• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • पुलिस चौकी पर RSS कार्यकर्ताओं की 'तैनाती' की तस्वीरों को लेकर हुआ विवाद

पुलिस चौकी पर RSS कार्यकर्ताओं की 'तैनाती' की तस्वीरों को लेकर हुआ विवाद

RSS कार्यकर्ता पुलिस चौकी पर पहचान पत्र चेक जिसे लेकर विवाद हो गया

RSS कार्यकर्ता पुलिस चौकी पर पहचान पत्र चेक जिसे लेकर विवाद हो गया

पुलिस चौकी पर कथित रूप से आरएसएस (RSS) कार्यकर्ताओं की तैनाती की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद खड़ा हो गया विवाद.

  • Share this:
    हैदराबाद. तेलंगाना (Telangana) में एक पुलिस चौकी पर कथित रूप से आरएसएस (RSS) कार्यकर्ताओं की तैनाती की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद विवाद खड़ा हो गया, जिसके चलते एक पुलिस निरीक्षक को वहां से हटा दिया गया. अधिकारियों ने रविवार को कहा कि स्वयंसेवकों को इसकी अनुमति नहीं दी गई थी और उन्हें वहां से चले जाने के लिये कहा गया है. वहीं, आरएसएस ने इन खबरों के झूठा बताते हुए खारिज कर दिया कि उसके कार्यकर्ता पुलिस चौकी पर पहचान पत्र चेक कर रहे थे. संघ ने कहा कि यह खबरें 'संकीर्ण और निहित स्वार्थों' से प्रेरित हैं.

    सोशल मीडिया पर घूम रही तस्वीरों में आरएसएस के स्वयंसेवक कोरोना वायरस लॉकडाउन के दौरान कथित रूप से यदाद्री भोंगीर जिले में एक चौकी पर तैनात दिखाई देते हैं. सोशल मीडिया पर कई लोगों ने इस पर आपत्ति जतायी है. उन्होंने पूछा कि 'लाठी लिये' आरएसएस के कार्यकर्ताओं को चौकी से गुजरने वाले वाहन सवार लोगों के कागज जांचने की अनुमति किसने दी. उन्होंने उनके खिलाफ मामला दर्ज करने की भी मांग की.

    ये भी पढ़ें: देश में कोरोना के मामले 9000 के पार, जानें क्या है आपके राज्य का हाल

    मजलिस बचाओ तहरीक पार्टी के प्रवक्ता अमजद उल्ला खान ने एक बयान में मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव से इस मामले पर स्पष्टीकरण मांगा. उन्होंने पूछा कि क्या यह टीआरएस सरकार की नरम हिंदुत्व की नीति है या फिर आरएसएस समर्थक तेलंगाना सरकार के अधिकारी अपनी मर्जी से ऐसा कर रहे हैं. हालांकि पुलिस ने कहा कि पिछले सप्ताह कॉलेज के कुछ छात्रों ने सादे कपड़ों में स्वयंसेवा और कुछ चौकियों पर भोजन और पानी वितरित करने में पुलिस की मदद की पेशकश की थी.

    पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि अचानक वे सब नौ अप्रैल को आरएसएस की वर्दी में आए और फिर उन्होंने चौकी के नजदीक कुछ तस्वीरें उतारीं. इसके बाद उन्हें वहां से चले जाने के लिये कह दिया गया. पुलिस निरीक्षक (अलायर चौकी के तहत आने वाली चौकी के प्रभारी) को तभी दूसरी जगह भेज दिया गया और मुख्यालय को इसकी सूचना दे दी गई. उन्होंने कहा कि इस संबंध में कोई मामला दर्ज नहीं किया गया है.

    राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के तेलंगाना राज्य के सचिव के. रमेश ने कहा कि संघ के कार्यकर्ता प्रशासन के कामकाज में दखल नहीं देते और पूरी तरह अनुमति मिलने के बाद ही अपना काम करते हैं.

    ये भी पढ़ें: Live: आधा भारत कोरोना वायरस की चपेट में, 24 घंटे में मिले 918 संक्रमित

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज