Coronavirus: दिल्ली में आरटी-पीसीआर जांच की संख्या एंटीजन टेस्ट से पहली बार हुई ज़्यादा

दिल्ली में कोरोना का कहर
दिल्ली में कोरोना का कहर

Coronavirus: दिल्ली में 28 अक्टूबर के बाद से कोरोना वायरस के मामलों में बढ़ोतरी देखी गई है और संक्रमण के रोजाना सामने आने वाले नए मामलों की संख्या 28 अक्टूबर को पहली बार 5,000 के पार पहुंच गई थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 22, 2020, 2:21 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली में कोरोना वायरस (Coronavirus) वैश्विक महामारी को फैलने से रोकने के प्रयासों के तहत 3.7 लाख से अधिक लोगों का सर्वेक्षण किया गया. राष्ट्रीय राजधानी में ऐसा पहली बार हुई है जब आरटी-पीसीआर जांच की संख्या रैपिड एंटीजन जांच से अधिक हो गई है.दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले बढ़ने के बीच केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने चिकित्सकीय बुनियादी ढांचे को मजबूत करने और राष्ट्रीय राजधानी में कोविड-19 के मामलों में बढ़ोतरी से निपटने की नई रणनीति बनाने के कार्यों का नेतृत्व किया.

लगातार हो रहे हैं टेस्ट
गृह मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने कहा, ‘दिल्ली में पहली बार आरटी-पीसीआर जांचों की संख्या रैपिड एंटीजन जांचों से अधिक हो गई है.’ सूत्रों के अनुसार, शहर में आरटी-पीसीआर जांचों की संख्या शुक्रवार को रैपिड एंटीजन जांचों से अधिक हो गई.  डीआरडीओ अस्पताल में कुल 250 वेंटिलेटर मुहैया कराए गए हैं और उन्हें अस्पताल में लगाया जा रहा है.

घर-घर जाकर हो रही है जांच
शाह के निर्देश पर दिल्ली में घर-घर जाकर सर्वेक्षण शुरू कर दिया गया है और शुक्रवार तक 3,70,729 लोगों का सर्वेक्षण किया गया. प्रवक्ता ने बताया कि एम्स ने 207 अतिरिक्त जूनियर रेजिडेंट चिकित्सकों की भर्ती की प्रक्रिया आरंभ कर दी है.दिल्ली में संक्रमण के मामले बढ़ने के बीच 15 नवंबर को शाह की अध्यक्षता में उच्चस्तरीय बैठक में लिए गए 12 फैसलों के मद्देनजर ये कदम उठाए गए.



ये भी पढ़ें:- भारती सिंह के बाद पति हर्ष भी गिरफ्तार, 18 घंटे की पूछताछ के बाद हुए अरेस्ट

लगातार बढ़ रहे हैं केस
दिल्ली में 28 अक्टूबर के बाद से कोरोना वायरस के मामलों में बढ़ोतरी देखी गई है और संक्रमण के रोजाना सामने आने वाले नए मामलों की संख्या 28 अक्टूबर को पहली बार 5,000 के पार पहुंच गई थी. यह संख्या 11 नवंबर को 8,000 के पार पहुंच गई. दिल्ली में शनिवार को संक्रमण के 5,879 नए मामले सामने आए तथा 111 और लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 8,270 हो गई.दिल्ली में संक्रमण के मामलों में आई बढ़ोतरी का कारण त्योहारी सीजन, कोविड-19 संबंधी सुरक्षात्मक नियमों की अवहेलना और शहर में बढ़ते प्रदूषण को माना जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज