COVID-19: देश में 5,66,840 मामले, प्रधानमंत्री ने कहा- नियमों का कड़ाई से पालन करें लोग

COVID-19: देश में 5,66,840 मामले, प्रधानमंत्री ने कहा- नियमों का कड़ाई से पालन करें लोग
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों को लापरवाही न बरतने के लिए कहा

Coronavirus: देश में अब कोरोना के 2 लाख 15 हजार 125 एक्टिव केस हैं. कोरोना से अब तक 16 हजार 893 लोगों की जान चली गई है, जबकि 3 लाख 34 हजार 821 लोग रिकवर हो चुके हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. देश में बुधवार से ‘अनलॉक-2’(Unlock-2) की शुरूआत से पूर्व कोविड-19 (Covid-19) के मामलों की संख्या 5,66,840 तक पहुंच चुकी है और संक्रमण के लगभग 66 प्रतिशत मामले केवल जून महीने में ही सामने आये हैं. उधर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने कहा कि यह चिंता का कारण है कि लोग नियमों का कड़ाई से पालन नहीं कर रहे हैं जैसा कि उन्होंने लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान किया था. एक जून से जब ‘अनलॉक-1’ के तहत रियायतें दी गई थी, देश में 3,76,305 मामले थे. अब तक कुल मामलों में से लगभग दो-तिहाई मामले महाराष्ट्र, तमिलनाडु, दिल्ली और गुजरात से हैं.

प्रधानमंत्री ने कहा कि समय रहते लॉकडाउन लागू होने और अन्य फैसलों के चलते भारत कई लोगों की जान बचा सका लेकिन अनलॉक- 1 (Unlock-1) शुरू होने के बाद लोगों में लापरवाही बढ़ी है. उन्होंने हर किसी को स्वास्थ्य दिशा निर्देशों का पालन करने को कहा. साथ ही उन्होंने कहा कि गांव के प्रधान हों या प्रधानमंत्री, कोई भी कानून से ऊपर नहीं हैं. उन्होंने कहा, ‘‘आपसे आग्रह भी करता हूं, आप सभी स्वस्थ रहिए. दो गज की दूरी का पालन करते रहिए. गमछा , फेस कवर, मास्क ये हमेशा उपयोग कीजिये, कोई लापरवाही मत बरतिए.’’

ये भी पढ़ें- देश में कोविड-19 महामारी के दौरान ICMR का चेहरा रहे डॉ गंगाखेड़कर हुए रिटायर



पीएम मोदी ने कहा लापरवाही बढ़ना चिंता का कारण



पीएम मोदी ने कहा कि 25 मार्च को जब देशभर में लॉकडाउन की घोषणा हुई थी तब कानूनों का बहुत कड़ाई से पालन हुआ. उन्होंने कहा, ‘‘दुनिया के अनेक देशों की तुलना में भारत संभली हुई स्थिति में है. समय पर किए गए लॉकडाउन और अन्य फैसलों ने भारत में लाखों लोगों का जीवन बचाया गया है. लेकिन हम ये भी देख रहे हैं कि जब से देश में अनलॉक-1 हुआ है, व्यक्तिगत और सामाजिक व्यवहार में लापरवाही भी बढ़ती ही चली जा रही है .’’ उन्होंने कहा कि पहले मास्क को लेकर, दो गज की दूरी को लेकर, 20 सेकेंड तक दिन में कई बार हाथ धोने को लेकर लोग बहुत सतर्क रहा करते थे. उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन आज, जब हमें ज्यादा सतर्कता की जरूरत है, तो लापरवाही बढ़ना चिंता का कारण है.’’

प्रधानमंत्री ने कहा कि अब सरकारों को, स्थानीय निकाय की संस्थाओं को, देश के नागरिकों को फिर से उसी तरह की सतर्कता दिखाने की जरूरत है. विशेषकर निषिद्ध क्षेत्रों में हमें बहुत ध्यान देना होगा.

'लोगों को रोकना, टोकना और समझाना होगा'
प्रधानमंत्री ने लोगों से अपील की कि जो भी लोग नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं, उन्हें टोकना होगा, रोकना होगा और समझाना भी होगा. उन्होंने कहा, ‘‘अभी आपने खबरों में देखा होगा, एक देश के प्रधानमंत्री पर 13 हजार रुपये का जुर्माना इसलिए लग गया, क्योंकि वह सार्वजनिक जगह पर बिना मास्क पहने गए थे. भारत में भी स्थानीय प्रशासन को इसी चुस्ती से काम करना चाहिए.’’

कोरोना के खिलाफ सरकार की ओर से उठाए जा रहे कदमों को 130 करोड़ देशवासियों के जीवन की रक्षा करने का अभियान बताते हुए मोदी ने कहा, ‘‘भारत में गांव का प्रधान हो या देश का प्रधानमंत्री, कोई भी नियमों से ऊपर नहीं है.’’ इस बीच, प्रधानमंत्री मोदी ने कोविड-19 का टीका तैयार होने पर बड़ी आबादी के टीकाकरण के लिए भारत की तैयारियों की मंगलवार को समीक्षा की और जोर दिया कि टीकाकरण सस्ता और हर किसी के लिए उपलब्ध होना चाहिए.

ये भी पढ़ें- ममता सरकार की केंद्र से अपील, 2 हफ्ते के लिए इन शहरों की फ्लाइट्स पर लगाएं रोक

देश में संक्रमितों की संख्या हुई 5,66,840
भारत में कोविड-19 के एक दिन में 18,522 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमण के मामले मंगलवार को बढ़कर 5,66,840 हो गए, जिनमें से 418 और लोगों की जान जाने के बाद मरने वालों की संख्या बढ़कर 16,893 हो गई. केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा सुबह आठ बजे अद्यतन किए आंकड़ों के अनुसार देश में 2,15,125 लोगों का इलाज जारी है,जबकि 3,34,821 लोग ठीक हो चुके हैं. वहीं एक मरीज देश से बाहर चला गया है. अधिकारी ने कहा, ‘‘मरीजों के ठीक होने की दर 59.07 प्रतिशत है.’’

तमिलनाडु के उच्च शिक्षा मंत्री के पी अंबलगन के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुयी है. एक अस्पताल ने मंगलवार को यह जानकारी दी. एमआईओटी अस्पताल ने कहा कि शुरू में उनमें कोरोना वायरस का कोई लक्षण नहीं दिखा और उनका सीटी स्कैन भी सामान्य था. लेकिन एहतियात के तौर पर उन्हें निगरानी में रखा गया था. उनके दूसरे नमूने की जांच में कोरोना वायरस से संक्रमण की पुष्टि हुयी. अस्पताल ने कहा कि एक दिन पहले उन्हें हल्की खांसी हुयी और उसका इलाज किया जा रहा है. उनकी हालत स्थिर है और सभी महत्वपूर्ण स्वास्थ्य मानदंड सामान्य हैं.

दिल्ली में सामने आए 2,084 नए केस
उधर, दिल्ली में 2,084 मामले सामने आये. राष्ट्रीय राजधानी में 29 जून को कोरोना वायरस से स्वस्थ होने की दर 66.03 प्रतिशत थी. मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या 1,69,883 है. इसके बाद तमिलनाडु में 86,224, दिल्ली में 85,161, गुजरात में 31,938, उत्तर प्रदेश में 22,828, पश्चिम बंगाल में 17,907 और राजस्थान में 17,660 मामले हैं.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोविड​​-19 लॉकडाउन के दौरान उत्तर प्रदेश वापस आए 30.43 लाख प्रवासियों का पता लगाने और सामुदायिक निगरानी में सहायता करने के लिए 1.6 लाख मान्यता प्राप्त स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं (आशा) के काम की सराहना की.

ये भी पढ़ें- मुंबई में कल से चलेंगी 350 ट्रेनें, सिर्फ इन लोगों को मिलेगी यात्रा की इजाजत

राज्यों में आए इतने मामले
तेलंगाना में कोविड-19 मामलों की संख्या 15,394, कर्नाटक में 14,295, हरियाणा में 14,210, आंध्र प्रदेश में 13,891, और मध्य प्रदेश में 13,370 हो गई है. वहीं बिहार में कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या 9,640, असम में 7,752, जम्मू-कश्मीर में 7,237 और ओडिशा में 6,859 हो गई है. पंजाब में अब तक 5,418 जबकि केरल में 4,189 लोग इससे संक्रमित पाए गए हैं. उत्तराखंड में कुल 2,831, छत्तीसगढ़ में 2,761, झारखंड में 2,426, त्रिपुरा में 1,380, मणिपुर में 1,227, गोवा में 1,198, लद्दाख में 964 और हिमाचल प्रदेश में 942 लोग वायरस से संक्रमित हुए हैं. त्रिपुरा सरकार ने कहा कि वह कोरोना वायरस लॉकडाउन का विस्तार करने के बारे में नहीं सोच रही है क्योंकि राज्य में स्थिति "स्थिर" है.

शिक्षा मंत्री रतन लाल नाथ ने मंगलवार को कहा, "भले ही पूर्वोत्तर के तीन राज्यों असम, मणिपुर और मेघालय में लॉकडाउन बढ़ा दिया गया हो, लेकिन हम उस राह पर चलने के बारे में नहीं सोच रहे हैं.' अरुणाचल प्रदेश में अब तक कोरोना वायरस संक्रमण के 187, मिजोरम में 148 , अंडमान-निकोबार द्वीप समूह में 90, सिक्किम में 88 और मेघालय में 47 मामले सामने आ चुके हैं.

1 जुलाई से अनलॉक 2
सरकार ने सोमवार को 1 जुलाई से 'अनलॉक 2' के शुरू करने के लिए दिशा-निर्देश जारी किए थे. इस दौरान अधिक घरेलू उड़ानों और यात्री ट्रेनों को संचालन की अनुमति दी जाएगी. हालांकि इस दौरान शिक्षण संस्थान, मेट्रो रेल सेवाएं, सिनेमा घर और जिम बंद रहेंगे. आवश्यक गतिविधियों को छोड़कर रात 10 से सुबह 5 बजे के बीच रात्रि कर्फ्यू लागू रहेगा. इस बीच, एक अधिकारी ने बताया कि कोरोना वायरस पाबंदियों के कारण यूक्रेन में फंसे 144 भारतीय छात्रों को लेकर एयर इंडिया की एक विशेष उड़ान मंगलवार सुबह मध्य प्रदेश के इंदौर हवाई अड्डे पर उतर गई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading