हर्षवर्धन बोले- कोरोना योद्धा की तरह कर रहे काम पीएम, 12.71 करोड़ लोगों को टीका

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि पीएम मोदी कोरोना योद्धा की तरह काम कर रहे हैं. फाइल फोटो

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि पीएम मोदी कोरोना योद्धा की तरह काम कर रहे हैं. फाइल फोटो

Coronavirus Vaccination: उन्होंने कहा कि देश में 12 हजार से ज्यादा क्वारंटीन सेंटर काम कर रहे हैं. अस्थायी अस्पताल बनाए जा रहे हैं और इन सब पर प्रधानमंत्री खुद निगाह रखे हुए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 20, 2021, 5:02 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन (Harsh Vardhan) ने मंगलवार की शाम को प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) कोरोना योद्धा की तरह काम कर रहे हैं और कोरोना संक्रमण (Coronavirus) से निपटने के लिए लगातार हालात पर नजर बनाए रखे हुए हैं. कोरोना से मृत्यु दर में कमी है. उन्होंने कहा कि देश में 12 हजार से ज्यादा क्वारंटीन सेंटर काम कर रहे हैं. अस्थायी अस्पताल बनाए जा रहे हैं और इन सब पर प्रधानमंत्री खुद निगाह रखे हुए हैं.

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री लगातार बैठकें कर रहे हैं. टीकाकरण कार्यक्रम तेजी से चल रहा है और अभी तक 12.71 करोड़ से ज्यादा लोगों को वैक्सीन का टीका लगाया गया है. उन्होंने कहा कि 2021 में पुराना अनुभव काम आएगा. डॉक्टरों और नर्सों को ट्रेनिंग दी जाएगी. सरकार पूरी तरह सजग है.

इससे पहले स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री हर्षवर्धन ने मंगलवार को कहा कि वैश्विक महामारी कोविड-19 ने विश्वभर में लाखों लोगों तक पोषण पहुंचाने की व्यवस्था और खाद्य सुरक्षा को बुरी तरह प्रभावित किया है और 2030 तक भुखमरी खत्म करने की दिशा में अब तक जो प्रगति हासिल हुई थी, उसके भी प्रभावित होने की आशंका है.

उन्होंने कहा, ‘‘वैश्विक महामारी कोविड-19 ने विश्वभर में लाखों लोगों तक पोषण पहुंचाने की व्यवस्था और खाद्य सुरक्षा को बुरी तरह प्रभावित किया है और 2030 तक भुखमरी खत्म करने की दिशा में अब तक जो प्रगति की गई थी, उसके भी प्रभावित होने की आशंका है.’’


हर्षवर्धन ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी को काबू में करने के प्रयासों के बीच भारत ने यह सुनिश्चित करने के लिए ‘‘ठोस कदम’’ उठाए हैं कि खाद्य सुरक्षा एवं पोषण सेवा प्रभावित नहीं हो और ऐसे अभूतपूर्व समय में किसान, दिहाड़ी कामगार, महिलाएं, स्वयं सहायता समूह और गरीब वरिष्ठ नागरिकों तक आवश्यक मदद पहुंचती रहे. उन्होंने भारत द्वारा दिए गए राहत पैकेज और सरकार के अन्य सहायता कार्यक्रमों का जिक्र किया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज