Coronavirus In India: पांच राज्यों ने बढ़ाई केंद्र सरकार की चिंता, कहा- नहीं की जा सकती है लापरवाही

A health worker takes a nasal swab sample of a girl to test for COVID-19 during a random test for the family members of army personnel at the army base hospital in Gauhati, India, Monday, Oct. 19, 2020. (AP Photo/Anupam Nath)
A health worker takes a nasal swab sample of a girl to test for COVID-19 during a random test for the family members of army personnel at the army base hospital in Gauhati, India, Monday, Oct. 19, 2020. (AP Photo/Anupam Nath)

Coronavirus In India: स्वास्थ्य मंत्रालय (Mohfw) ने कहा कि त्योहारों के मौसम में केरल, पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र, कर्नाटक और दिल्ली में कोविड-19 के मामलों में बढ़ोतरी देखी गयी है. यहां पढ़ें पूरी रिपोर्ट

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 28, 2020, 5:53 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश भर में फैले कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Mohfw) ने मंगलवार को कहा कि दो से तीन राज्यों को छोड़कर देश में कोविड-19 महामारी में गिरावट की प्रवृत्ति देखने को मिल रही है और उत्तरी गोलार्द्ध के कुछ देशों की तुलना में यह बात महत्वपूर्ण है जहां वायरस के प्रकोप में तीव्रता देखी जा रही है. कोविड-19 पर राष्ट्रीय कार्यबल के अध्यक्ष वी के पॉल ने कहा कि दुनिया में महामारी से जुड़े हालात चिंताजनक हैं और देखा गया है कि अधिक आर्थिक क्षमता तथा प्रति व्यक्ति आय वाले एवं अच्छी स्वास्थ्य प्रणाली वाले देशों में दूसरे दौर का प्रकोप फैल सकता है.

स्वास्थ्य के लिए नीति आयोग के सदस्य पॉल ने कहा, 'यह हम सभी के लिए सबक होना चाहिए.' उन्होंने कहा, 'हम बहुत सौभाग्यशाली हैं कि हमारे यहां प्रवृत्ति विपरीत दिशा में है. हम सौभाग्यशाली हैं कि आज हम दो-तीन राज्यों को छोड़कर महामारी के मामलों में गिरावट की प्रवृत्ति देख रहे हैं. यह गिरावट इस लिहाज से खासतौर पर महत्वपूर्ण है कि उत्तरी गोलार्द्ध के अन्य देशों में महामारी का प्रकोप बढ़ रहा है.'

कौन से हैं वो 5 राज्य?
पॉल ने कहा कि उत्तरी गोलार्द्ध के अनेक देशों में महामारी ने दोबारा हमला किया है. अमेरिका में तीसरी बार मामले उच्च स्तर पर पहुंच चुके हैं. उन्होंने कहा कि केरल, पश्चिम बंगाल और दिल्ली में तीसरी बार मामले उच्च स्तर की ओर बढ़ रहे हैं.
पॉल ने कहा कि यह चिंता का विषय है और आने वाले समय में कोविड-19 संबंधी उचित व्यवहार का पालन करने में कोई लापरवाही नहीं की जा सकती क्योंकि अभी और चुनौतियां सामने आएंगी. उन्होंने कहा कि आगे कई त्योहार आ रहे हैं और अगर पिछले कुछ दिन में हम कहीं डगमगाए हैं तो अगले 10 से 12 दिन में यह नजर आएगा.





 नियमों का पालन करना और अधिक महत्वपूर्ण- सरकार
स्वास्थ्य मंत्रालय में सचिव राजेश भूषण ने कहा कि देखा गया है कि केरल, पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र, कर्नाटक और दिल्ली जैसे राज्य तथा केंद्रशासित प्रदेशों में त्योहारों के मौसम में मामलों में बढ़ोतरी हुई है. स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने कहा, 'मास्क पहनना, नियमित हाथ धोना और आपस में दूरी बनाकर रखना महत्वपूर्ण है. हमने पाया है कि त्योहारों के मौसम में केरल, पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र, कर्नाटक और दिल्ली में संक्रमण के मामले बढ़ गये हैं और इसलिए इन नियमों का पालन करना और अधिक महत्वपूर्ण है.'

भूषण ने कहा कि देश में कोरोना वायरस के दैनिक औसत नये मामलों में लगातार गिरावट देखी जा रही है और 23 से 29 सितंबर के बीच जहां संक्रमण के मामलों की संख्या 83,232 थी, वह अब 21-27 अक्टूबर के बीच कम होकर 49,909 रह गयी है.

'आगे की रणनीति तैयार करेंगे'
उन्होंने कहा कि भारत में कोविड-19 से मृत्यु दर में गिरावट आयी है और यह एक सितंबर को 1.77 प्रतिशत थी, जो अब घटकर 1.50 प्रतिशत हो गयी है. उन्होंने कहा कि स्वस्थ होने की दर में वृद्धि हुई है और देश में कोविड-19 से स्वस्थ होने की दर एक सितंबर को 76.94 प्रतिशत थी, जो अब बढ़कर 90.62 प्रतिशत हो गयी है.

भूषण ने कहा कि इस अवधि में आये कोरोना वायरस संक्रमण के नये मामलों में 49.4 प्रतिशत केरल (4,287), पश्चिम बंगाल (4,121), महाराष्ट्र (3,645), कर्नाटक (3,130) और दिल्ली (2,832) से थे. भूषण ने कहा, 'हम इन राज्यों के साथ संपर्क में हैं. हमने इन राज्यों में अपने दलों को भी भेजा है. कुछ दल लौट रहे हैं, वहीं कुछ अन्य अब भी राज्यों में हैं. उनकी रिपोर्ट जमा होने के बाद हम फिर से राज्यों से बात करेंगे और उन्हें बताएंगे कि अगर जरूरी हुए तो कोविड-19 से निपटने की रणनीति में क्या बदलाव लाये जाने चाहिए.'  कहा, 'हमने एक दिन पहले ही केरल, पश्चिम बंगाल और दिल्ली से बात की है तथा इस सप्ताह महाराष्ट्र से बात करेंगे और रणनीति तैयार करेंगे.' (भाषा इनपुट के साथ)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज