LIVE NOW

Coronavirus Live Updates: सिलीगुड़ी के अस्पताल में ऑक्सीजन रिसाव से दहशत

विदेश मंत्री एस जयशंकर सोमवार 24 मई से पांच दिवसीय यात्रा पर अमेरिका जायेंगे जहां वे अमेरिकी कंपनियों के साथ कोविड-19 रोधी टीके की खरीद और बाद में इसके संयुक्त उत्पादन की संभावना के बारे में चर्चा करेंगे. यहां पढ़ें Coronavirus से जुड़े News के Live Updates

Hindi.news18.com | May 21, 2021, 4:46 PM IST
facebook Twitter Linkedin
Last Updated May 21, 2021
Coronavirus Live Updates: सिलीगुड़ी के अस्पताल में ऑक्सीजन रिसाव से दहशत

हाइलाइट्स

4:46 pm (IST)

दिल्ली में शुक्रवार को कोविड-19 के 3009 नए मामले आए तथा 252 और लोगों की मौत हो गयी। वहीं संक्रमण दर घटकर 4.76 प्रतिशत हो गयी है. स्वास्थ्य विभाग द्वारा साझा किए गए आंकड़ों से यह जानकारी मिली है. नए स्वास्थ्य बुलेटिन के मुताबिक, मौत के नए मामलों से राष्ट्रीय राजधानी में मृतक संख्या 22,831 हो गयी है. दिल्ली में लगातार तीसरे दिन संक्रमण के 4,000 से कम मामले आए हैं.

4:40 pm (IST)

भारतीय एथलेटिक्स महासंघ (एएफआई) के मेडिकल आयोग के अध्यक्ष अरूण कुमार मेंदिरत्ता का कोविड-19 से जुड़ी जटिलताओं के कारण शुक्रवार को यहां अस्पताल में निधन हो गया. मेंदिरत्ता को भारतीय दल के साथ तोक्यो ओलंपिक के लिए जाना था. वह 60 बरस के थे. एएफआई ने मेंदिरत्ता के निधन पर शोक जताया है जो 25 साल से अधिक से एशियाई एथलेटिक्स संघ के भी सदस्य थे.

2:59 pm (IST)

याचिका पर इससे पहले की सुनवाई के दौरान, अदालत को पता चला कि इहबास में 236 बिस्तर हैं जिनमें से केवल 50 बिस्तरों पर मानसिक या तंत्रिका संबंधी विकारों से पीड़ित मरीजों को रखा गया है और शेष रिक्त पड़े हैं. अदालत ने फिर सात मई को दिल्ली सरकार को इहबास में कोविड केंद्र बनाने और तत्काल उसका संचालन शुरू करने के प्रयास करने का निर्देश दिया था जिसके बाद 60 बिस्तरों वाला एक केंद्र बनाया गया. दिल्ली सरकार और इहबास की तरफ से शुक्रवार को दिए गए आश्वासन के मद्देनजर उच्च न्यायालय ने याचिका का निस्तारण किया.

 

2:59 pm (IST)

दिल्ली सरकार की तरफ से उसके अतिरिक्त स्थायी वकील गौतम नारायण और इहबास का प्रतिनिधित्व कर रहे अधिवक्ता तुषार सन्नू ने कहा कि मामले बढ़ने की सूरत में, बिस्तरों की संख्या मौजूदा 60 से बढ़ाकर 80 कर दी जाएगी. सन्नू ने अदालत को यह भी बताया कि वर्तमान में बिस्तरों की संख्या बढ़ाने की कोई जरूरत नहीं है क्योंकि संस्थान के कोविड केंद्र में अभी महज आठ मरीज भर्ती हैं. यह केंद्र उस याचिका के बाद बनाया गया जिसमें इहबास में भर्ती एक मरीज की ओर से दावा किया गया था कि उसे कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद बाहर जाने को कहा गया था.

 

2:59 pm (IST)
दिल्ली सरकार और मानव व्यवहार एवं संबद्ध विज्ञान संस्थान (इहबास) ने दिल्ली उच्च न्यायाल को शुक्रवार को आश्वासन दिया कि अगर कोरोना वायरस संक्रमण के मामले फिर से बढ़ते हैं तो तंत्रिका संबंधी (न्यूरोलॉजिकल) समस्याओं से पीड़ित मरीजों के लिए संस्थान के कोविड केंद्र में बिस्तरों की संख्या बढ़ाई जाएगी. यह आश्वासन तब दिया गया जब न्यायमूर्ति रेखा पल्ली ने कहा कि अगर तीसरी लहर आती है, “जैसा सबको डर है” तो बिस्तरों की संख्या मौजूदा 60 बिस्तरों से बढ़ाई जानी चाहिए ताकि किसी भी मरीज को अस्पताल में भर्ती करवाने के अनुरोध के साथ अदालत न आना पड़े.

2:58 pm (IST)

उन्होंने कहा, ‘यह बहुत ही खतरनाक है. स्ट्रॉयड लेने से मरीजों की प्रतिरक्षण क्षमता शून्य हो जाती है. ब्लैक फंगस मिट्टी या घर के अंदर सड़ रहे सामान में पाया जाता है और स्वस्थ व्यक्तियों को प्रभावित नहीं करता, लेकिन क्षीण प्रतिरक्षण क्षमता वालों के इससे संक्रमित होने का अधिक खतरा है.

2:58 pm (IST)

उन्होंने कहा कि पूरे देश में ब्लैक फंगस या म्यूकोरमाइकोसिस के इलाज में इस्तेमाल एम्फोटेरीसिन-बी इंजेक्शन की कमी है. केंद्र से 2000 इंजेक्शन दिल्ली को मिलने की उम्मीद है जिन्हें इन अस्पतालों को दिया जाएगा. जैन से डॉक्टरों की सलाह के बिना कोविड-19 मरीजों द्वारा स्ट्रॉयड लेने के प्रति आगाह किया.

2:58 pm (IST)

उन्होंने बताया, ‘दिल्ली में कोवैक्सिन की खुराक कई दिन पहले ही खत्म हो गई थी. कोविशील्ड की खुराक भी खत्म हो रही है. कई केंद्रों को आज बंद किया गया है.’ जैन ने कहा, ‘दिल्ली के अस्पतालों में बुधवार रात तक ब्लैक फंगस के 197 मामले आए थे जिनमें वे मरीज भी शामिल हैं जो इलाज के लिए दूसरे राज्यों से यहां आए हैं.’

 

2:58 pm (IST)
दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने शुक्रवार को बताया कि राष्ट्रीय राजधानी के अस्पतालों में बुधवार रात तक ब्लैक फंगस के 197 मामले आए थे. उन्होंने बताया कि इनमें वे मरीज भी शामिल हैं जो बाहर से यहां के अस्पतालों में इलाज कराने आए हैं. मंत्री ने बताया कि दिल्ली में 18 से 44 साल के लोगों का टीकाकरण कर रहे केंद्र को शुक्रवार को बंद कर दिया गया क्योंकि राष्ट्रीय राजधानी में इस आयुवर्ग के टीकाकरण के लिए टीके की कमी है.

 

2:55 pm (IST)

इससे कोविड रोगियों ने घबराहट में भागना शुरू कर दिया और अफरा तफरी मच गयी. रोगियों के परिजन समेत अनेक लोग ब्लॉक के बाहर जमा हो गये. कुछ ही समय बाद दमकल विभाग को सूचित किया गया और दो दमकल वाहनों को मौके पर भेजा गया. अधिकारियों के मुताबिक, कुछ देर के लिए ऑक्सीजन आपूर्ति रोककर स्थिति को नियंत्रण में लाया गया. मलिक के अनुसार, घटना के समय सीसीयू में सात रोगी थी. उन्हें सुरक्षित निकालकर दूसरे ब्लॉक में पहुंचाया गया. अधिकारियों के अनुसार, घटना में कोई घायल नहीं हुआ और किसी तरह के नुकसान की खबर नहीं है. बाद में रिसाव को ठीक करके स्थिति सामान्य कर ली गयी.

LOAD MORE
नई दिल्ली.  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narenda Modi) आज अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी (Varanasi) के डॉक्टरों, फार्मा स्टाफ और अन्य फ्रंटलाइन वकर्स से बातचीत की. मोदी से बातचीत में वाराणसी के विभिन्न अस्पतालों के डॉक्टर और अन्य स्टाफ शामिल हुए. इन अस्पतालों में पंडित राजन मिश्रा हॉस्पिटल भी शामिल है. इस अस्पताल को हाल में डीआरडीओ और सेना के संयुक्त प्रयास के जरिए बनाया गया है. इसके अलावा मोदी शहर के अन्य नॉन कोविड अस्पतालों के बारे में जानकारी ली.

वहीं शुक्रवार को भारत में एक दिन में कोविड-19 के 2,59,551 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 2,60,31,991 हो गई. वहीं, संक्रमण से 4,209 और लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 2,91,331 हो गई. स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि देश में अभी 30,27,925 लोगों का कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज चल रहा है.

यहां पढ़ें Coronavirus से जुड़े News के Live Updates

फोटो

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

चिंता के विचार आपकी ख़ुशी को बर्बाद कर सकते हैं। ऐसा न होने दें, क्योंकि इनमें अच्छी चीज़ों को ख़त्म करने की और समझदारी में निराशा का ज़हरीला बीज बोने की क्षमता होती है। ख़ुद को हमेशा अच्छा परिणाम पाने के लिए प्रोत्साहित करें और ख़राब हालात में भी कुछ-न-कुछ अच्छा देखने का गुण विकसित करें। ख़ास लोग ऐसी किसी भी योजना में रुपये लगाने के लिए तैयार होंगे, जिसमें संभावना नज़र आए और विशेष हो। भूमि से जुड़ा विवाद लड़ाई में बदल सकता है। मामले को सुलझाने के लिए अपने माता-पिता की मदद लें। उनकी सलाह से काम करें, तो आप निश्चित तौर पर मुश्किल का हल ढूंढने में क़ामयाब रहेंगे। किसी से अचानक हुई रुमानी मुलाक़ात आपका दिन बना देगी। काम के लिए समर्पित पेशेवर लोग रुपये-पैसे और करिअर के मोर्चे पर फ़ायदे में रहेंगे। सफ़र के लिए दिन ज़्यादा अच्छा नहीं है। जीवनसाथी के ख़राब व्यवहार का नकारात्मक असर आपके ऊपर पड़ सकता है। स्वयंसेवी कार्य या किसी की मदद करना आपकी मानसिक शांति के लिए अच्छे टॉनिक का काम कर सकता है। परेशान? आप पंडित जी से प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज