COVID-19: कोरोना वायरस से उबरने के बाद अपने स्वास्थ्य को कैसे बेहतर करें

यहां हमें यह भी समझना चाहिए कि महामारी से लड़ने के लिए आपको विज्ञान आधारित दृष्टिकोण और तार्किक व्यवहार की जरुरत होती है.

यहां हमें यह भी समझना चाहिए कि महामारी से लड़ने के लिए आपको विज्ञान आधारित दृष्टिकोण और तार्किक व्यवहार की जरुरत होती है.

Coronavirus Pandemic: कोरोना संक्रमण का मनोवैज्ञानिक असर भी हमारे ऊपर पड़ता है, हालांकि यह तुरंत पड़ने वाले असर से अलग हो सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 29, 2021, 2:33 PM IST
  • Share this:

नई दिल्ली. कोरोना वायरस से संक्रमित होने का अनुभव काफी परेशान करने वाला हो सकता है. इससे बीमारी से गुजरने वाले इंसान में भय और चिंता भी बनी रहती है. यह बीमारी आपके शरीर के साथ-साथ आपकी भावनाओं पर चोट कर सकती है. इतना ही नहीं, कोरोना संक्रमण का मनोवैज्ञानिक असर भी हमारे ऊपर पड़ता है, हालांकि यह तुरंत पड़ने वाले असर से अलग हो सकता है, जैसे:

1. अपने और अपने चाहने वालों के स्वास्थ्य एवं आर्थिक हालात या नौकरी के बारे में चिंता और भय.

2. सामाजिक अलगाव का डर.

3. चिड़चिड़ापन, गुस्सा, भ्रम.
4. निराशा, अकेलापन.

5. चिंता, अवसाद, अनिद्रा, निराशा.



इन परेशानियों से छुटकारा कैसे पाएं?



ये कुछ उपाय हैं, जिनके माध्यम से आप तनाव, भय और चिंता के खिलाफ खुद को मजबूत कर सकते हैं:

1. लगातार समाचार देखने से परहेज करें या फिर समाचार के लिए एक सीमित समय तय कर लें

2. ऑडियो और वीडियो कॉल के जरिए अपने चाहने वालों के साथ संपर्क में रहें

3. अपनी उन आदतों को फिर से शुरू करें, जिन्हें करने में आपको मजा आता है.

4. खुद को पर्याप्त आराम दें.

5. स्वस्थ आहार लेते रहें.

6. अपनी हालात के अनुसार हल्के व्यायाम करें.

7. अपनी बीमारी को छुपाने की कोशिश ना करें.

8. वैज्ञानिक डाटा और नवीनतम आधिकारिक स्वास्थ्य सलाह के आधार पर कोरोना वायरस से होने वाले खतरे के बारे में सटीक बात करें.

9. उनके बारे में सकारात्मक कहानियां साझा करें, जो कि कोरोना वायरस से निजात पा चुके हैं.



स्वस्थ भोजन लेते रहें:

कोरोना से संक्रमित होने के पहले और बाद में अच्छा पोषण बहुत अहम है. कोई भी भोजन और सप्लिमेंट्स कोरोना वायरस के संक्रमण से आपका बचाव नहीं कर सकता, लेकिन शरीर के मजबूत इम्यून सिस्टम के लिए स्वस्थ भोजन लेते रहना बेहद महत्वपूर्ण है. शरीर को सभी जरूरी पोषक तत्व मिलता रहे, इसके लिए अलग-अलग तरह के भोजन, फल और सब्जियां खाते रहें.



शरीर की इम्यूनिटी को बढ़ाने के नुस्खे:

1. आयुर्वेदिक चाय का सेवन करें/तुलसी (Basil), दालचीनी (Cinnamon), काली मिर्च (Black pepper), शुन्थी (Dry Ginger) और मुनक्का (Raisin) से बने काढ़े का सेवन दिन में एक या दो बार करें. अगर जरूरत हो, तो अपने स्वाद के लिए आप इसमें चीनी या फिर नींबू का रस मिला सकते हैं.

2. गोल्डन मिल्क: 150 मिली गर्म दूध में आधा चम्मच हल्दी पाउडर मिलाकर दिन में एक या दो बार सेवन करें.

3. खाना बनाने के दौरान उसमें अदरक और लहसुन को भी शामिल करें.

4. गुनगुने या सामान्य पानी का सेवन करें और शरीर में पानी की कमी ना होने दें.



स्वस्थ रहने के कुछ जरूरी उपाय:

1. कभी भी भोजन करना ना छोड़ें और प्रतिदिन मिलने वाली कैलोरी के लिए अपने भोजन को 5 से 6 छोटे अंतराल में बांटें.

2. अपने आहार में फाइबर को शामिल करने के लिए साबुत अनाज, दालें, गेहूं की दलिया, गेहूं की रोटी और जई आदि का इस्तेमाल करें.

3. फाइबर को शामिल करने के लिए साबूत चने के साथ गेहूं को मिला लें और आटे को छलनी न करें (गेहूं और चना 4:1 के अनुपात में). इसके साथ ही 1: 1 के अनुपात में साबूत चना या दाल के साथ चावल मिलाकर खाएं.

4. प्रतिदिन चार से पांच बार ताजी हरी सब्जियों और फलों का सेवन करें.

5. जैतून (olive)/सफेद सरसों (canola)/चावल के चोकर (rice bran)/सोया/सरसों के तेल का इस्तेमाल करें. कुछ महीनों में तेल बदलते रहें.

6. बादाम, अखरोट और अलसी के बीज (flax seeds) एंटीऑक्सिडेंट के अच्छे स्रोत हैं... इन्हें रोजमर्रा के आहार में शामिल करें.

7. हर रोज दो लीटर पानी पीएं.

8. जरूरत से ज्यादा नमक, संसाधित और संरक्षित खाद्य पदार्थों (processed and preserved foods) का सेवन सीमित करें

9. बाहर खाने से परहेज करें.

10. शराब, धूम्रपान और तंबाकू का सेवन ना करें.


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज