अपना शहर चुनें

States

Coronavirus In India: 23 राज्यों में राष्ट्रीय औसत से ज्यादा हुई जांच, दिल्ली नंबर 1

सीएसआईआर के कोरोना जांच के तरीके को मिली मंजूरी (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर-AP)
सीएसआईआर के कोरोना जांच के तरीके को मिली मंजूरी (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर-AP)

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 28, 2020, 10:45 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) के अब तक 93.5 लाख पुष्ट मामले पाए जा चुके हैं. बीते कुछ महीनों के मुकाबले फिलहाल देश में कम मामले आ रहे हैं. इस बीच स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि अब तक देश की 10 फीसदी आबादी का कोरोना टेस्ट हो चुका है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार दिल्ली में प्रति दस लाख जनसंख्या पर सबसे अधिक टेस्टिंग हुई, जबकि नागालैंड में सबसे कम नमूनों का परीक्षण हुआ. अब तक देश में कुल 13,72,20,205 (13.62 करोड़) परीक्षण किए जा चुके हैं. प्रति 10 लाख जनसंख्या पर 1,00,159.7 परीक्षण किए गए.

प्रति दस लाख आबादी पर सैंपलिंग  की संख्या के मामले में दिल्ली देश में पहले स्थान पर है.दिल्ली (3,30,2012) प्रति दस लाख जनसंख्या पर सबसे ज्यादा सैंपलिंग के साथ शीर्ष पांच राज्यों में पहले स्थान पर है. इसका मतलब है ये वो राज्य हैं जहां राष्ट्रीय औसत से अधिक सैंपलिंग की गई. दूसरे स्थान पर लद्दाख (2,41,355), तीसरे स्थान पर गोवा (2,3737,6266), चौथे स्थान पर अंडमान निकोबार (पांचवें स्थान पर 2,02,03 लोग) और पांचवें स्थान (1,77,6277) में आंध्र प्रदेश है.

देश में कुल 23 राज्य या केंद्र शासित प्रदेश हैं जहां प्रति दस लाख जनसंख्या पर सैंपलिंग की संख्या राष्ट्रीय औसत से अधिक है और 13 राज्य या केंद्र शासित प्रदेश हैं जहाँ प्रति दस लाख जनसंख्या पर सैंपलिंग की संख्या राष्ट्रीय औसत से कम है.




87,59,969 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके
देश में एक दिन में कोरोना वायरस के 41,322 नए मामले सामने आने के साथ संक्रमण के मामले 93.51 लाख के पार चले गए. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से शनिवार को सुबह आठ बजे जारी किए गए अद्यतन आंकड़ों के मुताबिक अब तक 87,59,969 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं तथा ठीक होने वाले लोगों की राष्ट्रीय दर बढ़कर 93.68 फीसदी हो गई.

आंकड़ों के मुताबिक संक्रमण के कुल मामले 93,51,109 हैं जबकि 485 और संक्रमितों की मौत होने से मृतक संख्या बढ़कर 1,36,200 हो गई. कोरोना वायरस से संक्रमित 4,54,940 लोगों का इलाज चल रहा है. लगातार 18वें दिन उपचाराधीन मामलों की संख्या पांच लाख से कम बनी हुई है. इलाज करवा रहे मरीजों की संख्या संक्रमण के कुल मामलों का 4.87 फीसदी है.

कोरोना वायरस के कारण मरने वालों की दर 1.46 फीसदी है. भारत में सात अगस्त को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त को 30 लाख और पांच सितम्बर को 40 लाख के पार चली गई थी. वहीं, कुल मामले 16 सितम्बर को 50 लाख, 28 सितम्बर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख और 20 नवम्बर को 90 लाख के पार चले गए थे.

27 नवंबर तक 13.82 करोड़ नमूनों की जांच
भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान संस्थान (आईसीएमआर) के मुताबिक 27 नवंबर तक 13.82 करोड़ नमूनों की जांच की जा चुकी है जिनमें से 11,57,605 नमूनों की जांच शुक्रवार को की गई. पिछले एक दिन में संक्रमण से मौत के 485 नये मामलों में 98 दिल्ली से, 85 महाराष्ट्र से, 46 पश्चिम बंगाल से, 29 हरियाणा से, 27 पंजाब से और उत्तर प्रदेश तथा केरल से 23-23 मामले सामने आए हैं.



देश में अब तक मौत के कुल 1,36,200 मामलों में 46,898 महाराष्ट्र से, 11,738 कर्नाटक से, 11,681 तमिलनाडु से, 8,909 दिल्ली से, 8,270 पश्चिम बंगाल से, 7,697 उत्तर प्रदेश से, 6,976 आंध्र प्रदेश से, 4,737 पंजाब से, 3,938 गुजरात से और 3,224 मध्य प्रदेश से आए हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि जिन लोगों की मौत हुई है, उनमें से 70 प्रतिशत से ज्यादा मामलों में मरीजों को अन्य बीमारियां भी थीं. मंत्रालय ने अपनी वेबसाइट पर बताया कि उसके आंकड़ों का आईसीएमआर के आंकड़ों के साथ मिलान किया जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज