Assembly Banner 2021

महाराष्ट्र के औरंगाबाद में कोविड-19 के 459 नए मामले, लॉकडाउन लगाने पर फैसला कल

औरंगाबाद में जिले में संक्रमण के मामलों और कोरोना वायरस की पूरी स्थिति की समीक्षा होने के बाद लॉकडाउन के बारे में फैसला लिया जाएगा.
(सांकेतिक तस्वीर)

औरंगाबाद में जिले में संक्रमण के मामलों और कोरोना वायरस की पूरी स्थिति की समीक्षा होने के बाद लॉकडाउन के बारे में फैसला लिया जाएगा. (सांकेतिक तस्वीर)

Coronavirus in Maharashtra: औरंगाबाद में कोरोना वायरस के 459 नए मामले सामने आए, जिससे जिले में संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 52,103 हो गए.

  • Share this:
औरंगाबाद. महाराष्ट्र के औरंगाबाद (Aurangabad) में कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण के मामलों में वृद्धि के बीच जिला अधिकारियों ने इस पर चर्चा के लिए रविवार को एक बैठक करने का फैसला किया है कि लॉकडाउन लगाया जाना चाहिए या नहीं. एक अधिकारी ने शनिवार को यह जानकारी दी. जिले में कोरोना वायरस के 459 नए मामले सामने आए, जिससे जिले में संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 52,103 हो गए. जिलाधिकारी सुनील चव्हाण ने कहा, ’रविवार शाम को एक बैठक आयोजित की जाएगी, जिसमें लॉकडाउन के मुद्दे पर चर्चा की जाएगी. पुलिस आयुक्त, नगर आयुक्त, पुलिस अधीक्षक और अन्य अधिकारी इसमें मौजूद रहेंगे. जिले में संक्रमण के मामलों और कोरोना वायरस पूरी स्थिति की समीक्षा होने के बाद लॉकडाउन के बारे में फैसला लिया जाएगा.’

उन्होंने कहा, ’लॉकडाउन लगाया जा सकता है, लेकिन लोगों को इसके लिए खुद को तैयार करने के लिए पर्याप्त समय दिया जाएगा. रोगियों की संख्या बढ़ रही है. यदि इसी गति से मामले बढ़ते रहे, तो अस्पतालों में बिस्तरों की कमी हो जाएगी. अधिकारी इन सभी चीजों पर चर्चा करेंगे.’ अधिकारी ने कहा कि शुक्रवार रात तक जिले में उपचाराधीन मरीजों की संख्या 2,910 थी. उन्होंने कहा कि 179 और मरीजों को अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई, जिससे जिले में अब तक ठीक हो चुके लोगों की संख्या 47,909 हो गई.

उन्होंने कहा कि जिले में शुक्रवार को पांच मरीजों की मौत होने से मृतकों की संख्या बढ़कर 1,284 हो गई. औरंगाबाद नगर निगम के आयुक्त आस्तिक कुमार पांडे ने कहा, ’प्रशासन स्थिति पर करीब से नजर रखे हुए है. अतीत में, जब मामलों की संख्या बढ़ी थी, तो हमने उसे ढंग से संभाल लिया था. लेकिन अब यह एक चुनौती होगी.’



अधिकारी ने कहा कि एक मार्च के बाद से, औरंगाबाद जिले में कोविड-19 के 1,737 नए मामले सामने आ चुके हैं और 911 रोगियों को ठीक होने के बाद छुट्टी दे दी गई. एक मार्च से शुक्रवार रात तक 17 मरीजों की मौत हो चुकी है. उन्होंने कहा कि मराठवाड़ा क्षेत्र के अन्य जिलों में भी संक्रमण के मामले बढ़े हैं. जालना जिले में 202 नए मामले, बीड में 97, लातूर में 108, नांदेड़ में 128, उस्मानाबाद में 26, हिंगोली में 46 और परभणी में 47 मामले आए हैं.
अधिकारी ने कहा कि परभणी में, विदर्भ क्षेत्र के जिलों से आने वाली बसों पर प्रतिबंध, राजनीतिक मार्च, आंदोलन और धार्मिक पूजा स्थलों पर प्रतिबंध 15 मार्च तक जारी रहेंगे.

(Disclaimer: यह खबर सीधे सिंडीकेट फीड से पब्लिश हुई है. इसे News18Hindi टीम ने संपादित नहीं किया है.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज