लाइव टीवी

केंद्र ने राज्‍यों से कहा- कोरोना से निपटने के लिए अस्‍पतालों में सुविधा बढ़ाएं

News18Hindi
Updated: March 24, 2020, 4:52 PM IST
केंद्र ने राज्‍यों से कहा- कोरोना से निपटने के लिए अस्‍पतालों में सुविधा बढ़ाएं
केंद्र सरकार ने राज्‍यों की दी ये सलाह.

कोरोना वायरस (CoronaVirus) से देश में अभी तक 10 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 518 लोग इससे संक्रमित हैं. देश के 560 जिलों को लॉकडाउन (Lock Down) किया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 24, 2020, 4:52 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. कोरोना वायरस (CoronaVirus) का कहर कम होने का नाम नहीं ले रहा है. कोरोना से भारत में अभी तक 10 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 518 मामले सामने आ चुके हैं. देश के 560 जिलों को लॉकडाउन किया गया है. इससे सबसे ज्‍यादा प्रभावित राज्य महाराष्‍ट्र और केरल हैं. इस बीच केंद्र सरकार ने राज्‍यों सरकारों को कुछ सलाह दी है. केंद्र ने राज्‍यों से कहा है कि वे कोरोना वायरस से निपटने के लिए अस्पतालों में क्लिनिकल लैब, आइसोलेशन वार्ड और मौजूदा सुविधाओं का विस्‍तार कराएं. कोरोना से संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए वेंटिलेटर से लैस अलग वार्ड और मास्‍क, दवाएं और व्‍यक्तिगत सुरक्षा उपकरण की व्‍यवस्‍था की जाए. केंद्र ने राज्‍य सरकारों से इन सुविधाओं के लिए राजकोषीय संसाधनों से राहत देने की भी बात कही है.

लोगों को घरों में रखने के लिए जहां जरूरत हो कर्फ्यू लगाएं: केंद्र
लॉकडाउन के बावजूद लोगों का बाहर निकलना जारी रहने को देखते हुए केंद्र ने राज्य सरकारों एवं केंद्र शासित प्रदेशों के प्रशासन को सुझाव दिया है कि कोरोना वायरस के फैलने के मद्देनजर लोगों को घरों में रखने के लिए जहां भी जरूरत हो, वहां कर्फ्यू लगाएं. अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी.

केंद्र सरकार के एक शीर्ष पदाधिकारी ने कुछ मुख्यमंत्रियों से फोन पर बात की और उन्हें बताया कि अगर लोग घरों से बाहर निकालना जारी रखते हैं तब कर्फ्यू लगाने की जरूरत है. एक सरकारी अधिकारी ने बताया कि राज्य सरकारों और केंद्र शासित प्रशासनों को सलाह दी गई है कि वायरस के फैलने के कारण बंद के आदेश के बाद भी लोगों का घर से निकलना जारी है, ऐसे में जहां भी जरूरत हो, वहां कर्फ्यू लगाएं.



राज्य सरकारों को बताया गया है कि वर्तमान स्थिति में लोगों का जमा होना स्थिति को बिगाड़ सकता है क्योंकि देश के विभिन्न हिस्सों में कोरोना वायरस के करीब 500 पुष्ट मामले आ चुके हैं. अधिकारी ने कहा, 'अब, यह राज्य सरकारों पर है कि स्थानीय स्थिति के मद्देनजर क्या कदम उठाते हैं और जिला मजिस्ट्रेट को जरूरी निर्देश देते हैं जिनके पास कर्फ्यू लगाने का अधिकार है.' कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए अब तक 32 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में पूर्ण लॉकडाउन की घोषणा कर दी गई है. इसका मतलब है कि कुल 560 जिलों में लॉकडाउन है. अधिकारियों ने मंगलवार को बताया कि तीन अन्य राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों ने अपने यहां के कुछ इलाकों में बंद लागू किया है जिसके दायरे में 58 जिले आ रहे हैं.

इन राज्‍यों में लॉकडाउन
दो राज्य पंजाब और महाराष्ट्र तथा एक केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी पहले ही अपने इलाके में कर्फ्यू की घोषणा कर चुके हैं. जिन राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों ने लॉकडाउन किया है, उनमें चंडीगढ़, दिल्ली, गोवा, जम्मू कश्मीर, नगालैंड, राजस्थान, उत्तराखंड, पश्चिम बंगाल, लद्दाख, त्रिपुरा, तेलंगाना, छत्तीसगढ़, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, महाराष्ट्र, आंध्रप्रदेश, आंध्रप्रदेश, मेघालय, झारखंड, बिहार, अरुणाचल प्रदेश, मणिपुर, तमिलनाडु, केरल, हरियाणा, दादरा नगर हवेली, कर्नाटक और असम शामिल हैं.

(भाषा के इनपुट के साथ)

ये भी पढ़ें:- 

वित्त मंत्री का ऐलान, दूसरे बैंक के ATM से पैसे निकालने पर नहीं लगेगा कोई चार्ज

Coronavirus: सोशल डिस्टेंसिंग के नाम पर हो रही है प्रताड़ना! इंडिगो क्रू मेंबर ने सुनाई आपबीती

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 24, 2020, 4:20 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर