कोरोना से जंग: तीन और ऑक्सीजन एक्सप्रेस चलाने की तैयारी, मध्य रेलवे ने कसी कमर

भारतीय रेलवे ऑक्सीजन एक्सप्रेस.

भारतीय रेलवे ऑक्सीजन एक्सप्रेस.

Indian Railways Oxygen Express: मध्य रेलवे ने अपने कलंबोली, नासिक और नागपुर के यार्ड में एक-एक ऑक्सीजन एक्सप्रेस को तैयार करके रखा हुआ है.

  • Last Updated: April 26, 2021, 8:37 PM IST
  • Share this:

मुंबई. देश की पहली ऑक्सीजन एक्सप्रेस का सफलतापूर्वक संचालन करके महाराष्ट्र के अलग-अलग हिस्सों में ऑक्सीजन पहुँचाने के बाद अब रेलवे से महाराष्ट्र से तीन और ऑक्सीजन एक्सप्रेस चलाने की तैयारी कर ली हैं. इसके लिए मध्य रेलवे ने अपने कलंबोली, नासिक और नागपुर के यार्ड में एक-एक ऑक्सीजन एक्सप्रेस को तैयार करके रखा हुआ है, ताकि जैसे ही महाराष्ट्र सरकार की तरफ से डिमांड आए, बिना देर किए हुए उसे ऑक्सीजन लेने जाने के लिए हरी झंडी दिखाई जा सके.



मध्य रेलवे के प्रवक्ता शिवाजी सुतार ने बताया कि रेलवे हमेशा से अपनी तैयारी रखती है. पिछले लॉकडाउन में भी रेलवे ने बेहद ही अहम भूमिका निभाई थी. उन्होंने कहा कि हमने अपनी पूरी तैयारी करके रखी हुई है और जरूरत पड़ने पर हम उसे हरी झंडी दिखाने के लिए तैयार हैं. जानकारी के मुताबिक पहली ऑक्सीजन एक्सप्रेस चलाने के बाद रेलवे को पूरे रूट का अंदाजा हो गया है और अब और जल्दी ऑक्सीजन ले आया जा सकता है.



Youtube Video


दरअसल रेलवे ने अपनी तैयारी तो पूरी करके रखी हुई है, लेकिन जानकारी के मुताबिक राज्य सरकार के पास टैंकरों की काफी कमी पड़ रही है. इसी कमी को पूरा करने के लिए राज्य सरकार ने बड़ी संख्या में टैंकरों को ऑक्सीजन टैंकर में परिवर्तित करने की प्रक्रिया भी शुरू कर दी है. परिवहन विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक करीब 70-90 टैंकरों को परिवर्तित करने का काम शुरू हो चुका है और जल्द ही यह पूरा कर लिया जाएगा, ताकि राज्य में बिगड़ते हालात से निपटने के लिए पर्याप्त ऑक्सीजन मुहैया कराया जा सके.




बता दें कि जब मध्य रेलवे के कलंबोली यार्ड से पहली ऑक्सीजन एक्सप्रेस रवाना हुई थी, उस वक़्त भी राज्य का परिवहन विभाग सिर्फ 7 टैंकर ही मुहैया करा पाया था. इन टैंकरों को लेकर ऑक्सीजन एक्सप्रेस विशाखापट्टनम गई थी,जहां से 7 टैंकरों में ऑक्सीजन भरकर वापस आई थी. टैंकरों की कमी की वजह से ऑक्सीजन एक्सप्रेस के कुछ हिस्से खाली ही लौटे थे.


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज