गृह मंत्रालय का निर्देश- अब 10 दिन तक बुखार न आने पर 17 दिन में खत्म कर सकते हैं क्वारंटाइन

गृह मंत्रालय का निर्देश- अब 10 दिन तक बुखार न आने पर 17 दिन में खत्म कर सकते हैं क्वारंटाइन
गृह मंत्रालय ने होम क्वारंटाइन के लिए नए दिशानिर्देश जारी किए हैं. (प्रतीकात्मक)

स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) ने कहा, ‘पृथक-वास में रह रहे मरीज लक्षण दिखने के 17 दिन बाद (या लक्षण ना होने पर जांच के लिए नमूने देने की तारीख) और 10 दिन तक बुखार ना आने पर अपना क्वारंटाइन समाप्त कर सकते हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्र सरकार (Central Government) ने सोमवार को कोरोना वायरस के हल्के लक्षण और बिना लक्षण वाले मरीजों के लिए क्वारंटाइन (Quarantine) के लिए नए दिशा-निर्देश जारी किए हैं. अब जांच के लिए नमूने देने की तारीख (जिनमें लक्षण नहीं दिखे उनके लिए) के 17 दिन बाद कोरोना वायरस की जांच कराए बिना अपना क्वारंटाइन समाप्त कर सकते हैं, अगर उन्हें 10 दिन में बुखार नहीं आया हो.

गृह मंत्रालय के नए संशोधित दिशा-निर्देशों में दोहराया गया है कि वे लोग, जिनके यहां खुद को अलग रखने की उचित सुविधा है, अपने परिवार के सदस्यों से दूर रहने के लिए क्वारंटाइन में रह सकते हैं. चिकित्सीय अधिकारी के लिए इन्हें हल्के या बिना लक्षण वाले मामले घोषित करना अनिवार्य है और नियमित रूप से जिला निगरानी अधिकारी को अपनी स्वास्थ्य संबंधी जानकारी देना भी जरूरी है.

17 दिन में खत्म कर सकते हैं क्वारंटाइन



संशोधित दिशा-निर्देशों के अनुसार, ‘पृथक-वास में रह रहे मरीज लक्षण दिखने के 17 दिन बाद (या लक्षण ना होने पर जांच के लिए नमूने देने की तारीख) और 10 दिन तक बुखार ना आने पर अपना क्वारंटाइन समाप्त कर सकते हैं. क्वारंटाइन का समय समाप्त होने के बाद जांच कराने (कोविड-19 की) की कोई आवश्यकता नहीं है.’
छुट्टी से पहले करानी होती है आरटी-पीसीआर जांच

गौरतलब है कि स्वास्थ्य मंत्रालय ने 9 मई को कोविड-19 मामलों के लिए अस्पताल से छुट्टी दिए जाने की नीति में बदलाव किया था. इन बदलावों के अनुसार कोरोना वायरस संक्रमित रोगियों में गंभीर बीमारी विकसित होती है या रोग प्रतिरोधक क्षमता बहुत कमजोर होती है, तो ऐसे मरीजों को अस्पताल से छुट्टी मिलने से पहले आरटी-पीसीआर जांच करानी होगी. कोविड-19 के हल्के और बहुत हल्के मामलों में लक्षणों के समाप्त होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दिए जाने से पहले जांच कराये जाने की जरूरत नहीं होगी.

अब तक के नियमों के अनुसार, किसी मरीज को तब छुट्टी दी जाती थी जब 14 दिन पर उसकी जांच रिपोर्ट ठीक आए और इसके बाद फिर 24 घंटे के अंतराल में एक बार फिर जांच में कोविड-19 नहीं होने की पुष्टि होनी चाहिए. छुट्टी दिए जाने के समय मरीज को दिशा-निर्देशों के अनुसार सात दिन घर में पृथक रहने को कहा जायेगा.

देश में कुल संक्रमितों की संख्या 67,152

केन्द्र से छुट्टी दिये जाने के बाद यदि मरीज में फिर से बुखार, खांसी या सांस लेने में दिक्कत संबंधी लक्षण सामने आते है तो वे कोविड देखभाल केन्द्र या राज्य हेल्पलाइन या 1075 पर संपर्क कर सकते हैं.

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार देश में पिछले 24 घंटे में रिकॉर्ड स्तर पर कोरोना वायरस संक्रमण के 4,213 मामले सामने आए हैं. जिससे सोमवार तक देश में कुल संक्रमित लोगों की संख्या 67,152 पर पहुंच गई. वहीं 97 लोगों की मौत के बाद कोरोना वायरस अब तक देश में 2,206 लोगों की जान ले चुका है.

ये भी पढ़ें-  Lockdown: गुजरात में ट्रेन रद्द होने पर हिंसक हुए मजदूर, तोड़े बस के शीशे और खिड़कियां
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज