कितना घातक है कोरोना का डेल्‍टा+वैरिएंट, इस पर वैक्‍सीन प्रभावी है या नहीं? जानिये सब कुछ

कोरोना वायरस का डेल्‍टा प्‍लस वैरिएंट 4 राज्‍यों में फैला है. (File pic)

Coronavirus Delta Plus Variant: भारत में बुधवार तक कोरोना वायरस के डेल्‍टा प्‍लस वैरिएंट के 40 मामले सामने आए हैं. अब तक देश के 4 राज्‍यों में यह फैला है.

  • Share this:
    नई दिल्‍ली. देश में कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) के नए डेल्‍टा प्‍लस वैरिएंट (Corona Delta Plus) ने चिंता बढ़ा दी है. मंगलवार को स्‍वास्‍थ्य मंत्रालय ने इसे देश के लिए चिंता का विषय बताया है. वहीं बुधवार को सामने आई जानकारी के अनुसार देश में बुधवार तक इसके 40 मामले सामने आए हैं. कोरोना का डेल्‍टा प्‍लस वैरिएंट अब तक देश के 4 राज्‍यों में फैल चुका है. तमिलनाडु, केरल, महाराष्‍ट्र और मध्‍य प्रदेश में इसके मामले सामने आ चुके हैं.

    मंगलवार को स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी एक बयान में कहा गया था कि भारतीय सार्स सीओवी-2 जीनोमिक्स कंसोर्टियम (आईएनएसएसीओजी) ने सूचना दी थी कि डेल्टा प्लस वैरिएंट वर्तमान में चिंताजनक वैरिएंट (वीओसी) है, जिसमें तेजी से प्रसार, फेफड़े की कोशिकाओं के रिसेप्टर से मजबूती से चिपकने और ‘मोनोक्लोनल एंटीबॉडी’ प्रतिक्रिया में संभावित कमी जैसी विशेषताएं हैं.

    आइये जानते हैं कोरोना के इस नए डेल्‍टा प्‍लस वैरिएंट के बारे में...

    [q]डेल्‍टा प्‍लस वैरिएंट क्‍या है?[/q]
    [ans]डेल्‍टा प्‍लस वैरिएंट कोरोना वायरस के डेल्‍टा वैरिएंट या बी.1.617.2 का म्‍यूटेशन है. इसने के417एन स्‍पाइक म्‍यूटेशन पर आधिपत्‍य करके डेल्‍टा प्‍लस वैरिएंट बनाया है.[/ans]

    [q]क्‍या यह अधिक संक्रामक है?[/q]
    [ans]स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय का कहना है कि अभी संख्या के लिहाज से यह काफी छोटा दिखता है और हम नहीं चाहते कि इसमें वृद्धि हो. भारतीय सार्स कोव-2 जीनोमिक्स कंसोर्टियम (आईएनएसएसीओजी) की 28 प्रयोगशालाएं हैं और उन्होंने 45,000 नमूनों का अनुक्रमण किया है. इनमें से डेल्टा प्लस वैरिएंट के मामले सामने आए थे. इसके मुताबिक डेल्‍टा प्‍लस वैरिएंट अधिक संक्रामक है. यह फेफड़ों पर तेजी से हमला करता है. इसके कारण मोनोक्‍लोनल एंटीबॉडी कम होती हैं. यही एंटीबॉडी बीमारियों से लड़ती हैं.[/ans]

    [q]कौन-कौन से राज्‍यों और शहरों में यह सर्वाधिक फैला है?[/q]
    [ans]सरकारी सूत्रों के अनुसार कोरोना का यह खतरनाक वैरिएंट अब 4 राज्‍यों में फैल चुका है. इन राज्‍यों में अब तक इसके कुल 40 मामलों की पुष्टि हुई है. ये राज्‍य हैं- तमिलनाडु, केरल, महाराष्‍ट्र और मध्‍य प्रदेश. सूत्रों का कहना है कि यह वैरिएंट लगातार चिंता का विषय बना हुआ है. स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के मुताबिक डेल्‍टा वैरिएंट महाराष्‍ट्र के रत्‍नागिरी और जलगांव जिले, केरल के पलक्‍कड़ और पथनमिट्टा, मध्‍य प्रदेश के भोपाल और शिवपुरी में मिले हैं. इनमें अब तमिलनाडु का नाम भी शामिल हो गया है.[/ans]

    [q]क्‍या डेल्‍टा वैरिएंट के खिलाफ कोरोना वैक्‍सीन प्रभावी हैं?[/q]
    [ans]भारत में इस समय दो कोरोना वैक्‍सीन कोविशील्‍ड और कोवैक्सिन लगाई जा रही है. स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के अनुसार दोनों भारतीय वैक्‍सीन डेल्टा वैरिएंट के खिलाफ प्रभावी हैं. सरकार का कहना है कि टीके किस हद तक और किस अनुपात में एंटीबॉडी बना पाते हैं, इसकी जानकारी बहुत जल्द साझा की जाएगी.[/ans]

    [q]डेल्‍टा प्‍लस वैरिएंट को रोकने के लिए क्‍या उपाय अपनाए जाएं?[/q]
    [ans]स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने कहा है कि राज्‍यों को प्रभावी कदम उठाने की जरूरत है. संक्रमण को रोकने के लिए राज्‍यों के प्रमुख सचिवों को भी तत्‍काल कदम उठाने की आवश्‍यकता है. नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) वीके पॉल ने कहा कि महामारी की स्थिति में लगातार सुधार हो रहा है, लेकिन उन्होंने जोर दिया कि लोगों को कोविड-19 उपयुक्त व्यवहार का पालन जारी रखना चाहिए और भीड़ तथा पार्टियों से बचना चाहिए. उन्होंने कहा कि टीकाकरण की संख्या बढ़ानी होगी.[/ans]

    [q]क्‍या दूसरे देशों में भी फैला है कोरोना का वैरिएंट?[/q]
    [ans]कोरोना वायरस का ‘डेल्टा प्लस’ वैरिएंट भारत के अलावा, अमेरिका, ब्रिटेन, पुर्तगाल, स्विट्जरलैंड, जापान, पोलैंड, नेपाल, चीन और रूस में मिला है. वहीं ‘डेल्टा’ वैरिएंट भारत सहित दुनियाभर के 80 देशों में पाया गया है और यह एक चिंताजनक स्वरूप है।[/ans]

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.