COVID-19 in India: कोरोना के केस घटे पर मौत के आंकड़ों में कमी नहीं, डॉक्‍टरों ने बताई असली वजह

कोरोना से मौत के मामले में भारत दुनिया में तीसरे नंबर पर.

कोरोना से मौत के मामले में भारत दुनिया में तीसरे नंबर पर.

कोरोना (Corona) के आंकड़ों को देखें तो 9 मई के बाद से कोरोना वायरस (Coronavirus) के नए मामले कम होने लगे थे, लेकिन मौत के आंकड़ों में कोई खास कमी देखने को नहीं मिली है. पिछले काफी समय से मौत के आंकड़े 4 हजार को पार कर रहे हैं.

  • Share this:

नई दिल्‍ली. देश में कोरोना की दूसरी लहर (Corona Second Wave) की रफ्तार अब धीमे पड़ती दिखाई पड़ रही है. कोरोना (Corona) का ग्राफ भले ही नीचे जाने लगा है लेकिन मौत (corona death) के आंकड़े अभी भी डरा रहे हैं. भारत में 9 मई से कोरोना के आंकड़े लगातार कम रिकॉर्ड किए जा रहे हैं लेकिन मौत के आंकड़ों में कोई कमी नहीं आई है. 31 मार्च को देश में कोरोना के 72 हजार केस सामने आए थे, जो 30 अप्रैल को 4 लाख पार कर गया था. इसी तरह मौत के आंकड़ों पर नजर दौड़ाएं तो देश में 31 मार्च को 458 मरीजों की मौत हुई थी जबकि 30 अप्रैल को ये आंकड़ा बढ़कर 3525 हो गया था. 6 मई को देश में कोरोना के सबसे ज्‍यादा 4,14,280 केस सामने आए थे और इस दिन 3923 मौतें रिकॉर्ड की गईं थीं.

कोरोना के आंकड़ों को देखें तो 9 मई के बाद से कोरोना के नए मामले कम होने लगे थे, लेकिन मौत के आंकड़ों में किसी भी तरह का कोई बदलाव देखने को नहीं मिला है. पिछले काफी समय से मौत के आंकड़े 4 हजार को पार कर रहे हैं. ऐसा नहीं है कि इस तरह के हालात केवल भारत में ही दिखाई पड़ रहे हैं. कोरोना के दौर में ऐसा पहले भी हुआ है जब केस और मौतों के ट्रेंड अलग-अलग रहे हैं.


पब्लिक हेल्थ एक्सपर्ट डॉक्टर चन्द्रकांत लहारिया कहते हैं कि कोरोना के केस भले ही तेजी से कम हो रहे हों लेकिन मौत के संख्‍या में इसका असर 14 दिन के बाद ही दिखाई देगा. यही इन्फेक्शन की साइकिल है. ऐसा ही मामला दूसरे देश में भी देखने को मिला है. अमेरिका में रोज आने वाले केस 11 जनवरी से कम होने शुरू हुए थे जबकि 27 जनवरी के बाद मौत के आंकड़ों में गिरावट दर्ज की गई थी. इसी तरह ब्राजील में कोरोना केस 27 मार्च से कम होना शुरू हुए थे जबकि मृतकों की संख्‍या 12 अप्रैल के बाद कम होना शुरू हुई थी. भारत में 9 मई से कोरोना का ग्राफ नीचे जाने लगा है. ऐसे में उम्‍मीद की जा रही है कि अगले कुछ दिनों में मौत के आंकड़े नीचे जाने लगेंगे.
इसे भी पढ़ें :- Kangra: गंभीर रूप से संक्रमित 13 वर्षीय नेहा ने जीती कोरोना से जंग

हालांकि कुछ लोगों का कहना है कि कोरोना से होने वाली मौत की सही जानकारी दिए जाने के कारण भी ये आंकड़े अब बढ़े हुए दिख रहे हैं. पिछले कुछ समय में मौत की संख्‍या छुपाए जाने को लेकर सरकार की जिस तरह से फजीहत हुई है उसके बाद इसकी रिपोर्टिंग बेहतर हुई है. महाराष्ट्र में शुक्रवार को कोविड-19 के 20,740 नए मामले सामने आए, जिससे राज्य में संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 56,92,920 हो गए, जबकि 424 मरीजों की मौत होने से राज्य में इस महामारी से जान गंवाने वालों की संख्या बढ़कर 93,198 हो गई.

इसे भी पढ़ें :- UP Unlock News: यूपी में लॉकडाउन में ढील देने की तैयारी, सख्ती के साथ फिर खुल सकते हैं बाजार




गुजरात में कोरोना के 2521 नए मामले, 27 की हुई मौत

गुजरात में शुक्रवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 2521 नए मामले सामने आए, ​जिसके बाद प्रदेश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 8,03,387 हो गई है. स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक संक्रमण के कारण प्रदेश में 27 और लोगों की मौत हो गई, जिसके बाद राज्य में मरने वालों का आंकड़ा 9,761 पर पहुंच गया है.

इसे भी पढ़ें :- कोरोना वैक्सीन का प्रोडक्शन आखिर क्यों रातोंरात नहीं बढ़ाया जा सकता? सरकार ने बताई वजह

मध्‍य प्रदेश में कोरोना के 1,854 नए केस, 63 की हुई मौत

मध्यप्रदेश में शुक्रवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 1,854 नए मामले सामने आए और इसके साथ ही प्रदेश में इस वायरस से अब तक संक्रमित पाए गए लोगों की कुल संख्या बढ़कर 7,75,709 तक पहुंच गई. राज्य में पिछले 24 घंटों में इस बीमारी से प्रदेश में 63 और व्यक्तियों की मौत हुई है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज