अपना शहर चुनें

States

दिल्ली के कंटेनमेंट जोन में सभी घरों का होगा सर्वे, कोरोना मरीजों के लिए केंद्र देगा 500 रेलवे कोच: अमित शाह

रविवार को गृहमंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) ने बैठक बुलाई
रविवार को गृहमंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) ने बैठक बुलाई

दिल्ली में इस समय कोरोना (Coronavirus) के 38,958 मामले हैं और इनमें से 1,271 लोगों की मौत हो चुकी है. कोरोना संक्रमण के मामलों में महाराष्ट्र और तमिलनाडु के बाद दिल्ली का तीसरा स्थान है.

  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली में कोरोना वायरस के लगातार बढ़ रहे मामलों से हालात खराब होते जा रहे हैं. राजधानी में बढ़ते संक्रमण (Covid-19 Infection) को लेकर रविवार को गृहमंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) ने बैठक रविवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपराज्यपाल अनिल बैजल सहित वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की. मीटिंग के बाद अमित शाह ने कहा, 'दिल्ली के कन्टेनमेंट जोन में कॉनटैक्ट मैपिंग अच्छे से हो पाए, इसके लिए घर-घर जाकर हर एक व्यक्ति का व्यापक स्वास्थ्य सर्वे किया जाएगा. जिसकी रिपोर्ट 1 सप्ताह में आ जाएगी. साथ ही अच्छे से मॉनिटरिंग हो इसके लिए वहां हर व्यक्ति के मोबाइल में आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करवाई जाएगी.' इस मीटिंग में दिल्ली में दोबारा लॉकडाउन लागू करने पर फिलहाल कोई फैसला नहीं लिया गया है.

पढ़ें मीटिंग के अपडेट्स:-

>>अमित शाह ने कहा, 'दिल्ली में कोरोना से संक्रमित मरीजों के लिए बेड की कमी को देखते हुए केंद्र की मोदी सरकार ने तुरंत 500 रेलवे कोच दिल्ली को देने का निर्णय लिया है. इन रेलवे कोच से न सिर्फ दिल्ली में 8,000 बेड बढ़ेंगे, बल्कि यह कोच कोरोना संक्रमण से लड़ने के लिए सभी सुविधाओं से लैस होंगे.'



>>गृहमंत्री ने जानकारी दी कि दिल्ली में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए अगले दो दिन में कोरोना की टेस्टिंग को बढाकर 2 गुना किया जाएगा. 6 दिन बाद टेस्टिंग को बढाकर 3 गुना कर दिया जाएगा. साथ ही कुछ दिन के बाद कन्टेनमेंट जोन में हर पोलिंग स्टेशन पर टेस्टिंग की व्यवस्था शुरू कर दी जाएगी.
>>शाह ने कहा, 'दिल्ली के निजी अस्पताओं में कोरोना संक्रमण के इलाज के लिए निजी अस्पतालों के कोरोना बेड में से 60% बेड कम रेट में उपलब्ध कराने, कोरोना इलाज और कोरोना की टेस्टिंग के रेट तय करने के लिए डॉ. पॉल की अध्यक्षता में एक कमिटी बनाई गई है, जो सोमवार तक अपनी रिपोर्ट देगी.'
>>गृह मंत्रालय ने कहा कि कोरोना से भारत पूरी मजबूती से लड़ रहा है. इस संक्रमण से अपनी जान गंवाने वाले लोगों के लिए सरकार दुखी भी है और उनके परिजनों के प्रति संवेदनशील भी है. सरकार ने अंतिम संस्कार के लिए नई गाइडलाइंस जारी करने का निर्णय लिया है, जिससे अंतिम संस्कार की प्रतीक्षा अवधि कम कम हो जाएगी.'>>उन्होंने कहा कि भारत सरकार ने दिल्ली सरकार को इस महामारी से लड़ने के लिए आवश्यक संसाधन जैसे ऑक्सीजन सिलिंडर, वेंटिलेटर, पल्स ऑक्सीमीटर व अन्य सभी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए आश्वस्त किया है.>>अमित शाह ने कहा कि केंद्र सरकार ने दिल्ली में कोरोना संक्रमण को रोकने व इससे मजबूती से लड़ने के लिए दिल्ली सरकार को भारत सरकार के और 5 वरिष्ठ अधिकारी देने का निर्णय किया है.>>उन्होंने बताया कि इन सभी प्रमुखों निर्णयों के साथ आज की बैठक में कई और निर्णय लिए गए. साथ ही केंद्र व दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग, सभी सम्बंधित विभाग व एक्सपर्ट्स को आज किए गए सभी निर्णय नीचे तक अच्छे से अमल हो यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं.इस उच्च स्तरीय बैठक में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन, एम्स के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया, दिल्ली के उप राज्यपाल अनिल बैजल सहित गृह मंत्रालय के अन्य अधिकारी शामिल हुए.दिल्ली में कोरोना के 38 हजार 958 केसदिल्ली में इस समय कोरोना (Coronavirus) के 38,958 मामले हैं और इनमें से 1,271 लोगों की मौत हो चुकी है. कोरोना संक्रमण के मामलों में महाराष्ट्र और तमिलनाडु के बाद दिल्ली का तीसरा स्थान है. इस बीच दिल्ली सरकार ने अगले एक सप्ताह के भीतर 20 हजार नए कोरोना बेड तैयार करने के आदेश दिए हैं. सरकार ने बेडों की व्यवस्था के लिए होटल, बैंकेट हॉल और नर्सिंग होम का अधिग्रहण करने का फैसला किया है.


केजरीवाल सरकार ने रखी ये मांगें
सूत्रों ने बताया कि मीटिंग में दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने केंद्र के सामने कई मांगें रखी हैं. दिल्ली सरकार चाहती है कि राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना के लिए बेडों की क्षमता बढ़ाई जाए. केजरीवाल सरकार ने गृह मंत्रालय से कहा कि प्राइवेट अस्पतालों पर कैपिंग रेट लागू किया जाना चाहिए. कोरोना टेस्ट भी अन्य बीमारियों में होने वाले टेस्ट की तरह ही होना चाहिए और रिपोर्ट आसानी से मिलनी चाहिए.

ये भी पढ़ें:- दिल्ली में तंबू लगाकर Corona मरीजों का होगा इलाज, 10 हजार बेड का टेंपररी अस्पताल बनाएगी सरकार

COVID-19: दिल्ली के लिए बने ये सख्त नियम, कायदे में नहीं रहे तो लगेगा ₹1000 फाइन
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज