Home /News /nation /

कोरोना वायरस : 149 दिन में मरीजों की संख्या 5 लाख के पार, रोजाना 2 लाख सैंपल की हो रही है जांच

कोरोना वायरस : 149 दिन में मरीजों की संख्या 5 लाख के पार, रोजाना 2 लाख सैंपल की हो रही है जांच

देश मे अब रोजाना 2 लाख सैम्पल की जांच हो रही है (फोटो-AP)

देश मे अब रोजाना 2 लाख सैम्पल की जांच हो रही है (फोटो-AP)

Coronavirus: देश मे अब रोजाना 2 लाख सैंपल की जांच हो रही है. 26 जून को सबसे ज्यादा 2,20,479 सैंपल की जांच हुई.

नई दिल्ली. भारत मे कोरोना (Corronavirus) का पहला केस 30 जनवरी को केरल में सामने आया था. तब से कोरोना के जो मामले आने शुरू हुए हैं वो थमने का नाम नहीं ले रहे हैं. शनिवार यानी 27 जून तक देश मे कोरोना का आंकड़ा 5 लाख के पार पहुंच गया. अब तक पूरे देश मे कोरोना के 508,953 मामले सामने आए. जबकि मरने वालों की संख्या 15685 जा पहुंची है. शनिवार को ही अब तक किसी एक दिन में कोरोना के सबसे ज्यादा केस सामने आए. भारत मे पांच लाख का आंकड़ा पहुंचने में 149 दिन लगे. जबकि शुरुआत के 1 लाख मामले पहुंचने में 110 दिन लगे थे. जबकि 2 लाख का आंकड़ा 3 जून को टच किया था. 13 जून को तीन लाख आंकड़ा पहुंचा तो 21 जून को मामले 4 लाख पार हो गए और अगले 1 लाख केस जुड़ने में लगभग 6 दिन लगे.

कोरोना जांच पर फोकस, रोजाना 2 लाख सैंपल की जांच
देश मे अब रोजाना 2 लाख सैंपल की जांच हो रही है. 26 जून को सबसे ज्यादा 2,20,479 सैंपल की जांच हुई. इस हिसाब से देशभर में अब तक 79,96,707 सैंपल की जांच की जा चुकी है. मौजूदा समय मे पॉजिटिविटी रेट 8.41% है. यानी देश मे कोरोना सैंपल की कुल हो रही जांच में पॉजिटिव मरीजों का प्रतिशत 8.41 % है.

केंद्रीय टीम तीन ज्यादा प्रभावित राज्यों के दौरे पर
कोरोना से प्रभावित तीन राज्यों के दौरे पर केंद्रीय टीम गई है. स्वास्थ्य मंत्रालय में संयुक्त सचिव लव अग्रवाल की अगुआई में टीम ठाणे पहुंची है. मुंबई, गुजरात और तेलंगाना भी ये टीम जाएगी.
इसके अलावा केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने जानकारी दी कि 4.7 लाख RT-PCR टेस्ट करने के लिए ICMR ने दिल्ली सरकार को डायग्नोस्टिक मैटेरियल मुफ्त में दिया है. इसके अलावा ICMR की तरफ से दिल्ली सरकार को 50,000 रैपिड एंटीजन टेस्ट किट्स भी मुफ्त में दी गई हैं. दिल्ली के छतरपुर में 2000 बेड की सुविधा वाला सरदार पटेल कोविड केयर सेंटर मेडिकल और सेंट्रल आर्म्ड पुलिस फोर्स द्वारा ऑपरेट होगा. यानी जबसे गृह मंत्री अमित शाह ने कमान संभाली है तबसे दिल्ली पर खास फोकस है. क्योंकि दिल्ली में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं यहां तक कि दिल्ली ने अब मुंबई को भी पीछे छोड़ दिया है तो केंद्र सरकार की कोशिश है कि ज्यादा से ज्यादा टेस्ट के जरिये वक्त पर कोरोना मरीजों की पहचान की जा सके. जिससे कि उनका समय पर इलाज हो.

आज से सेरोलॉजिकल सर्वे शुरू
आज से दिल्ली में सेरोलॉजिकल सर्वे की शुरुआत हो गयी. इस सर्वे के जरिए ब्लड सैंपल लेकर एंटी बॉडी टेस्टिंग की जाएगी. सर्वे का मकसद दिल्ली में कोरोना के संक्रमण के फैलाव का पता लगाना है. इस सर्वे की जरूरत इसलिए पड़ी क्योंकि दिल्ली में बहुत से लोग ऐसे भी हैं जो कोरोना से संक्रमित हुए और ठीक भी हो गए और उन्हें पता भी नहीं चला कि वो कोरोना से संक्रमित होकर कब ठीक हो गए. खासकर बिना लक्षण वाले लोग अपना टेस्ट कराने से बचते हैं. ब्लड सैंपल से उन लोगों के बारे में पता लगाया जाएगा जो लोग कोरोना से संक्रमित होकर ठीक हो गए और उन्हें पता ही नहीं चला कि वो कोरोना संक्रमण का शिकार हुए. ये सर्वे दिल्ली में सभी 11 जिलों से 20000 सैंपल लेकर उन्हें नेशनल सेंटर फ़ॉर डिजीज कंट्रोल (NCDC) भेजा जाएगा. सर्वे आज से शुरू होकर 10 जुलाई तक चलेगा जिसके नतीजों आने के बाद दिल्ली में कोरोना से लड़ने के लिए रणनीति बनाने में मदद मिलेगी.

Tags: Coronavirus Case, Coronavirus in India

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर