होम /न्यूज /राष्ट्र /

कोविन ऐप का भलाई के कामों में बड़े पैमाने पर हो सकता है इस्तेमाल: हर्षवर्धन

कोविन ऐप का भलाई के कामों में बड़े पैमाने पर हो सकता है इस्तेमाल: हर्षवर्धन

हर्षवर्धन ने कहा कि सभी को टीका लगना महामारी को रोकने और समाप्त करने की कुंजी है. (पीटीआई फाइल फोटो)

हर्षवर्धन ने कहा कि सभी को टीका लगना महामारी को रोकने और समाप्त करने की कुंजी है. (पीटीआई फाइल फोटो)

Harsh Vardhan Coronavirus CoWin App: हर्षवर्धन ने कहा कि भारत 36 करोड़ कोविड टीके लगाने के करीब पहुंच रहा है, जो कि टीकाकरण अभियान शुरू होने के छह महीने से भी कम समय में हासिल की गई उपलब्धि है.

    नई दिल्ली. केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने सोमवार को कहा कि कोविड-19 रोधी टीकाकरण को गति देना समय की आवश्यकता है. ऐसे में भारत कोविन प्लेटफॉर्म को दुनिया के समक्ष एक ऐसे प्रौद्योगिकी उपकरण के रूप में पेशकश कर रहा है जिसका सार्वजनिक भलाई के कामों में व्यापक रूप से उपयोग किया जा सकता है.


    डिजिटल माध्यम से वैश्विक कोविन सम्मेलन' को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि भारत 36 करोड़ कोविड टीके लगाने के करीब पहुंच रहा है, जो कि टीकाकरण अभियान शुरू होने के छह महीने से भी कम समय में हासिल की गई उपलब्धि है. इस दौरान हर्षवर्धन ने यह भी कहा है कि दिसंबर तक हम अपनी पूरी वयस्क आबादी को टीका लगाने के लिए प्रतिबद्ध हैं.


    दूसरे देशों को कोविन ऐप क्यों ऑफर कर रहा है भारत, कैसे करेंगे वो इसका इस्तेमाल?


    सम्मेलन में अफगानिस्तान, बांग्लादेश, भूटान, मालदीव, गुयाना, एंटीगुआ और बारबुडा, सेंट किट्स एंड नेविस और जाम्बिया सहित 142 देशों के गणमान्य व्यक्तियों ने भाग लिया. हर्षवर्धन ने कहा कि वर्तमान सार्वजनिक स्वास्थ्य संकट जैसी साझा चुनौतियों से केवल साझा कार्यों और संसाधनों के माध्यम से निपटा जा सकता है. सभी को टीका लगना महामारी को रोकने और समाप्त करने की कुंजी है, इस बात पर और अधिक जोर नहीं दिया जा सकता.


    कोई भी देश कोविड-19 जैसी चुनौती से अकेले नहीं निपट सकता, कोविन ग्लोबल कॉन्क्लेव में बोले PM मोदी


    उन्होंने कहा, ’दुनिया भर में टीकाकरण की गति को तेज करना समय की मांग है. इसके लिए, हम कोविन प्लेटफॉर्म को एक प्रौद्योगिकी उपकरण के रूप में पेश करने को लेकर उत्साहित हैं, जिसका सार्वजनिक भलाई के कामों में अधिक से अधिक उपयोग किया जा सकता है. मुझे आशा है कि आप सभी देश हमारी पेशकश से मूल्य और लाभ प्राप्त करने में सक्षम हैं.’




    हर्षवर्धन ने कहा, ’हमारा कोविन प्लेटफॉर्म डिजिटल इंडिया कार्यक्रम की सफलता का दर्पण है, जिसने लगातार विकास पथ पर कदम बढ़ाए हैं तथा कई मील के पत्थर हासिल किए हैं.’ सम्मेलन का आयोजन संयुक्त रूप से स्वास्थ्य और विदेश मंत्रालय व राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण (एनएचए) द्वारा किया गया था.


    (Disclaimer: यह खबर सीधे सिंडीकेट फीड से पब्लिश हुई है. इसे News18Hindi टीम ने संपादित नहीं किया है.)

    Tags: Coronavirus, CoWIN, Dr Harsh Vardhan

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर