COVID-19 Cases: कोरोना से राहत या हर सोमवार-मंगलवार को रहता है यही हाल? आंकड़ों से जानें हकीकत

 (AP Photo/Rafiq Maqbool)

(AP Photo/Rafiq Maqbool)

Covid-19 India: भारत में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर उस वक्त आई, जब देश में चरणबद्ध तरीके से कोरोना रोधी टीकाकरण शुरू हो गया था. हालांकि सोमवार-मंगलवार के आंकड़ों को देखकर एक ओर जहां उम्मीद की किरण जगती है तो वहीं बुधवार को फिर संक्रमण का ग्राफ चढ़ जाता है.

  • Share this:

नई दिल्ली. भारत में कोरोना संक्रमण (COVI-19 India) की दूसरी लहर के बीच इस हफ्ते थोड़ी राहत की खबर है. मंगलवार को स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, यहां बीते 24 घंटों में 3 लाख 29 हजार 942 नए मामले आए हैं और 3876 लोगों की मौत हुई. वहीं इससे पहले सोमवार को 3 लाख 61 हजार मामले आए थे और 3754 लोगों की मौत हुई थी. इस पहले लगातार पांच दिनों तक कोरोना के नए मामलों की संख्या रोजाना चार लाख से अधिक जबकि मौतों का आंकड़ा प्रतिदिन चार हजार के पार ही रह रहा था.

कोरोना की यह दूसरी लहर उस वक्त आई जब देश में चरणबद्ध तरीके से कोरोना रोधी टीकाकरण (Anti Covid Vaccination) शुरू हो गया था. 16 जनवरी से देश में वैक्सीनेशन की शुरुआत हुई. इस दौरान जनवरी में जहां 4 लाख 79 हजार मामले आए तो वहीं फरवरी में आंकड़ा 3.50 लाख तक सीमित रहा. हालांकि मार्च में आंकड़ा बढ़कर 10 लाख के पार चला गया और अप्रैल में 66 लाख 13 हजार मामले पाए गए. अभी मई में सिर्फ 11 दिन हुए हैं और अब तक 42 लाख 29 हजार 5 सौ 41 और मामले आ चुके हैं. इस समयावधि में कोरोना के मामले बढ़ने के साथ-साथ मौतों की संख्या भी बढ़ी.

मार्च 2021 तक मौतों का आंकड़ा 5,500 के आसपास था . लेकिन अप्रैल में 45,862 और फिर मई में अब तक 41, 662 लोगों की मौत हो चुकी है. उल्लेखनीय है कि 11 मई तक देश में कोरोना संक्रमण के कुल मामले 2 करोड़ 29 लाख 92 हजार 5 सौ 17 हो चुके हैं.

इन सब आंकड़ों के बीच एक और ट्रेंड सामने आया है. वह यह है कि किसी भी हफ्ते के सोमवार-मंगलवार को कोरोना संक्रमण के नए मामलो में काफी कमी पाई जाती है. देश में पहली बार 4 लाख से ज्यादा मामले 8 मई को पाए गए. इसके बाद 10 और 11 मई यानी सोमवार और मंगलवार को चार लाख से कम मामले आए.
किस ओर इशारा करते हैं आंकड़े

बीते चार हफ्तों के सोमवार, मंगलवार और बुधवार के आंकड़ों को ध्यान में रखें तो कम हुई टेस्टिंग के चलते नए मामलों में भी कमी पाई गई. वहीं जब इन चार हफ्तों के बुधवार के आंकड़े देखेंगे तो पाएंगे कि मामले फिर से बढ़ गए. इस संदर्भ में हमने 19, 20, 21 अप्रैल; 26, 27, 29 अप्रैल; 3,4,5 मई और 10-11 मई के आंकड़ों को ध्यान में रखा है.

19 अप्रैल (सोमवार) को देश में 2 लाख 73 हजार 8 सौ 10 नए मामले पाए गए थे. ICMR के अनुसार इससे एक दिन पहले यानी 18 अप्रैल (रविवार) को 13, 56, 133 लोगों के सैंपल्स की टेस्टिंग हुई थी. वहीं अब 20 अप्रैल (मंगलवार) को 2 लाख 59 हजार 1 सौ 70 नए मामले पाए गए. इससे एक दिन पहले यानी 19 अप्रैल को देश में 15 लाख 19 हजार 4 सौ 86 लोगों की जांच हुई थी. वहीं अब अगर बुधवार यानी 21 अप्रैल की बात करें तो उस दिन 2 लाख 95 हजार 041 नए मामले पाए गए थे और उससे एक दिन पहले यानी 20 अप्रैल को 16 लाख  39 हजार, 3 सौ 57 लोगों की जांच हुई थी.



26-27 अप्रैल को घटे मामले, 28 अप्रैल को फिर बढ़ गए

इसी तरह 26 (सोमवार), 27 (मंगलवार) और 28 (बुधवार) अप्रैल की बात करें तो कुछ ऐसा ही ट्रेंड दिखता है. 26 अप्रैल को 3 लाख 52 हजार 9 सौ 91 नए मामले पाए गए. इससे एक दिन पहले 25 अप्रैल (रविवार) को 17 लाख 19 हजार 5 सौ 88 लोगों की जांच हुई. 27 अप्रैल की बात करें तो इस दिन देश में 3 लाख 23 हजार 1 सौ 44 मामले पाए गए. इससे एक दिन 26 अप्रैल को 14, 02, 367 लोगों की जांच हुई थी. अब 28 अप्रैल यानी बुधवार के आंकड़ों पर नजर डालें तो 3 लाख 60 हजार 9 सौ 60 मामले पाए गए. वहीं इससे एक दिन पहले मंगलवार 27 अप्रैल को 16 लाख 58 हजार 700 सैंपल्स की टेस्टिंग हुई थी.

कुछ ऐसा ही हाल 3 (सोमवार), 4 (मंगलवार) और 5 मई (बुधवार) का है. देश में 3 मई को 3 लाख 68 1 सौ 47 मामले दर्ज किया गया. इससे एक दिन पहले 2 मई को देश में 18 लाख 4 हजार 9 सौ 54 लोगों की जांच हुई थी. वहीं मंगलवार यानी 4 मई को देश में 3 लाख 57 हजार 2 सौ 29 मामले पाए गए. इससे एक दिन पहले यानी 3 मई को देश में 15 लाख 4 हजार 6 सौ 98 सैंपल्स की टेस्टिंग हुई. वहीं बुधवार 5 मई को 3 लाख 82 हजार 3 सौ 15 नए मामले पाए गए. इससे एक दिन पहले यानी 4 मई को 16 लाख 63 हजार 7 सौ 42 लोगों की जांच हुई.

10-11 मई को टेस्टिंग में काफी अंतर

सरकारी आंकड़ों के अनुसार सोमवार यानी 10 मई को 3 लाख, 66 हजार, 1 सौ 61 नए केस पाए गए. जबकि मंगलवार यानी 11 मई को 3,29,942 मामले पाए गए. इन आंकड़ों को देखकर कोई भी कहेगा कि देश में संक्रमण की दर कम हो रही है लेकिन असलियत कुछ और ही है. अगर हम इन 10 और 11 मई को हुए टेस्टिंग का आंकड़ा देखें तो तस्वीर थोड़ी साफ हो जाएगी.


9 मई को 14, 74 , 606 सैंपल्स टेस्टेड हुए थे, वहीं 10 मई को 18,50,110 लोगों की टेस्टिंग हुई. मंगलवार को भारत में एक्टिव केस में 30, 016 मामलों की कमी आई. दो महीने में पहली बार एक्टिव मामलों में कमी आई है. वहीं पिछले दो हफ्तों में नए मामले सबसे कम है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज