Covid-19: देश में एक लाख 83 हजार से ज्यादा केस, अब तक 73.5 लाख लोगों की हुई जांच

देश में कोविड-19 के संक्रमण के बाद से 73.5 लाख से ज्यादा नमूनों की जांच की गयी है
देश में कोविड-19 के संक्रमण के बाद से 73.5 लाख से ज्यादा नमूनों की जांच की गयी है

Coronavirus: स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) के मुताबिक, भारत का रिकवरी रेट (India's Recovery Rate) 56.38% हो गया है. मंगलवार को 10 हजार से ज्यादा मरीज ठीक हुए हैं. अब तक देश में 2 लाख 58 हजार 523 लोग ठीक होकर घर जा चुके हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमितों की संख्या अब 4 लाख 56 हजार 183 हो गई है. 24 घंटे में देशभर में कोरोना के 15968 नए मामले सामने आए हैं और 465 लोगों की मौत हुई है. स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) की ताजा जानकारी के मुताबिक, कोविड-19 (Covid-19) के अभी एक लाख 83 हजार 22 एक्टिव केस हैं. इस वायरस के संक्रमण से अब तक 14 हजार 476 लोगों की जान जा चुकी है, जबकि 2 लाख 58 हजार 684 लोग रिकवर हो चुके हैं. वहीं, दिल्ली में एक दिन में 3788 लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आईं. राजधानी में अब तक 70 हजार से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं. दूसरी ओर महाराष्ट्र में मंगलवार को 3,890 नए मरीज मिले हैं. इससे राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या एक लाख 42 हजार 900 हो गई है.

देश में कोविड-19 के संक्रमण के बाद से 73.5 लाख से ज्यादा नमूनों की जांच की गयी है और मंगलवार को एक दिन में सबसे ज्यादा 2.5 लाख जांच की गयी. आईसीएमआर (ICMR) के अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी. एक अधिकारी ने बताया कि भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) ने देश में कोविड-19 की जांच के लिए अब तक 1,000 प्रयोगशालाओं को अनुमति दी है. वर्तमान में प्रतिदिन तीन लाख नमूनों की जांच हो सकती है. आईसीएमआर ने बताया, ‘‘23 जून तक कुल 73,52,911 नमूनों की जांच की गई जिनमें से 2,15,195 नमूनों की जांच मंगलवार को की गई.’’

ये भी पढ़ें- महाराष्ट्र में कोविड-19 के 3,890 नये मामले सामने आये, संक्रमितों की संख्या 1,42,900 हुई



देश में 1,000 प्रयोगशालाएं
केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि मंगलवार को की गई 2,15,195 नमूनों की जांच में से 1,71,587 नमूनों की जांच सरकारी प्रयोगशालाओं में की गई जबकि 43,608 की जांच निजी प्रयोगशालाओं में की गई. जांच के लिए कुल 1,000 प्रयोगशाला में 730 सरकारी हैं और 270 निजी क्षेत्र की हैं. इसमें आरटी-पीसीआर लैब (557), ट्रूनेट लैब (363) और सीबीएनएएटी लैब (80) भी शामिल हैं.

अब भी बड़ी चुनौती है जांच तक पहुंच
आईसीएमआर ने मंगलवार को जारी परामर्श में कहा, ‘‘इतनी कवायद के बावजूद भारत जैसे बड़े देश में जांच तक पहुंच एक बड़ी चुनौती है. त्वरित जांच के लिए परीक्षण की क्षमता को बढ़ाने की जरूरत है. ’’ कुछ खास स्थिति में एंटीबॉडी टेस्ट के साथ सीरोसर्वे जांच भी की जाती है. इसके मद्देनजर देश के विभिन्न भागों में जांच की उपलब्धता बढ़ाने के लिए अन्य जांच पद्धति को शामिल करने का सुझाव दिया गया है.

कोविड-19 की जांच के लिए आरटी-पीसीआर सबसे मानक परीक्षण है और नतीजे मिलने में चार-पांच घंटे लगते हैं. आईसीएमआर ने हाल में कोरोना वायरस संक्रमण के लिए रैपिड एंटीजेन जांच के इस्तेमाल को भी मंजूरी दी है. इससे 30 मिनट में जांच के नतीजे आ जाते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज