Coronavirus: एयरपोर्ट पर यात्रियों की मदद के लिए CISF ने बनाया टास्‍क फोर्स, Triage Area में होगी तैनाती

एयरपोर्ट अधिकारियों से जायजा लेते सीआईएसएफ के महानिदेशक राजेश रंजन.
एयरपोर्ट अधिकारियों से जायजा लेते सीआईएसएफ के महानिदेशक राजेश रंजन.

COVID-19 की तैयारियों का जायजा लेने के लिए सीआईएसएफ महानिदेशक राजेश रंजन (CISF DG Rajesh Ranjan) ने तमाम आलाअधिकारियों के साथ दिल्‍ली एयरपोर्ट (Delhi Airport) का दौरा भी किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 19, 2020, 11:27 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली: सीआईएसएफ (CISF) ने कोरोना वायरस (Coronavirus) से प्रभावित देशों से आने वाले यात्रियों को संभालने के लिए आईजीआई एयरपोर्ट (IGI Airport) सहित देश के सभी एयरपोट्स पर स्‍पेशल टास्‍क फोर्स (Special Task Force) का गठन किया गया है, जिसकी तैनाती एयरपोर्ट के एरवाइल टर्मिनल में विशेष रूप से बनाए गए Triage Area में होगी. इस टास्‍क फोर्स की अहम जिम्‍मेदारियों में एयरपोर्ट हेल्‍थ आर्गनाइजेशन (APHO) की मेडिकल टीम और कोरोना प्रभावित देशों से आने वाले यात्रियों को मदद करना होगा.

सीआईएसएफ महानिदेशक ने‍ किया एयरपोर्ट का दौरान
सीआईएसएफ के महानिदेशक राजेश रंजन ने COVID-19 की तैयारियों का जायजा लेने के लिए आज दिल्‍ली के आईजीआई एयरपोर्ट का दौरा किया है. इस दौरान उनके साथ एयरपोर्ट सेक्‍टर के विशेष महानिदेशक  एमए गणपति भी थे. इस दौरान, उन्‍होंने कोरोनावायरस और कोविड-19 की चुनौती के लिए सीआईएसएफ द्वारा प्रदान की जा रही सेवाओं, व्यवस्थाओं का जायजा लिया. सीआईएसएफ महानिदेशक ने स्वास्थ्य अधिकारियों एवं तैनात बल कर्मियों के साथ बातचीत की और सामान्य कर्तव्य से परे उनके समर्पण व योगदान के लिए प्रशंसा भी की.

सीआईएसएफ क जवानों को दिए गए खास निर्देश
देश के करीब 63 एयरपोर्ट की सुरक्षा व्‍यवस्‍था वर्तमान समय में सीआईएसएफ के जिम्‍मे में है. इन सभी एयरपोर्ट पर जवानों की सुरक्षा का ध्‍यान में रखते हुए मास्क, सर्जिकल दस्ताने उपलब्‍ध कराए गए हैं. इन सीआईएसएफ कर्मियों को न्यूनतम स्पर्श अवधारणा से भी रूबरू कराया गया है. उन्‍हें सुरक्षा जांच के दौरान यात्री के किसी भी सामान को न छूने की हिदायत दी गई है. सीआईएसएफ कर्मियों को सुरक्षा प्रक्रियाओं से समझौता किए बिना यात्री के साथ आवश्यक दूरी बनाकर कर्तव्यपालन की हिदायत भी दी गई है. उनसे कहा गया हे कि सुरक्षा जांच के दौरान DFMD के बेहतर उपयोग के लिए यात्रियों के बीच में आवश्यक दूरी बना कर रखें और फ्रिस्किंग के दौरान यात्री के शरीर से 2.5 सेंटीमीटर की दूरी बनाये रखे. साथ ही, उपकरणों को भी नियमित रूप से सेनेटाईज भी करें.



यह भी पढ़ें: 

Coronavirus से बचाव के लिए सीआईएसएफ के 30 हजार जवानों ने अपनाई यह खास तरकीब
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज