AIIMS में आज से शुरू हुआ कोरोना वैक्सीन का ह्यूमन ट्रायल, 30 साल का है पहला वालंटियर

AIIMS में आज से शुरू हुआ कोरोना वैक्सीन का ह्यूमन ट्रायल, 30 साल का है पहला वालंटियर
कोविड-19 टीके का मनुष्य पर परीक्षण का पहला चरण: एम्स में व्यक्ति को दी गयी पहली खुराक

Covid-19 vaccine Trial Begins at AIIMS: भारत के पहले स्वदेश निर्मित टीके 'कोवेक्सिन' के मनुष्य पर क्लीनिकल ट्रायल (Clinical Trial) का पहला चरण आज एम्स (AIIMS) में शुरू हो गया. लगभग 30 साल की उम्र के एक व्यक्ति को पहला इंजेक्शन लगाया गया. एम्स में परीक्षण के लिए पिछले शनिवार से 3,500 से अधिक लोग अपना पंजीकरण करा चुके हैं जिनमें से कम से कम 22 की स्क्रीनिंग चल रही है.

  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus) की रोकथाम के लिए भारत के पहले स्वदेश निर्मित टीके 'कोवेक्सिन' के मनुष्य पर क्लीनिकल ट्रायल (Clinical Trial) का पहला चरण शुक्रवार को यहां एम्स (AIIMS) में शुरू हो गया. लगभग 30 साल की उम्र के एक व्यक्ति को इसका पहला इंजेक्शन लगाया गया. एम्स में परीक्षण के लिए पिछले शनिवार से 3,500 से अधिक लोग अपना पंजीकरण करा चुके हैं जिनमें से कम से कम 22 की स्क्रीनिंग चल रही है. यह जानकारी एम्स में सामुदायिक चिकित्सा केंद्र के प्रोफेसर और मुख्य अध्ययनकर्ता डॉ. संजय राय ने दी.

डॉ. राय ने बताया, 'दिल्ली निवासी पहले व्यक्ति की दो दिन पहले जांच की गयी थी और उसके सभी स्वास्थ्य मानदंड सामान्य रेंज में पाये गये. उसे कोई अन्य बीमारी भी नहीं है. इंजेक्शन से 0.5 मिलीलीटर की पहली डोज उसे दोपहर 1.30 बजे के आसपास दी गयी. अभी तक कोई दुष्प्रभाव नहीं दिखाई दिया है. वह दो घंटे तक देखरेख में है और अगले सात दिन उस पर निगरानी रखी जाएगी.' क्लीनिकल परीक्षण में शामिल कुछ और प्रतिभागियों की स्क्रीनिंग रिपोर्ट आने के बाद शनिवार को उन्हें टीका लगाया जाएगा. भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) ने 'कोवेक्सिन' के पहले और दूसरे चरण के क्लीनिकल ट्रायल के लिए एम्स समेत 12 संस्थानों को चुना है.

ये भी पढ़ें:- कोरोना वायरस प्रोटीन का नया प्रारूप तैयार, जल्दी वैक्सीन बनाने में मिल सकती है



पहले चरण में 375 लोगों पर परीक्षण होगा और इनमें से अधिकतम 100 एम्स से होंगे.  डॉ. राय के अनुसार दूसरे चरण में सभी 12 संस्थानों से मिलाकर कुल करीब 750 लोग शामिल होंगे. पहले चरण में टीके का परीक्षण 18 से 55 साल के ऐसे स्वस्थ लोगों पर किया जाएगा जिन्हें अन्य कोई बीमारी नहीं है. एम्स के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया के अनुसार दूसरे चरण में 12 से 65 साल की उम्र के 750 लोगों पर यह परीक्षण किया जाएगा.

देश में कोरोना के एक दिन में लगभग 50 हजार केस
भारत में कोविड-19 के एक दिन में रिकॉर्ड 49,310 मामले सामने आने के साथ ही संक्रमण के कुल मामले शुक्रवार को बढ़कर 12,87,945 पर पहुंच गए जबकि 8,17,208 लोग इस बीमारी से उबर चुके हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सुबह आठ बजे तक जारी आंकड़ों के अनुसार 24 घंटे में इस महामारी से 740 और लोगों की मौत से मृतकों की संख्या बढ़कर 30,601 हो गई है. देश में अब भी 4,40,135 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हैं.

अभी तक 63.45 प्रतिशत लोग स्वस्थ हो चुके हैं. संक्रमण के कुल मामलों में विदेशी नागरिक भी शामिल हैं. बीते 24 घंटों में जिन 740 मरीजों की मौत हुई है उनमें से 298 की महाराष्ट्र, 97 की कर्नाटक, 88 की तमिलनाडु, 61 की आंध्र प्रदेश, 34 की पश्चिम बंगाल, 28 की गुजरात, 26-26 की उत्तर प्रदेश और दिल्ली, 11 की राजस्थान, 10 की मध्य प्रदेश और नौ-नौ मरीजों की मौत जम्मू-कश्मीर और तेलंगाना में हुई. पंजाब में आठ लोगों की मौत हुई जबकि असम, ओडिशा और हरियाणा में छह-छह, केरल में पांच, उत्तराखंड, झारखंड और पुडुचेरी में तीन-तीन जबकि छत्तीसगढ़, त्रिपुरा और गोवा में एक-एक शख्स की जान गई. आईसीएमआर के अनुसार 23 जुलाई तक कुल 1,54,28,170 नमूनों की जांच की गई जिनमें से 3,52,801 नमूनों की जांच गुरुवार को की गई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading