देश में कोरोना के मामले 15 लाख के करीब, 24 घंटे में मिले 47704 नए मरीज, 654 मौतें

देश में कोरोना के मामले 15 लाख के करीब, 24 घंटे में मिले 47704 नए मरीज, 654 मौतें
देश में अभी कोरोना वायरस (COVID-19) के 33.80% एक्टिव केस हैं, 63.92% इलाज के बाद ठीक हो चुके हैं. 2.28% लोग अपनी जान गंवा चुके हैं.

कोरोना के सबसे ज्यादा एक्टिव केस (Coronavirus Cases in India) महाराष्ट्र में हैं. राज्य में एक लाख 40 हजार से ज्यादा संक्रमितों का अस्पतालों में इलाज चल रहा है. इसके बाद दूसरे नंबर पर तमिलनाडु, तीसरे नंबर पर दिल्ली, चौथे नंबर पर गुजरात और पांचवे नंबर पर पश्चिम बंगाल है. इन पांच राज्यों में सबसे ज्यादा एक्टिव केस हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 28, 2020, 10:48 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत में कोरोना संक्रमितों (Coronavirus Cases in India) की संख्या बढ़कर 14 लाख 83 हजार 156 हो गई है. पिछले 24 घंटे में कोविड-19 के 47 हजार 704 नए केस मिले हैं. एक दिन में 654 मरीजों की मौत भी हुई है. स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) की ओर से दिए गए ताजा अपडेट के मुताबिक, देश में अभी कोरोना के 4 लाख 96 हजार 988 एक्टिव केस हैं. इस वायरस से अब तक 33 हजार 425 मरीजों की जान जा चुकी है. राहत की बात ये है कि अब तक 9 लाख 52 हजार 743 लोग कोरोना संक्रमण से रिकवर कर चुके हैं.

इन राज्यों में सबसे ज्यादा एक्टिव केस
कोरोना के सबसे ज्यादा एक्टिव केस महाराष्ट्र में हैं. राज्य में एक लाख 40 हजार से ज्यादा संक्रमितों का अस्पतालों में इलाज चल रहा है. इसके बाद दूसरे नंबर पर तमिलनाडु, तीसरे नंबर पर दिल्ली, चौथे नंबर पर गुजरात और पांचवे नंबर पर पश्चिम बंगाल है. इन पांच राज्यों में सबसे ज्यादा एक्टिव केस हैं. एक्टिव केस मामले में दुनिया में भारत का तीसरा स्थान है. यानी कि भारत ऐसा तीसरा देश है, जहां फिलहाल सबसे ज्यादा संक्रमितों का अस्पतालों में इलाज चल रहा है.

Unlock-3: FICCI ने कहा- काम और कमाई का ख्याल रखना बेहद जरूरी, बताया फाइनल अनलॉक का नया प्लान
महाराष्ट्र में 24 घंटे में संक्रमण के 7,924 नए मामले


महाराष्ट्र में 24 घंटे में संक्रमण के 7,924 नए मामले सामने आए. संक्रमितों की संख्या बढ़कर 3,83,723 हो गई है. अब तक इस वायरस के कारण 13,883 लोग दम तोड़ चुके हैं. एक दिन में कुल 8,706 मरीजों को छुट्टी दे दी गई, जिसके बाद राज्य में ठीक हुए लोगों की संख्या बढ़कर 2 लाख 21 हजार 944 हो गई.

28 july india
चार्ट में देखिए किस राज्य में कोरोना के कितने केस और अब तक कितने मरीजों की गई जान:-


दिल्ली में 24 घंटे में 26 की मौत
वहीं, देश की राजधानी दिल्ली में 24 घंटे में 26 की मौत हुई है. सोमवार दोपहर जारी बुलेटिन के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में 26 रोगियों की मौत के साथ ही मृतकों की संख्या 3,853 हो गई है. दिल्ली में फिलहाल 10,994 रोगियों का इलाज चल रहा है. रविवार को इनकी संख्या 11,904 थी. मरीजों के ठीक होने की दर 88 प्रतिशत है. बुलेटिन के मुताबिक 1,16,372 मरीज ठीक हो गए हैं. दिल्ली में कुल 9,58,283 जांच हुई है.

आंध्र-कर्नाटक में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 1-1 लाख के पार
आंध्र प्रदेश और कर्नाटक में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 1-1 लाख के पार हो गया. यहां हर रोज 5 से 6 हजार नए केस बढ़ रहे हैं. आंध्र प्रदेश में सोमवार को 6,051 नए केस बढ़े. अब तक यहां 1,02,349 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए जा चुके हैं. वहीं, कर्नाटक में पिछले 24 घंटे में 5,324 नए मामले सामने आए. यहां अब तक 1,01,465 लोग संक्रमित पाए जा चुके हैं.

पॉजिटिविटी रेट 9.03 फीसदी, रिकवरी रेट 64.23 फीसदी
मंगलवार को रिकवरी रेट में एक बार फिर मामूली सुधार देखा गया है, अब यह बढ़कर 64.23 फीसदी हो चुका है. जबकि पॉजिटिविटी रेट 9.03 फीसदी पर आ गया है. दिल्ली में सबसे ज्यादा 86.04 फीसदी रिकवरी रेट है. यहां 100 में से से 86 मरीज ठीक हो रहे हैं.

कुल केस में भारत दुनिया में तीसरे स्थान पर
कोरोना संक्रमितों की संख्या के हिसाब से भारत अमेरिका, ब्राजील के बाद दुनिया का तीसरा सबसे प्रभावित देश है. अगर प्रति 10 लाख आबादी पर संक्रमित मामलों और मृत्युदर की बात करें तो अन्य देशों की तुलना में भारत की स्थिति बहुत बेहतर है. भारत से अधिक मामले अमेरिका (4,432,549), ब्राजील (2,443,480) में हैं. देश में कोरोना मामले बढ़ने की रफ्तार भी दुनिया में दूसरे नंबर पर बनी हुई है.

28 JULY WORLD
देश में कोरोना मामले बढ़ने की रफ्तार भी दुनिया में दूसरे नंबर पर बनी हुई है.


5 जगहों पर ऑक्सफोर्ड वैक्सीन के आखिरी ह्यूमन ट्रायल की तैयारी पूरी
इस बीच ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका द्वारा विकसित कोविड-19 के टीके (Oxford-AstraZeneca COVID-19 vaccine) के ह्यूमन ट्रायल के लास्ट फेज के ट्रायल के लिए देश भर में पांच स्थानों पर तैयारी पूरी कर ली गई है. स्वरूप ने कहा कि यह एक आवश्यक कदम है क्योंकि भारतीयों को टीका लगाने से पहले देश के भीतर आंकड़े उपलब्ध होना आवश्यक है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading