अपना शहर चुनें

States

पंजाब में कोविड-19 से संक्रमित व्यक्ति की मौत, राज्य में कुल मामलों की संख्या 184 हुई

कर्नाटक में 38 नए केस.
कर्नाटक में 38 नए केस.

पंजाब (Punjab) में कोविड-19 (Covid-19) के कुल 184 मामलों से से 56 मोहाली (Mohali) जिले से हैं और इस तरह वह पंजाब में सबसे प्रभावित जिला है.

  • Share this:
चंडीगढ़. पंजाब (Punjab) के जालंधर (Jalandhar) में मंगलवार को कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित एक व्यक्ति की मौत हो गई, जबकि राज्य में आठ लोगों में संक्रमण की पुष्टि होने के साथ ही राज्य में इस महामारी के मामले बढ़कर 184 हो गये. एक अधिकारी ने यह जानकारी दी. राज्य में अबतक कोरोना वायरस के संक्रमण से 13 लोगों की मौत हो चुकी है.

इन जिलों से आए नए मामले
दैनिक मेडिकल बुलेटिन के अनुसार नये मामलों में पठानकोट में चार, मोहाली में दो, जालंधर और गुरदासपुर के एक-एक मामले शामिल हैं. गुरदासपुर में 60 वर्षीय व्यक्ति में संक्रमण की पुष्टि होने के बाद पहला मामला सामने आया है. कोविड-19 ने पंजाब के 18 जिलों को प्रभावित किया है.

राज्य सरकार ने सबसे अधिक प्रभावित जिलों मोहाली और जालंधर में त्वरित जांच करना शुरू कर दिया है.
मोहाली में सबसे ज्यादा केस


बुलेटिन के अनुसार राज्य में कोविड-19 के कुल 184 मामलों से से 56 मोहाली जिले से हैं और इस तरह वह पंजाब में सबसे प्रभावित जिला है. जालंधर में 25, पठानकोट में 22, नवांशहर में 19, लुधियाना, मानसा और अमृतसर में 11-11, होशियारपुर में सात, मोगा में चार, रुपनगर और फरीदकोट में तीन-तीन, फतेहगढ़साहिब, संगरूर, पटियाला, कपूरथला और बरनाला में दो-दो, मुक्तसर और गुरदासपुर में एक-एक मामले दर्ज किए गए हैं. राज्य में अबतक 27 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं. राज्य में अबतक 4844 नमूनों का परीक्षण किया गया है. 4,047 नमूनों की जांच में संक्रमण की पुष्टि नहीं हुई है और 613 नमूनों का जांच परिणाम आना बाकी है.

सादगी से मनाया गया वैशाखी का त्योहार
कोरोना वायरस के संक्रमण के मद्देनजर लागू कर्फ्यू के कारण इस बार पंजाब में वैशाखी पर्व पर कोई चहल-पहल नहीं दिखी सड़कों पर सन्नाटा पसरा रहा और अरदास के लिए लोग गुरुद्वारा नहीं जा पाए. वैशाखी पंजाब का सबसे बड़ा त्योहार है. इसी दिन गुरु गोविंद सिंह ने खालसा पंथ की स्थापना की थी. किसानों के लिए भी यह त्योहार महत्वपूर्ण है क्योंकि इस दिन से खेतों में खड़ी फसल को काटने की शुरूआत होती है.

सिखों के पवित्र धार्मिक स्थल अमृतसर के स्वर्ण मंदिर में महज कुछ ही श्रद्धालु अरदास के लिए पहुंचे. आम तौर पर वैशाखी के दौरान स्वर्ण मंदिर में करीब दो लाख श्रद्धालु आते हैं. पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश और चंडीगढ़ में गुरुद्वारा का प्रबंधन करने वाली शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (एसजीपीसी) ने भी कर्मियों को तैनात किया जो लोगों को एक जगह इकट्ठा नहीं होने के लिए समझाते रहे.

ये भी पढ़ें-
गुजरात के कांग्रेस MLA इमरान कोरोना पॉजिटिव, सीएम रूपाणी संग की थी बैठक

कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में ड्रोन भी निभा रहे हैं अहम भूमिका
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज