Home /News /nation /

मुंबई-दिल्ली में कोरोना केसों में तेजी से कमी, लेकिन इस बात ने बढ़ाया प्रशासन का सिरदर्द, जानें क्यों

मुंबई-दिल्ली में कोरोना केसों में तेजी से कमी, लेकिन इस बात ने बढ़ाया प्रशासन का सिरदर्द, जानें क्यों

दिल्ली के सरोजिनी नगर बाजार में जुटी भीड़. (सांकेतिक तस्वीर)

दिल्ली के सरोजिनी नगर बाजार में जुटी भीड़. (सांकेतिक तस्वीर)

India Coronavirus News: देश में कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या बढ़कर 17,36,628 हो गई है, जो कुल मामलों का 4.62 प्रतिशत है. देश में 230 दिन में उपचाराधीन मरीजों की यह संख्या सर्वाधिक है. पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या में 80,287 की वृद्धि दर्ज की गई. वहीं, 310 और लोगों की संक्रमण से मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 4,86,761 हो गई. देश में मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर घटकर 94.09 प्रतिशत हो गई है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. भारत में कोरोना वायरस के पिछले सप्ताह से 17 लाख से अधिक नए मामले सामने आए हैं. अस्पताल में भर्ती दर और तीसरी लहर में अब तक की भीड़, हालांकि दूसरी लहर की तुलना में कुछ भी नहीं है जिसने स्वास्थ्य सेवा प्रणाली को कगार पर धकेल दिया था. इस बार देश में खतरनाक तरीके से बढ़ रहे कोविड-19 मामलों के लिए नए वेरिएंट ओमिक्रॉन को जिम्मेदार बताया जा रहा है, जिसने पूरी दुनिया को चिंता में डाल दिया है.

पिछले सात दिनों में अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों के आंकड़ों का विश्लेषण करने पर एनडीटीवी ने पाया कि मुंबई और दिल्ली में ऐसे लोगों की संख्या में वृद्धि देखी गई, जिन्हें अस्पताल में देखभाल की आवश्यकता है. दिलचस्प बात ये है कि अस्पतालों में भर्ती होने वाले लोगों की संख्या में इजाफा ऐसे समय में हो रहा है, जबकि कोविड-19 के मामले लगातार सात दिनों तक गिरते रहे है.

मुंबई और दिल्ली के कोरोना मामलों में गिरावट
भारत की वित्तीय राजधानी में 11 जनवरी से 17 जनवरी के बीच 7.24 प्रतिशत से 11.08 प्रतिशत की उल्लेखनीय वृद्धि देखी गई. शहर में 11 जनवरी को 11,647 मामले दर्ज किए गए थे, जबकि सोमवार को महज 6,149 केस थे. इस दौरान दिल्ली में 2.88 फीसदी से 3.19 फीसदी की बढ़त देखी गई. 11 जनवरी को शहर में 19,000 से अधिक मामले दर्ज किए गए थे, जबकि सोमवार को राष्ट्रीय राजधानी में 11,684 नए मामलों आए.

नोएडा और गुड़गांव के अस्पताल भर्ती दर में इजाफा
राष्ट्रीय राजधानी से सटे दो शहरों – गुड़गांव और नोएडा में भी इसी तरह का वक्र देखा गया है. उत्तर प्रदेश के नोएडा में, 11 जनवरी को अस्पताल में भर्ती होने की दर .65 प्रतिशत थी, जबकि सोमवार को यह बढ़कर .89 प्रतिशत हो गई. उत्तर प्रदेश में फरवरी-मार्च चुनाव में मतदान होगा. हरियाणा के गुड़गांव में यह .65 प्रतिशत से .69 प्रतिशत तक आ गया है, मतलब कि मामलों में .04 फीसद तक का अंतर देखने को मिला है. लेकिन शहर में कोविड-19 की साप्ताहिक सकारात्मकता दर खतरनाक 37 प्रतिशत रही है, जो यह दिखाता है कि हर तीन में से एक व्यक्ति का कोविड टेस्ट पॉजिटिव आ रहा है.

11 राज्यों की सकारात्मकता दर राष्ट्रीय औसत से अधिक
कोलकाता में 11 जनवरी से 17 जनवरी के बीच अस्पताल में भर्ती होने की दर 3.27 प्रतिशत से गिरकर 2.21 प्रतिशत हो गई, लेकिन साप्ताहिक सकारात्मकता दर 54 प्रतिशत रही है. जो यह बताता है कि हर दो में से एक व्यक्ति का कोरोना टेस्ट पॉजिटिव आ रहा है. 11 राज्यों की साप्ताहिक सकारात्मकता दर राष्ट्रीय औसत 15.2 प्रतिशत से अधिक रही है. गोवा (36.1 प्रतिशत) इस सूची में सबसे ऊपर है और उसके बाद पश्चिम बंगाल (31.5 प्रतिशत) का नंबर आता है.

देश में एक्टिव मरीजों की तादाद 17 लाख के पार
इस बीच, भारत में एक दिन में कोविड-19 के 2,38,018 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 3,76,18,271 हो गई. संक्रमण के कुल मामलों में कोरोना वायरस के ‘ओमिक्रॉन’ स्वरूप के 8,891 मामले भी शामिल हैं. केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से मंगलवार सुबह आठ बजे जारी किए गए अपडेट आंकड़ों के अनुसार, देश में कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या बढ़कर 17,36,628 हो गई है, जो कुल मामलों का 4.62 प्रतिशत है.

‘ओमिक्रॉन’ वेरिएंट के मामलों में 8.31% की वृद्धि
देश में 230 दिन में उपचाराधीन मरीजों की यह संख्या सर्वाधिक है. पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या में 80,287 की वृद्धि दर्ज की गई. वहीं, 310 और लोगों की संक्रमण से मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 4,86,761 हो गई. देश में मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर घटकर 94.09 प्रतिशत हो गई है. मंत्रालय ने बताया कि देश में सोमवार से ‘ओमिक्रॉन’ स्वरूप के मामलों में 8.31 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है.

(इनपुट भाषा से भी)

Tags: Coronavirus, Coronavirus latest news, Coronavirus news, Delhi, Mumbai, Omicron

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर