्हें गिरफ्तार कर लिया है. उनसे पूछताछ की जा रही है.'

दोगुनी समस्या: सर्दियों में हवा की गुणवत्ता में गिरावट से दिल्ली में बढ़ सकते हैं COVID-19 के मामले

बता दें कि भारत के दवा नियामक ड्रग कंट्रोलर जनरल ने कोविड19 महामारी के इलाज में काम आने वाली दवा रेमडेसिवीर की कालाबाजारी की खबरों पर संज्ञान लिया है. दवा नियामक ने राज्यों को इस बारे में एक निर्देश जारी किया है. दवा नियामक ने राज्य के ड्रग कंट्रोलर से कहा है कि वे रेमडेसिवीर की पर्याप्त आपूर्ति और उचित दाम पर इसकी बिक्री सुनिश्चित कराएं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज