COVID-19: ऑक्सीजन ट्रांसपोर्ट को लेकर केंद्र का राज्यों को खास निर्देश, प्रशिक्षित ड्राइवर मुहैया कराने को कहा

ड्राइवरों के लिए खास वैक्सिनेशन ड्राइव शुरू की जा सकती है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

ड्राइवरों के लिए खास वैक्सिनेशन ड्राइव शुरू की जा सकती है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Coronavirus Oxygen Transport: मंत्रालय ने राज्यों को निर्देश दिए हैं कि स्किल्ड भारी वाहन लाइसेंस धारकों को 3 या 4 दिनों का शॉर्ट प्रोग्राम के तहत प्रशिक्षित किया जाय.

  • Share this:

नई दिल्ली. कोरोना महामारी संकट में देश के विभिन्न हिस्सों में ऑक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए सड़क, परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने राज्यों से कहा है कि वे ऐसे प्रशिक्षित ड्राइवर मुहैया कराए जो खतरनाक सामानों को ढ़ोने वाले वाहनों को चलाते हैं ताकि ऑक्सीजन का ट्रांसपोर्टेशन लगातार जारी रखा जा सके.


मंत्रालय ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को सुझाव दिया है कि वे ऐसे प्रशिक्षित ड्राइवरों का एक पूल तैयार करें और तत्काल 500 ऐसे प्रशिक्षित ड्राइवरों को उपलब्ध कराया जाय. इसके साथ ही अगले दो माह में ऐसे 2500 प्रशिक्षित ड्राइवरों की उपलब्धता बढ़ाए जाने को भी कहा गया है. मंत्रालय ने राज्यों को निर्देश दिए हैं कि स्किल्ड भारी वाहन लाइसेंस धारकों को 3 या 4 दिनों का शॉर्ट प्रोग्राम के तहत प्रशिक्षित किया जाय.


मंत्रालय द्वारा राज्यों के लिए जारी अन्य अहम निर्देश

1. ऐसे ड्राइवरों की सूची डिजिटल तकनीक के माध्यस से कराई जानी चाहिए ताकि इनका समय पर इस्तेमाल किया जा सके.
2. लिक्विड ऑक्सीजन वाहनों को चलाने वाले ड्राइवरों को राज्य प्राथमिकता के आधार पर वैक्सीन लगाने की व्यवस्था करे.

3. अगर ये ड्राइवर कोरोना से संक्रमित होते है, तो उन्हें अस्पतालों में भर्ती और इलाज के लिए भी प्राथमिकता दी जाय.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज