Home /News /nation /

कोरोना वायरस : देश में मामलों के दोगुना होने की दर 9.1 दिन और रिकवरी रेट 20 फीसदी से ज्‍यादा

कोरोना वायरस : देश में मामलों के दोगुना होने की दर 9.1 दिन और रिकवरी रेट 20 फीसदी से ज्‍यादा

कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) से मृत्यु दर 3.1 प्रतिशत है जबकि (संक्रमित) मरीज के संक्रमण मुक्त होने की दर 20 प्रतिशत से अधिक है, जो कि ज्यादातर देशों की तुलना में बेहतर है.

कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) से मृत्यु दर 3.1 प्रतिशत है जबकि (संक्रमित) मरीज के संक्रमण मुक्त होने की दर 20 प्रतिशत से अधिक है, जो कि ज्यादातर देशों की तुलना में बेहतर है.

कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) से मृत्यु दर 3.1 प्रतिशत है जबकि (संक्रमित) मरीज के संक्रमण मुक्त होने की दर 20 प्रतिशत से अधिक है, जो कि ज्यादातर देशों की तुलना में बेहतर है.

    नई दिल्ली. सरकार ने शनिवार को कहा कि देश में कोविड-19 (COVId-19) मामलों के दोगुना होने की औसत दर फिलहाल 9.1 दिन है. वहीं शुक्रवार सुबह आठ बजे से शनिवार सुबह आठ बजे तक, देश में नए मामलों की वृद्धि दर छह प्रतिशत दर्ज की गई है. जो देश के 100 मामलों का आंकड़ा पार करने के बाद से प्रतिदिन के आधार पर सबसे कम वृद्धि दर है.

    देश में कोरोना वायरस संक्रमण से मृत्‍यु दर 3.1 प्रतिशत
    कोविड-19 पर उच्चाधिकार प्राप्त मंत्रिसमूह (जीओएम) की 13वीं बैठक केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन की अध्यक्षता में शनिवार को हुई. स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने कहा कि जीओएम को इस बात से अवगत कराया गया कि अभी (कोरोना वायरस संक्रमण से) मृत्यु दर 3.1 प्रतिशत है जबकि (संक्रमित) मरीज के संक्रमण मुक्त होने की दर 20 प्रतिशत से अधिक है, जो कि ज्यादातर देशों की तुलना में बेहतर है और इसे देश में लॉकडाउन और निषिद्ध क्षेत्र घोषित करने की रणनीति के सकारात्मक प्रभाव के तौर पर देखा जा सकता है

    कोरोना से उबरने की दर 20.66 प्रतिशत
    मंत्रालय ने कहा, 'देश में (संक्रमण के) मामलों के दोगुना होने की औसत दर अभी 9.1 दिन है.' मंत्रालय ने कहा कि मंत्री समूह को यह भी जानकारी दी गई कि अभी तक 5,062 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं और उनके इस रोग से उबरने की दर 20.66 प्रतिशत है.

    कोरोना से अब तक 779 लोगों की मौत
    मंत्रालय के मुताबिक कोविड-19 से मरने वाले लोगों की संख्या बढ़ कर 779 हो गई है जबकि संक्रमण के मामले बढ़ कर शनिवार को 24942 हो गए. मंत्री समूह ने जांच की रणनीति और देश भर में जांच किट की उपलब्धता की स्थिति के अलावा हॉटस्पाट (अत्यधिक संक्रमण वाले क्षेत्र) आदि संबद्ध विषयों की भी समीक्षा की.

    मंत्री समूह को देश में अभी कोविड-19 की जांच के लिए काम कर रहे सरकारी और निजी प्रयोगशालाओं की संख्या की भी जानकारी दी गई. साथ ही, यह भी बताया गया कि प्रतिदिन कितनी संख्या में जांच हो रही हैं. देश में कोविड-19 महामारी की मौजूदा स्थिति के साथ-साथ रोग पर प्रतिक्रिया एवं प्रबंधन की विस्तृत प्रस्तुति की मंत्रियों के लिए व्यवस्था की गई.

    मंत्रालय ने कहा कि जीओएम ने कोविड-19 पर अब तक केंद्र और विभिन्न राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों द्वारा अब तक उठाये गए कदमों पर विस्तृत चर्चा भी की. मंत्री समूह ने कई उच्चाधिकार प्राप्त समितियों को सौंपे गये विभिन्न कार्यों पर भी चर्चा की. उसे बताया गया कि करीब 92,000 गैर सरकारी संगठन, स्वयं सहायता समूह और सामाजिक संस्थाएं देश भर में प्रवासी कामगारों को भोजन मुहैया कर रही हैं.

    ये भी पढ़ें:-

    कोरोना लॉकडाउन के बीच लोगों को फ्री में ऑटो से मंजिल तक पहुंचा रही यह ड्राइवर

    संसद का कंट्रोल रूम ऐसे खत्म करेगा केंद्र सरकार और राज्यों के बीच की दूरी

    Tags: Coronavirus, Coronavirus Epidemic, Coronavirus in India, Government, Lockdown

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर