कांग्रेस ने कोरोना के आंकड़ों को बताया डरावना, कहा- 'राजधर्म' का पालन करें पीएम मोदी

नई दिल्ली के एक शवदाह गृह में कोरोना से मरे एक व्यक्ति के अंतिम संस्कार की तैयारी करते उनके परिजन. (Reuters/19 Nov 2020)

नई दिल्ली के एक शवदाह गृह में कोरोना से मरे एक व्यक्ति के अंतिम संस्कार की तैयारी करते उनके परिजन. (Reuters/19 Nov 2020)

Coronavirus in India: मंत्रालय के सुबह आठ बजे तक के आंकड़ों के अनुसार, बीते 24 घंटे में 1,027 लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या 1,72,085 हो गई है जो 18 अक्टूबर, 2020 के बाद सबसे ज्यादा है.

  • Share this:

नई दिल्ली. कांग्रेस ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) पर कोविड-19 महामारी (COVID-19 Pandemic) की स्थिति से निपटने में लापरवाही बरतने और लोगों को उनके हाल पर छोड़ देने का आरोप लगाते हुए कहा कि अब उन्हें ‘राजधर्म’ का पालन करना चाहिए. पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला (Randeep Surjewala) ने यह दावा भी किया कि देश में कोविड रोधी टीके और दूसरे चिकित्सकीय उपकरणों की भारी कमी है, लेकिन सरकार के मंत्री सिर्फ विपक्षी नेताओं पर हमले बोलने में लगे हैं.



उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘कोरोना वायरस संक्रमण के आंकड़े डरावने हैं. यह अप्रत्याशित है. मोदी सरकार ने लोगों को उनके हाल पर छोड़ दिया है. उनकी तरफ से लापरवाही बरती जा रही है. एक साल का समय मिलने के बावजूद उसने इस महामारी से निपटने के लिए जरूरी प्रबंध नहीं किए.’’ सुरजेवाला ने दावा किया, ‘‘देश में आज कोविड रोधी टीके की भारी कमी है. सरकार इससे इनकार कर रही है और सवाल उठाने वाले विपक्षी नेताओं पर आक्रमण किया जा रहा है.’’



Youtube Video


उन्होंने कहा, ‘‘कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने विदेश निर्मित टीके को अनुमति देने की मांग की तो केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद और स्मृति ईरानी ने उन पर हमला बोल दिया, लेकिन राहुल गांधी के सुझाव देने के कुछ दिनों के भीतर ही प्रधानमंत्री की अगुआई में सरकार ने उनके सुझाव को स्वीकार कर लिया.’’ कांग्रेस महासचिव ने कहा कि सीबीएसई की परीक्षाओं को रद्द करने की कांग्रेस की मांग को लेकर भी सरकार ने पहले पार्टी पर हमला बोला, लेकिन बाद में सुझाव मान लिया.


एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, ‘‘हम जानते हैं कि कोरोना संकट से निपटने की बजाय प्रधानमंत्री चुनाव में व्यस्त हैं. उन्हें सारी चीजों से ऊपर उठकर राजधर्म का पालन करना चाहिए.’’ सुरजेवाला ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री से हम कहना चाहते हैं कि कोरोना संकट के मुद्दे पर कोई राजनीति नहीं हो सकती. यह ‘कोरोना वायरस बनाम हम सब’ की लड़ाई है.’’





देश में बुधवार को कोरोना वायरस संक्रमण के एक दिन में अब तक के सर्वाधिक 1,84,372 नए मामले सामने आए. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के बुधवार के आंकड़ों के मुताबिक, संक्रमण के कुल मामले अब 1,38,73,825 हो गए हैं, जबकि 13 लाख से अधिक लोग अब भी संक्रमण की चपेट में हैं. मंत्रालय के सुबह आठ बजे तक के आंकड़ों के अनुसार, बीते 24 घंटे में 1,027 लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या 1,72,085 हो गई है जो 18 अक्टूबर, 2020 के बाद सबसे ज्यादा है.


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज