Coronavirus In India: 24 घंटे में मिले 3.48 लाख कोरोना मरीज, एक दिन में सबसे ज्यादा मौतें

देश में थम रही कोरोना की रफ्तार!. (AP Photo/ Dar Yasin)

देश में थम रही कोरोना की रफ्तार!. (AP Photo/ Dar Yasin)

Covid-19 India: देश में कोरोना संक्रमण की रफ्तार थोड़ी कम हुई है. लगातार दूसरे दिन यानी बुधवार को भी संक्रमितों से ज्यादा ठीक होने वालों की संख्या रही. यहां पढ़ें देश के अलग-अलग हिस्सों में लगी पाबंदियों और वहां के कोरोना संक्रमण के मौजूदा हाल से जुड़ी खास रिपोर्ट

  • Share this:

Coronavirus Outbreak In India: देश में कोरोना संक्रमण की रफ्तार थोड़ी कम हुई है. लगातार दूसरे दिन यानी बुधवार को भी संक्रमितों से ज्यादा ठीक होने वालों की संख्या रही. स्वास्थ्य मंत्रालय की ताजा जानकारी के मुताबिक, देश में बीते 24 घंटे में 3 लाख 48 हजार 421 कोरोना पॉजिटिव केस सामने आए. बीते दिन 4205 लोगों की मौत हुई. जो इस दूसरी लहर में अब तक सबसे ज्यादा है. इस दौरान देश में 3 लाख 55 हजार 338 मरीज डिस्चार्ज भी हुए.

स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, देश में अब तक कोरोना से 2 करोड़ 33 लाख 40 हजार 938 लोग संक्रमित हो चुके हैं. अब तक 2 लाख 54 हजार 197 लोगों की इस वायरस से जान जा चुकी है. वहीं, 1 करोड़ 93 लाख 82 हजार 642 लोग रिकवर कर चुके हैं. फिलहाल 37 लाख 4 हजार 99 लोगों का इलाज चल रहा है यानी ये कोरोना के एक्टिव केस हैं. अब तक 17 करोड़ 52 लाख 35 हजार 991 लोगों का वैक्सीनेशन किया जा चुका है.

दूसरी ओर केन्द्र सरकार ने मंगलवार को कहा कि देश में कोविड-19 के नए मामलों और संक्रमण से होने वाली मौतों में कमी आने के शुरुआती रुझान दिखने लगे हैं. सरकार के अनुसार, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, राजस्थान, छत्तीसगढ़, बिहार, गुजरात, मध्य प्रदेश और तेलंगाना उन 18 राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों में शामिल हैं जहां कोविड-19 के रोजाना आ रहे नए मामलों में कमी आ रही है.

covid12may
देखिए किस राज्य में कोरोना के कितने केस और अब तक कितने मरीजों की गई जान.

स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल, पंजाब, असम, ओडिशा, हिमाचल प्रदेश, मेघालय और त्रिपुरा उन 16 राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों में से हैं जहां जहां रोजाना आ रहे कोविड-19 के नए मामलों में वृद्धि हो रही है. पिछले दो सप्ताह से जिन जिलों में नए मामलों में कमी आयी है, उनमें महाराष्ट्र के पुणे, नागपुर, पालघर और नासिक, उत्तर प्रदेश के लखनऊ, वाराणसी और कानपुर नगर, मध्य प्रदेश के भोपाल और ग्वालियर, गुजरात में सूरत, बिहार में पटना, झारखंड में रांची, छत्तीसगढ़ में दुर्ग और राजस्थान में कोटा शामिल हैं.

Youtube Video

वहीं पिछले दो सप्ताह में जिन जिलों में कोविड-19 के नए मामले बढ़े हैं, उनमें कर्नाटक के बेंगलुरु शहर और मैसूरु, तमिलनाडु में चेन्नई, चेंगलापट्टु और तिरुवल्लुर, केरल में एर्नाकुलम और मलप्पुरम, पश्चिम बंगाल में 24 उत्तर परगना और कोलकाता, राजस्थान में जयपुर, उत्तराखंड में देहरादून, आंध्र प्रदेश में पूर्वी गोदावरी और विशाखापत्तनम, महाराष्ट्र में सतारा और ओडिशा में खोरधा शामिल हैं.



देश के कई हिस्सों में लागू हैं सख्त पाबंदियां

वहीं कोविड-19 के बढ़ते प्रकोप को रोकने के लिए दिल्ली और उत्तर प्रदेश में रविवार को क्रमश: लॉकडाउन और कोरोना कर्फ्यू की मियाद 17 मई तक बढ़ा दी गई. साथ ही देश के बड़े हिस्से में सख्त पाबंदियां लागू है. तमिलनाडु, राजस्थान और पुडुचेरी में सोमवार से दो हफ्ते का लॉकडाउन शुरू होगा जबकि कर्नाटक में लॉकडाउन जैसी पाबंदी 24 मई तक प्रभावी रहेगी. केरल में भी शनिवार से नौ दिनों के लिए पूर्ण लॉकडाउन लगाया गया है.

पूर्वोत्तर में मिजोरम सरकार ने सोमवार से सात दिनों के लिए पूर्ण लॉकडाउन लागू किया है जबकि सिक्किम में लॉकडाउन जैसी पबांदी 16 मई तक प्रभावी रहेगी. लॉकडाउन बढ़ाने की घोषणा करते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हालांकि पिछले कुछ दिनों में कोविड-19 के मामलों और संक्रमण की दर में कमी आई है, लेकिन महामारी की मौजूदा लहर में किसी भी प्रकार की ढिलाई अब तक हासिल की गई कामयाबी को खत्म कर देगी. इस दौरान मेट्रो ट्रेन सेवाएं निलंबित रहेंगी एवं सार्वजनिक स्थानों पर विवाह समारोहों के आयोजन पर रोक रहेगी.

कोविड-19 की वजह से राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में लागू पाबंदी इस प्रकार है:-


दिल्ली : राष्ट्रीय राजधानी में 19 अप्रैल से लॉकडाउन है और अब इसे 17 मई तक के लिए बढ़ा दिया गया है.

उत्तर प्रदेश : कोरोना कर्फ्यू की मियाद 17 मई तक के लिए बढ़ाई गई है.

बिहार : चार मई से 15 मई तक के लिए लॉकडाउन लागू किया.

ओडिशा : पांच मई से 19 मई तक के लिए 14 दिनों का लॉकडाउन लगाया गया.

राजस्थान : राज्य सरकार ने 10 से 24 मई तक लॉकडाउन लगाया. हालांकि, संक्रमण रोकने के लिए पिछले महीने से ही पाबंदियां लागू हैं.

झारखंड : लॉकडाउन जैसी पाबंदियों को 13 मई तक बढ़ाया. राज्य में सबसे पहले ‘स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह’ के तहत 22 अप्रैल को पांबदियां लागू की गई थी.

छत्तीसगढ़ : सप्ताहांत लॉकडाउन की घोषणा की गई जबकि पहले जिलाधिकारियों को 15 मई तक लॉकडाउन बढ़ाने की अनुमति दी गई थी.

पंजाब : 15 मई तक सप्ताहांत लॉकडाउन और रात्रि कर्फ्यू के अलावा विस्तृत पांबदी लगाई गई है.

हरियाणा : तीन मई को सात दिनों का लॉकडाउन लागू किया गया, इससे पहले नौ जिलों में था सप्ताहांत लॉकडाउन.

चंडीगढ़ : प्रशासन ने सप्ताहांत लॉकडाउन लागू किया है.

मध्यप्रदेश : राज्य में 15 मई तक ‘जनता कर्फ्यू’ लागू है, केवल आवश्यक सेवाओं को ही छूट.

गुजरात : रात आठ बजे से सुबह आठ बजे तक कर्फ्यू लागू और 36 अन्य शहरों में 12 मई तक दिन में भी पाबंदी लागू.

महाराष्ट्र : पांच अप्रैल से ही लॉकडाउन जैसे पाबंदी लागू है, इसके साथ ही लोगों की आवाजाही पर पाबंदी और निषेधाज्ञा भी लागू. इन पाबंदियों को बढ़ाकर 15 मई तक किया गया. लातूर, सोलापुर जिले में स्थानीय लॉकडाउन लागू. अमरावती, अकोला और यवतमाल में सख्त पाबंदी.

पश्चिम बंगाल : पिछले हफ्ते से ही सख्त पाबंदी लागू, सभी तरह के समागम पर रोक.

असम : रात्रि कर्फ्यू अब रात आठ बजे बजाय शाम छह बजे से लागू, बुधवार से सार्वजनिक स्थलों पर लोगों के जाने पर रहेगी रोक. रात्रि कर्फ्यू 27 अप्रैल से सात मई तक था.

नगालैंड : 30 अप्रैल से 14 मई तक सख्त नियमों के साथ आंशिक लॉकडाउन.

मिजोरम : सरकार ने 10 मई तड़के चार बजे से 17 मई तड़के चार बजे तक पूर्ण लॉकडाउन लगाया.

अरुणाचल प्रदेश : शनिवार से शाम साढ़े छह बजे से सोमवार सुबह पांच बजे तक रात्रि कर्फ्यू लागू रहेगा.

मणिपुर : सात जिलों में आठ मई से 17 मई के बीच रात्रि कर्फ्यू.

सिक्किम : 16 मई तक लॉकडाउन जैसी पाबंदी रहेगी.

जम्मू-कश्मीर : 10 मई तक लॉकडाउन जैसी पाबंदी रहेगी.

उत्तराखंड : रात्रि कर्फ्यू सहित कई पाबंदियों को दोबारा लागू किया गया.

हिमाचल प्रदेश : सात मई से 16 मई तक कोरोना कर्फ्यू लागू.

केरल : आठ मई से 16 मई तक लॉकडाउन लागू.

तमिलनाडु : 10 मई से 24 मई तक लॉकडाउन में रहेंगे लोग.

पुडुचेरी : 10 मई से 24 मई तक लॉकडाउन रखने का फैसला.

भारत में अब तक कोविड-19 के 17.51 करोड़ टीके लगाए गए

देश में अब तक दी गई कोविड-19 टीके की कुल खुराकों की संख्या 17.51 ​​करोड़ हो गई है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार को कहा कि 18-44 वर्ष के आयुवर्ग के 4,74,629 लाभार्थियों ने मंगलवार को कोविड टीके की अपनी पहली खुराक ली और टीकाकरण अभियान का तीसरे चरण शुरू होने के बाद से सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में टीका लेने वाले इस आयुवर्ग के लोगों की कुल संख्या 30,39,287 हो गई है. मंत्रालय ने कहा कि देशभर में दी गई कोविड-19 टीके की कुल खुराकों की संख्या 17,51,71,482 हो गई है.

टीके की खुराक लेने वाले कुल 17,51,71,482 लोगों में से 95,81,872 स्वास्थ्य कर्मी हैं, जिन्होंने पहली खुराक ली है और 65,38,656 स्वास्थ्य कर्मियों ने दूसरी खुराक ली है. इसके अलावा, 45 से 60 वर्ष की आयु के 5,58,70,091 और 78,17,926 लाभार्थियों को क्रमश: पहली और दूसरी खुराक दी गई है, जबकि 60 साल से ऊपर के 5,39,54,858 और 1,62,73,279 लाभार्थियों ने पहली और दूसरी खुराक ली है. टीकाकरण अभियान के 116वें दिन (11 मई) को टीके की कुल 23,85,092 खुराकें दी गईं.

महाराष्ट्र में कोविड-19 के 40,956 नए मामले, 793 मरीजों की मौत

महाराष्ट्र में मंगलवार को कोविड-19 के 40,956 नए मामले आने से कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 51,79,929 हो गयी. स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि इस दौरान संक्रमण से 793 मरीजों की मौत हो गयी. राज्य में अब तक 77,191 लोगों की इस महामारी से मौत हो चुकी है. राज्य में एक दिन पहले संक्रमण के 37,236 नए मामले आए थे. इस दौरान विभिन्न अस्पतालों से 71,966 और मरीजों को छुट्टी मिलने के साथ अब तक 45,41,391 लोग संक्रमण से उबर चुके हैं. राज्य में उपचाराधीन मरीजों की संख्या 5,58,996 है. सोमवार को 31 मार्च के बाद पहली बार कोरोना संक्रमण के नए मामलों की संख्या 40 हजार से कम रही थी. महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण से ठीक होने की दर बढ़कर 87.67 प्रतिशत हो गयी है जबकि मृत्यु दर 1.49 बनी हुई है.

मुंबई में आज कोरोना संक्रमण के 1,717 नए मामले सामने आए जबकि 51 मरीजों की मौत हो गयी. इस दौरान नासिक में कोविड-19 के 6,482 नए मामले सामने आए जबकि 141 मरीजों की मौत हो गयी. पुणे में 3,643 नए मामले सामने आए . कोल्हापुर में कोरोना के 3,643 नए मामले सामने आए और 63 मरीजों की मौत हो गयी. अकोला में 4,376, लातूर में 2872, बुल्धाना में 1332 जबकि नागपुर में 5438 नए मामले सामने आए.

उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस के 20,463 नये मामले मिले, 306 और मरीजों की मौत

उत्तर प्रदेश में मंगलवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 20,463 नये मामले आये और 306 मरीजों की मौत हो गई. उत्तर प्रदेश में पिछले 24 घंटे में 20,463 नये मरीज आने के बाद कुल मामले 15,45,212 पहुंच गए हैं जबकि राज्य में 306 और मौतें होने से कोरोना संक्रमण से मरने वालों की संख्या 16,043 हो गई है. अपर मुख्‍य सचिव (स्‍वास्‍थ्‍य) अमित मोहन प्रसाद ने मंगलवार को पत्रकारों से कहा कि राज्य में पिछले दस दिनों में कोरोना संक्रमितों की संख्या में 94 हजार से अधिक की कमी आई है.

यहां जारी स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार, राज्य में पिछले 24 घंटे में लखनऊ में अधिकतम 23 मौतें हुई हैं जिसके बाद कानपुर में 16, मेरठ में 15, झांसी और गौतमबुद्ध नगर में 12- 12, आगरा और आजमगढ़ में 11-11, बस्ती में 10 तथा वाराणसी में आठ मुत्यु हुई हैं. वहीं मेरठ में सबसे ज्यादा 1,368 नये मामले आए हैं. इसके बाद गौतमबुद्ध नगर में 1,229 और लखनऊ में 1,154 मरीजों की पुष्टि हुई है. प्रसाद ने कहा कि पिछले 24 घंटों में बीमारी से 29,358 मरीज स्वस्थ होकर घर गए हैं और इसके साथ ही, राज्य में कुल 13,13,112 कोरोना मरीज संक्रमण मुक्‍त हुए हैं.

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में इस समय कोरोना के कुल 2,16,057 मरीज इलाज करा रहे हैं. प्रसाद ने दावा किया कि अब तक राज्य में 4.34 करोड़ से अधिक नमूनों का परीक्षण किया जा चुका है जिनमें से सोमवार को 2.33 लाख से अधिक नमूनों की जांच की गई है.

छत्तीसगढ़ में 9717 और लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि

छत्तीसगढ़ में पिछले 24 घंटों के दौरान 9717 और लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई है. राज्य में इस वायरस से संक्रमित हुए लोगों की संख्या अब बढ़कर 8,73,060 हो गई है. राज्य में मंगलवार को 459 लोगों को संक्रमण मुक्त होने के बाद अस्पतालों से छुट्टी दी गई है, जबकि 11,981 लोगों ने गृह पृथक वास पूर्ण किया है. राज्य में 199 मरीजों की मौत हुई है.

राज्य के स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने मंगलवार को बताया कि आज रायपुर जिले से 509, दुर्ग से 229, राजनांदगांव से 277, बालोद से 225, बेमेतरा से 88, कबीरधाम से 324, धमतरी से 252, बलौदाबाजार से 410, महासमुंद से 270, गरियाबंद से 121, बिलासपुर से 566, रायगढ़ से 847, कोरबा से 507, जांजगीर चांपा से 534, मुंगेली से 563, गौरेला पेंड्रा मरवाही से 284, सरगुजा से 406, कोरिया से 743, सूरजपुर से 677, बलरामपुर से 511, जशपुर से 462, बस्तर से 228, कोंडागांव से 200, दंतेवाड़ा से 85, सुकमा से 50, कांकेर से 257, नारायणपुर से 41 एवं बीजापुर से 49 सामने आये और अन्य राज्य के भी दो नये मरीज हैं.

उन्होंने बताया कि छत्तीसगढ़ में अब तक 8,73,060 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है. उनमें 7,40,283 मरीज संक्रमण मुक्त हुए हैं. राज्य में 1,21,836 मरीज उपचाराधीन हैं. राज्य में 10,941 मरीजों की मौत हुई है. राज्य के रायपुर जिले में सबसे अधिक 1,50,606 लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि की गई है. जिले में कोरोना वायरस संक्रमित 2869 लोगों की मौत हुई है.

दिल्ली में कोविड-19 के 12,481 नए मामले, 347 और लोगों की मौत

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में मंगलवार को एक दिन में कोविड-19 के 12,481 नए मामले सामने आये जबकि महामारी के कारण 347 और लोगों की मौत हो गयी . राजधानी में संक्रमण दर 17.76 फीसदी है जो एक महीने में सबसे कम है. स्वास्थ्य विभाग ने इसकी जानकारी दी . विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार मंगलवार को संक्रमण के जो नये मामले आये हैं वह 12 अप्रैल के बाद सबसे कम हैं जबकि संक्रमण दर 14 अप्रैल से सबसे कम हैं. इसमें कहा गया है कि संक्रमण दर 17 अप्रैल से लगातार 19 प्रतिशत से अधिक बनी हुयी है . आंकड़ों के अनुसार दिल्ली में शनिवार, रविवार एवं सोमवार को संक्रमण दर क्रमश: 23.34 फीसदी, 21.67 फीसदी तथा 19.10 फीसदी था . इसमें कहा गया है कि 22 अप्रैल को यह आंकड़ा 36.2 फीसदी था .

राजधानी में सोमवार को 12,651 मामले, रविवार को 13,336 मामले, शनिवार को 17,364 मामले, शुक्रवार को19,832 मामले, बृहस्पतिवार को 19,133 मामले, बुधवार को 20,960 मामले और पिछले मंगलवार को 9,953 नये मामले सामने आये थे . विभाग के आंकड़ों के अनुसार राजधानी में सोमवार को 319 लोगों की, रविवार को 273 और शनिवार को 332 लोगों की मौत हो गयी थी . दिल्ली महामारी के कारण सर्वाधिक 448 मौत तीन मई को हुयी थी. स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी बुलेटिन में कहा गया है कि राजधानी में 13, 583 लोग संक्रमण मुक्त हुये हैं .

बुलेटिन के अनुसार दिल्ली में अभी 83809 मामले उपचाराधीन हैं जो कल के 85,258 से कम है. इसमें कहा गया है कि प्रदेश में संक्रमितों की कुल संख्या 13,48,699 है जिनमें से 20,010 लोगों की मौत हो चुकी है. बुलेटिन में कहा गया है कि प्रदेश में 12.44 लाख से अधिक लोग या तो ठीक हो चुके हैं अथवा दिल्ली से बाहर जा चुके हैं . इसमें कहा गया है कि अस्पतालों में कोरोना वायरस संक्रमितों के लिये 22,953 बिस्तरों में से 3,890 बिस्तर रिक्त हैं .

गुजरात में कोरोना संक्रमण के 10,990 मामले सामने आए, 118 संक्रमितों की मौत

गुजरात में मंगलवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 10,990 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की कुल संख्या 7,03,594 हो गई जबकि 118 रोगियों की मौत के साथ ही मृतकों की तादाद 8,629 हो गई है. स्वास्थ्य विभाग ने यह जानकारी दी. राज्य में संक्रमण से उबरने वाले लोगों की संख्या नए संक्रमितों की तुलना में अधिक रही.

विभाग ने कहा कि एक दिन में सबसे अधिक 15,198 लोगों के छुट्टी दिये जाने के बाद ठीक हो चुके लोगों की कुल संख्या 5,63,133 हो गई. इसके साथ ही राज्य में संक्रमण से उबरने की दर 80.04 प्रतिशत हो गई है.

विभाग ने कहा कि उपचाराधीन रोगियों की संख्या 1,31,832 रह गई है. पांच मई के बाद से उपचाराधीन रोगियों की संख्या में अच्छी खासी गिरावट देखी गई है. उस दिन उपचाराधीन रोगियों की संख्या 1,48,124 थी. गुजरात में मंगलवार को कुल 2,18,513 लोगों को टीकों की खुराकें दी गईं. राज्य में अब तक 1,43,79,365 लोगों को टीका लगाया जा चुका है.

राजस्थान में सामने आये कोरोना वायरस के 16,080 नये मामले, 169 और मौत

राजस्थान में मंगलवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 16,080 नये मामले सामने आये जबकि 169 और मरीजों की मौत हो गई. राज्य में अभी 2,05,730 कोरोना संक्रमित मरीज उपचाराधीन है. इस घातक वायरस से अब तक कुल 5,994 लोगों की जान जा चुकी है.

चिकित्सा विभाग के आंकड़ों के अनुसार बीते 24 घंटे में राजधानी जयपुर में कोविड-19 के 3613, उदयपुर में 1506, जोधपुर में 1303, जैसलमेर में 860, कोटा में 740, अलवर में 705, भरतपुर में 688,गंगानगर में 508, अजमेर में 505 नये रोगियों का पता चला. इसके अनुसार बीते चौबीस घंटे में राज्य में इस दौरान 13,198 मरीज ठीक हुए.

कोविड की दूसरी लहर में युवा थोड़ा ज्यादा प्रभावित हो रहे हैं : आईसीएमआर

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के प्रमुख ने मंगलवार को कहा कि कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर में युवा थोड़ा ज्यादा प्रभावित हो रहे हैं क्योंकि वे शायद बाहर जाने लगे हैं और देश में मौजूद सार्स-सीओवी-2 के कुछ स्वरूपों के वजह से भी ऐसा है. यह पूछे जाने पर कि क्या युवा आवादी ज्यादा प्रभावित हो रही है, आईसीएमआर के महानिदेशक डॉ. बलराम भार्गव ने कहा कि कोविड-19 की पहली और दूसरी लहर के आंकड़ों की तुलना यह दिखाती है कि उम्र का ज्यादा अंतर नहीं है. उन्होंने कहा कि 40 साल से ज्यादा उम्र के लोग प्रतिकूल प्रभावों के लिहाज से ज्यादा संवेदनशील हैं.


उन्होंने कहा, “हमने पाया है कि युवा लोग थोड़े ज्यादा संक्रमित हो रहे हैं क्योंकि वे बाहर गए और देश में कोरोना वायरस के कुछ पहले से मौजूद स्वरूप भी हैं, जो उन्हें प्रभावित कर रहे हैं.” भारत कोरोना वायरस संक्रमण की विकराल दूसरी लहर का सामना कर रहा है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज