Home /News /nation /

ओमिक्रॉन के हैं 30 से ज्यादा म्यूटेंट, वैक्सीन लगवा चुके लोगों को भी कर सकता है संक्रमितः AIIMS प्रमुख

ओमिक्रॉन के हैं 30 से ज्यादा म्यूटेंट, वैक्सीन लगवा चुके लोगों को भी कर सकता है संक्रमितः AIIMS प्रमुख

नए कोरोना वेरिएंट ने देश में चिंता बढ़ा दी है. (Pic- AP)

नए कोरोना वेरिएंट ने देश में चिंता बढ़ा दी है. (Pic- AP)

Omicron variant of Coronavirus: दक्षिण अफ्रीका में मिले कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन ने दुनिया भर के देशों की चिंता बढ़ा दी है. भारत ने कोरोना के इस खतरनाक स्वरूप के कारण 12 देशों के यात्रियों के लिए एयरपोर्ट पर जांच अनिवार्य कर दिया है, तो वहीं अमेरिका ने 8 दक्षिणी अफ्रीकी देशों से आने वाले यात्रियों पर पाबंदी लगा दी है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन (Omicron variant of Coronavirus) से दुनियाभर में एक बार फिर दशहत फैल गई है. विश्व स्वास्थ्य संगठन इस वेरिएंट को लेकर चेतावनी जारी कर चुका है. अब एम्स के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया (AIIMS director Dr Randeep Guleria) ने कोरोना के ओमिक्रॉन को लेकर बड़ा खुलासा किया है. डॉ. रणदीप गुलेरिया का कहना है कि कोरोना के ओमिक्रॉन के 30 से ज्यादा म्यूटेंट हैं. इसके खिलाफ टीकों की प्रभावकारिता का गंभीर रूप से मूल्यांकन करने की आवश्यकता है.

    डॉ. रणदीप गुलेरिया ने कहा कि हो सकता है कि कोरोना का नया वेरिएंट वैक्सीन के असर को खत्म भी कर सकता है. हालांकि इस पर रिसर्च करने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि ओमिक्रॉन वेरिएंट वैक्सीन लगवा चुके लोगों को भी संक्रमित कर सकता है. हम इस पर रिसर्च कर रहे हैं. उन्होंने कहा, कि फिलहाल राहत की बात ये है कि भारत में इस वेरिएंट से संक्रमित अब तक कोई नहीं मिला है. डॉ गुलेरिया ने अंतरराष्ट्रीय यात्रा करने वाले लोगों में अचानक से इजाफा हुआ है. इसलिए बहुत ही ज्यादा सर्तक और विदेश से आने वाले यात्रियों पर नजर रखने की जरूरत है.

    उन्होंने कहा कि भविष्य की कार्रवाई इस बात पर निर्भर करेगी कि इसके प्रसार, तीव्रता और प्रतिरक्षण क्षमता से बच निकलने के सामर्थ्य पर अधिक जानकारी में क्या सामने आता है. अधिकारियों ने कहा कि भारतीय सार्स-सीओवी-2 जीनोमिक कंसोर्टिया इनसाकोग कोरोना वायरस के नए स्वरूप बी.1.1.1.529 पर बारीकी से नज़र रख रहा है और देश में इसकी उपस्थिति का अभी तक पता नहीं चला है.

    ये भी पढ़ेंः- अल्ट्रासाउंड के दौरान भ्रूण की पोजिशन देख रहे थे डॉक्टर्स, तभी दिखा हैरान करने वाला विचित्र नजारा

    अंतरराष्ट्रीय यात्रियों पर नजर रखने की जरूरत
    डॉ गुलेरिया ने अंतरराष्ट्रीय यात्रियों और उस क्षेत्र में जहां मामलों की संख्या में अचानक वृद्धि हुई है, दोनों के लिए बहुत सतर्क रहने और आक्रामक निगरानी रखने की आवश्यकता पर बल दिया. उन्होंने कहा, “साथ ही, हमें सभी से ईमानदारी से कोविड उपयुक्त व्यवहार का पालन करने के लिए कहना चाहिए और अपनी सुरक्षा को कम नहीं करना चाहिए. साथ ही यह भी सुनिश्चित करना होगा कि लोगों को टीके की दोनों खुराकें मिलें और जिन लोगों ने अभी तक टीका नहीं लिया है, उन्हें इसे लेने के लिए आगे आने के लिए प्रोत्साहित किया जाए.”

    ये भी पढ़ेंः- कभी दुनिया को लूट कर फरार हो चुकी है क्रिप्टोकरेंसी की क्वीन! निवेश से पहले जान लीजिए ये कहानी

    24 नवंबर पर दक्षिण अफ्रीका में मिला था पहला केस
    नया, और संभावित रूप से अधिक संक्रामक स्वरूप, पहली बार 24 नवंबर को दक्षिण अफ्रीका से विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) को सूचित किया गया था. तब से अन्य देशों के साथ ही बोत्सवाना, बेल्जियम, हांगकांग और इज़राइल में इसके मामले मिले हैं.


    WHO ने भी माना ओमिक्रॉन को खतरनाक

    एम्स से पहले WHO ने भी माना है कि नया वेरिएंट ओमिक्रॉन लोगों के लिए खतरनाक साबित हो सकता है. विश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है कि ये काफी खतरनाक है और दोनों टीका लगा चुके लोगों में भी संक्रमण होने का पता चला है. इतना ही नहीं इजरायल में नए वेरिएंट से संक्रमित हुए एक व्यक्ति को कोरोना टीकों के दोनों डोज के साथ तीसरी बूस्टर खुराक भी दी गई थी. वैज्ञानिक विश्लेषण कर रहे हैं और इस बात का पता लगा है कि नया वेरिएंट डेल्टा सहित किसी भी अन्य वेरिएंट की तुलना में तेजी से फैल रहा है.

    Tags: Coronavirus, Coronavirus Case, Coronavirus Case in India, Coronavirus Crisis, Coronavirus Database

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर