COVID-19: कर्नाटक के कुछ हिस्सों में गहराया ऑक्सीजन संकट, अस्पतालों ने लगाई गुहार

लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन. (सांकेतिक फोटो)

लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन. (सांकेतिक फोटो)

Karnataka Oxygen Crisis: कलबुर्गी और बेलगावी में कुछ अस्पतालों के प्रबंधन ने कथित रूप से मरीजों से अपने साथ ऑक्सीजन सिलेंडर लेकर आने को कहा है.

  • Share this:

बेंगलुरु. राजधानी बेंगलुरु समेत कर्नाटक के कई हिस्सों में ऑक्सीजन संकट गहरा गया है और अस्पताल सार्वजनिक रूप से ऑक्सीजन की आपूर्ति में कमी को लेकर चिंता व्यक्त कर रहे हैं. पिछले दो दिनों के दौरान चामराजनगर जिले में कथित रूप से ऑक्सीजन की कमी के चलते कोविड-19 के 24 मरीजों की मौत की पृष्ठभूमि में यह स्थिति सामने आई है.



राज्य सरकार ने कहा कि मौतें ऑक्सीजन की कमी की वजह से नहीं हुई हैं, लेकिन उसने इस घटना की जांच का आदेश दिया है. सूत्रों के अनुसार कलबुर्गी और बेलगावी में कुछ अस्पतालों के प्रबंधन ने कथित रूप से मरीजों से अपने साथ ऑक्सीजन सिलेंडर लेकर आने को कहा है.



बेंगलुरु की आधी आबादी कोरोना पॉजिटिव लोगों के संपर्क में! कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग सर्वे में खुलासा



Youtube Video

कलबुर्गी के नवनियुक्त जिला प्रभारी मंत्री मुरूगेश निरानी ने (ऑक्सीजन की) किसी कमी से इनकार किया और कहा कि वह व्यक्तिगत रूप से स्थिति पर नजर रख रहे हैं. उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि आज जो तीन मौतें हुईं उनकी वजह ऑक्सीजन की कमी नहीं थी. बेलगावी के अस्पतालों से खबर है कि वे भी ऑक्सीजन की कमी से बड़ी मुश्किल में हैं. बेंगलुरु के कुछ मेडिकल सेंटरों ने भी कोविड-19 के गंभीर मरीजों के उपचार के लिए ऑक्सीजन की कमी को लेकर अपनी आवाज उठाई है.



येलहंका के चैतन्य मेडिकल सेंटर के एक अधिकारी ने कहा कि सोमवार को ऑक्सीजन संकट था जिसके तहत उन्हें कोविड के सभी मरीजों को अन्य अस्पतालों में पहुंचाना पड़ा. उन्होंने यह भी कहा कि उन्हें अब दो-तीन दिन के लिए ऑक्सीजन स्टॉक मिल गया है. यहां आर टी नगर के मेडाक्स अस्पताल ने भी ऑक्सीजन की कमी का मुद्दा उठाया है. इस बीच, बेंगलुरु (ग्रामीण) के सांसद डी के सुरेश ने भी शहर के राजेश्वरी मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन की कमी को लेकर चिंता व्यक्त की. राज्य में रोजाना कोविड-19 के 40,000 से अधिक मामले सामने आ रहे हैं.


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज