Home /News /nation /

दोनों कोरोना टीके लगवा चुके विदेशी यात्रियों को आज से भारत में नहीं होना पड़ेगा क्वारंटीन, जानें नई गाइडलाइन

दोनों कोरोना टीके लगवा चुके विदेशी यात्रियों को आज से भारत में नहीं होना पड़ेगा क्वारंटीन, जानें नई गाइडलाइन

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि दुनिया भर में कोरोना संक्रमण कम हो रहा है, हालांकि कोरोना के नए वैरिएंट को लेकर सतर्क रहने की आवश्यकता है. फाइल फोटो

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि दुनिया भर में कोरोना संक्रमण कम हो रहा है, हालांकि कोरोना के नए वैरिएंट को लेकर सतर्क रहने की आवश्यकता है. फाइल फोटो

Health Ministry Guidelines for International Travellers: अगर पूर्ण टीकाकरण नहीं हुआ है या टीका नहीं लगवाया है तो यात्रियों को भारत पहुंचने के बाद अपना सैंपल देना होगा, इसके बाद ही उन्हें एयरपोर्ट छोड़ने की अनुमति होगी. साथ ही सात दिनों तक होम क्वारंटीन में रहना होगा.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) द्वारा मान्यता प्राप्त कोरोना वैक्सीन से पूर्ण टीकाकरण (Coronavirus Vaccination) करवाने वाले अंतरराष्ट्रीय पर्यटकों को सोमवार से भारत आने पर होम क्वारंटीन में रहने और जांच कराने की आवश्यकता नहीं होगी. साथ ही उन्हें एयरपोर्ट से भी तुरंत नहीं निकलने दिया जा सकता है. बता दें कि केंद्र सरकार ने बुधवार को इस बारे में संशोधित गाइडलाइन जारी की थी.

    हालांकि अंतरराष्ट्रीय यात्रियों को अपना कोविड-19 आरटी-पीसीआर (RT-PCR) रिपोर्ट प्रस्तुत करना होगा. स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) ने अपने बयान में कहा कि दुनिया भर में कोरोना संक्रमण (Coronavirus) कम हो रहा है, हालांकि कोरोना के नए वैरिएंट को लेकर सतर्क रहने की आवश्यकता है, क्योंकि ये वायरस लगातार अपना स्वरूप बदल सकता है. पढ़िए लेटेस्ट गाइडलाइंस –

    अगर पूर्ण टीकाकरण नहीं हुआ है या टीका नहीं लगवाया है तो यात्रियों को भारत पहुंचने के बाद अपना सैंपल देना होगा, इसके बाद ही उन्हें एयरपोर्ट छोड़ने की अनुमति होगी. साथ ही सात दिनों तक होम क्वारंटीन में रहना होगा. भारत आने के 8 दिन बाद दोबारा से जांच होगी और अगर उन्हें निगेटिव पाया जाता है, तो अगले सात दिनों तक उन्हें अपने स्वास्थ्य पर स्वयं निगरानी रखनी होगी.
    नई गाइंडलाइंस का पालन अंतराष्ट्रीय यात्रियों के साथ एयरलाइंस और यात्रा से जुड़े एंट्री प्वाइंट (एयरपोर्ट, बंदरगाह और सीमाई इलाके) पर यात्रियों की रिस्क प्रोफाइलिंग के लिए किया जाएगा.
    नई गाइडलाइंस अगले आदेश तक प्रभावी होंगी. हालांकि समय पर समय पर संक्रमण के खतरे को देखते हुए स्वास्थ्य मंत्रालय में संशोधन करता रहेगा.
    गाइडलाइन के मुताबिक सभी यात्रियों को यात्रा से पहले अपना घोषणा पत्र ऑनलाइन एयर सुविधा पोर्टल पर जमा करना होगा. साथ ही निगेटिव आरटी-पीसीआर रिपोर्ट भी जमा करनी होगी. आरटी-पीसीआर रिपोर्ट 72 घंटे से ज्यादा पुरानी नहीं होनी चाहिए.
    सभी यात्रियों को अपनी निगेटिव रिपोर्ट से संबंधित एक घोषणा पत्र भी देना होगा, जिसमें रिपोर्ट की वैधता की जिम्मेदारी लेनी होगी. अगर रिपोर्ट में किसी तरह की कमियां सामने आती हैं, तो आपराधिक कार्रवाई के लिए भी जिम्मेदार होंगे.
    केंद्र सरकार के मुताबिक जिन देशों में संक्रमण का खतरा कम है, वहां के यात्रियों को एयरपोर्ट छोड़ने की अनुमति होगी. हालांकि भारत आने के बाद उन्हें अपने स्वास्थ्य पर 14 दिनों तक खुद निगरानी रखनी होगी. ये नियम सभी यात्रियों पर लागू होता है, साथ ही उन पर भी जिन्होंने WHO से मंजूरी प्राप्त वैक्सीन से टीकाकरण करवाया है.
    अगर कोई यात्री होम क्वारंटीन में है या खुद अपने स्वास्थ्य की निगरानी कर रहा है और उसमें संक्रमण के लक्षण दिखाई देते हैं, या दोबारा कोविड की जांच में पॉजिटिव पाया जाता है, तो उन्हें तुरंत खुद को सेल्फ आइसोलेट करना होगा और नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में इसकी जानकारी देनी होगी. इसके अलावा नेशनल हेल्पलाइन नंबर 1075 पर भी कॉल किया जा सकता है.

    Tags: Coronavirus, Health ministry, Home Quarantine, International Travellers, RT-PCR Report, WHO, आरटी-पीसीआर रिपोर्ट, कोरोना वायरस, विश्व स्वास्थ्य संगठन, होम क्वारंटीन

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर