अपना शहर चुनें

States

कोरोनावायरस: विदेश से लौटे भारतीय इसलिए कर रहे हैं मोदी सरकार की तारीफ

घातक कोरोनावायरस के प्रसार के दौरान दिल्ली के एक ऑफिस में कर्मचारी की जांच करता सुरक्षाकर्मी (फोटो- PTI, अरुण शर्मा)
घातक कोरोनावायरस के प्रसार के दौरान दिल्ली के एक ऑफिस में कर्मचारी की जांच करता सुरक्षाकर्मी (फोटो- PTI, अरुण शर्मा)

जिस तरह वैश्विक महामारी (Pandemic) के मामलों में उछाल आया है, आज एयर इंडिया (Air India) का एक विशेष एयरक्राफ्ट 211 भारतीय छात्रों और 7 अन्य देशों के इटली में फंसे लोगों को निकालकर लाया. ऐसा कोरोना वायरस (Coronavirus) के चलते फ्लाइट कैंसिल होने के बाद किया गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 15, 2020, 9:44 PM IST
  • Share this:
(राखी बोस)
कोरोना वायरस (COVID-19) की चपेट में आज पूरी दुनिया है. इससे दुनियाभर में अभी तक लगभग 6000 से ज्‍यादा लोगों की मौत हो चुकी है जबकि डेढ़ लाख से ज्‍यादा लोग इससे प्रभावित हैं. भारत में कोरोना वायरस (Coronavirus) के मामले बढ़कर 107 को चुके हैं. हालांकि कोरोना को लेकर भारत के प्रयास की सोशल मीडिया पर जमकर तारीफ भी हो रही है.

रविवार को, COVID- 19 के कंफर्म मामले बढ़ गए. महाराष्ट्र (Maharashtra) में संक्रमण के मामलों में अचानक उछाल आने के बाद से संख्‍‍‍या बढ़कर 107 हो गई. जबकि इस वैश्विक महामारी (Pandemic) ने कई सरकारों को चिंता में डाल रखा है. भारत सरकार इसको लेकर कई तरह के उपाय कर रही है. सरकार द्वारा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डों पर स्थापित किया गए व्यापक स्क्रीनिंग सिस्टम की काफी सराहना भी हो रही है.

सरकार की सतर्कता से प्रभावित दिखे कई लोग
जिस तरह से वैश्विक महामारी के मामलों में उछाल आया है, आज एयर इंडिया (Air India) का एक विशेष एयरक्राफ्ट 211 भारतीय छात्रों और 7 अन्य देशों के इटली में फंसे लोगों को निकालकर लाया है. ऐसा कोरोना वायरस के चलते फ्लाइट कैंसिल होने के बाद किया गया.



और इतना ही नहीं, भारत सरकार के अधिकारी कथित तौर पर खुद संदिग्ध लोगों को यह जानने के लिए फोन कर रहे हैं कि उनमें संक्रमण के लक्षण दिख रहे हैं या नहीं. सरकार की इस सतर्कता से कई लोग प्रभावित दिखे, जिन्होंने इन कहानियों को सोशल मीडिया (Social Media) पर शेयर किया है.

एक महिला पत्रकार ने किसी शख्‍स का व्‍यक्तिगत अनुभव सोशल मीडिया पर शेयर किया. इसमें यह बताया गया है कि कैसे कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सरकार सिस्टमैटिक तरीके से काम कर रही है. इसके लिए वे संदिग्ध मरीजों के घर भी जा रहे हैं.



'सरकारी कर्मचारी अपने छुट्टी के दिनों में भी कर रहे हैं काम'
जिस महिला के अनुभव शेयर किए गए हैं, उनका नाम वीना है. उन्होंने दावा किया है कि वे अमेरिका से टोक्यो के रास्ते हाल ही में दिल्ली लौटी थीं. हालांकि दिल्ली आते ही एक हॉस्पिटल में उनकी जांच की गई थी, इसके बाद दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल और एयरपोर्ट अथॉरिटी (Airport Authority) के एक्सपर्ट्स की एक टीम ने उनके लौटने के चार दिनों के अंदर उन्हें फोन किया. उन्हें बताया गया कि हालांकि उन्हें फिलहाल वायरस से सुरक्षित पाया गया है. लेकिन फिर भी उन्हें दो हफ्ते के लिए खुद को घर में अकेला रखने की सलाह दी गई. उन्होंने लिखा है कि यह अविश्वसनीय है कि सरकारी कर्मचारी अपने छुट्टी के दिनों में भी काम कर रहे हैं ताकि संक्रमण न फैले.

यह भी पढ़ें: PM मोदी ने SAARC सदस्‍यों को किया एकजुट, भारत इमरजेंसी फंड में देगा $1 करोड़
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज