Coronavirus: ...तो इसलिए भारत में करना पड़ा 21 दिनों का लॉकडाउन- Inside Story

Coronavirus: ...तो इसलिए भारत में करना पड़ा 21 दिनों का लॉकडाउन- Inside Story
पीएम मोदी ने मंगलवार आधी रात से 21 दिनों तक लॉकडाउन का ऐलान कर दिया है. देश में 15 अप्रैल तक लॉकडाउन रहेगा.

कोरोना वायरस (Coronavirus) के बढ़ते प्रकोप के बीच पिछले दिनों 64 हजार के करीब भारतीय और विदेशी यहां आए हैं. ऐसे में संक्रमण फैलना का खतरा और ज्यादा बढ़ गया है. वैसे भी ये बीमारी भारत में बाहर से ही आई है. ऐसे में सोशल डिस्टेंसिंग का सख्ती के साथ पालन किया जाना बेहद जरूरी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 25, 2020, 6:19 PM IST
  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
नई दिल्ली. भारत में कोरोना वायरस (Coronavirus) के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. अब तक कोविड-19  संक्रमण के 580 कंफर्म केस सामने आ चुके हैं. इनमें से 11 लोगों की जान भी जा चुकी है. कोरोना के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने देश में मंगलवार आधी रात से 21 दिनों तक लॉकडाउन का ऐलान कर दिया है. देश में 15 अप्रैल तक लॉकडाउन रहेगा. बेशक लॉकडाउन से लोगों को कई तरह की दिक्कतों का सामना भी करना पड़ रहा है, लेकिन इसकी एक बड़ी वजह भी है.

दरअसल, कोरोना के बढ़ते प्रकोप के बीच पिछले दिनों 64 हजार के करीब भारतीय और विदेशी यहां आए हैं. ऐसे में संक्रमण फैलना का खतरा और ज्यादा बढ़ गया है. वैसे भी ये बीमारी भारत में बाहर से ही आई है. ऐसे में सोशल डिस्टेंसिंग का सख्ती के साथ पालन किया जाना बेहद जरूरी है. यही वजह है कि सरकार ने पूरे भारत में लॉकडाउन और कुछ जगहों पर कर्फ्यू लगा दिया है.

21 दिनों का ही लॉकडाउन क्यों?
अधिकारियों ने कहा कि 21 दिनों का लॉकडाउन लगाने के पीछे बड़ी वजह लोगों की लापरवाही है. दरअसल विदेश से लौटे कई लोगों को होम क्वारंटाइन में रहने को कहा गया है. इसके बावजूद कई ऐसे लोग ट्रेन या सड़क पर घूमते पकड़े गए. ऐसे में वह खुद या जिनके संपर्क में वे आए कोरोना के मुख्य वाहक हो सकते हैं.



विदेश से आए लोगों में अगर कोरोना वायरस है, तो सोशल डिस्टेंसिंग होने पर वायरस बाकी लोगों में नहीं फैल पाएगा. ऐसे में जिस व्यक्ति में कोरोना से संक्रमित के लक्षण होंगे, वो 14 दिन के अंदर दिख जाएंगे, जिसके बाद तुरंत इलाज भी शुरू हो जाएगा. इस दौरान जो पहले से कोरोना पॉजिटिव हैं, उनका इलाज भी पूरा होने की उम्मीद है. फिलहाल देश में 1,87,904 लोगों को देखरेख में आइसोलेशन में रखा गया है.



लॉकडाउन में भी आपको मिलती रहेंगी ये सुविधाएं
लॉकडाउन के दौरान आवश्यक सेवा को मुक्त रखा गया है यानी सब्जी, राशन, दवा, फल की दुकानें खुली रहेंगी. बैंक, इंश्योरेंस दफ्तर और एटीएम खुले रहेंगे. पेट्रोल पंप, सीएनजी पंप, गैस रिटेल खुले रहेंगे. अस्पताल, डिस्पेंसरी, क्लीनिक, नर्सिंग होम खुले रहेंगे. प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के दफ्तर खुले रहेंगे. इंटरनेट, ब्रॉडकास्ट और केबल सर्विस जारी रहेगी.

किस राज्य में कितने कोरोना वायरस से संक्रमित?
कोरोना वायरस से आंध्र प्रदेश में 7, बिहार में 4, छत्तीसगढ़ में 1, चंडीगढ़ में 6, दिल्ली में 29, गुजरात में 38, हरियाणा में 30, हिमाचल प्रदेश में 2, जम्मू-कश्मीर में 7, कर्नाटक में 41, केरल में 105, लद्दाख में 13, मध्य प्रदेश में 9, महाराष्ट्र में 112, मणिपुर में 1, ओडिशा में 2, पुदुचेरी में 1, पंजाब में 29, राजस्थान में 36, तमिलनाडु में 18, तेलंगाना में 39, उत्तर प्रदेश में 35, उत्तराखंड में 5 और पश्चिम बंगाल में 9 केस सामने आए हैं. अब तक 11 लोगों की मौत भी हो चुकी है.

ये भी पढ़ें: Coronavirus Lockdown: सोशल डिस्टेंसिंग की लक्ष्मण रेखा का इस तरह पालन कर रहे लोग

Fight Against COVID-19: दिल्‍ली सरकार जारी करेगी हेल्‍पलाइन नंबर, जरूरी होने पर दिए जाएंगे ई-पास

 
First published: March 25, 2020, 12:59 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading