• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • देश के दो-तिहाई लोगों में कोरोना के खिलाफ एंटीबॉडी, 40 करोड़ आबादी पर अब भी खतरा: ICMR के डीजी डॉ भार्गव

देश के दो-तिहाई लोगों में कोरोना के खिलाफ एंटीबॉडी, 40 करोड़ आबादी पर अब भी खतरा: ICMR के डीजी डॉ भार्गव

कोरोना पाबंदी में राहत के बाद हिमाचल प्रदेश के पर्यटन स्थलों पर उमड़ी लोगों की भीड़. (सांकेतिक तस्वीर)

Coronavirus Sero Survey: डॉ बलराम भार्गव ने कहा, 'चौथे सीरो सर्वे में 6 से 17 साल के 28975 लोगों को शामिल किया गया था. इनमें से 62 फीसदी लोगों ने वैक्सीन नहीं ली थी, जबकि 24 फीसदी लोगों ने एक डोज और 14 फीसदी लोगों ने दोनों डोज लिया था.'

  • Share this:

नई दिल्ली. देश की 40 करोड़ आबादी को अब भी कोरोना वायरस से संक्रमित होने का खतरा है, जबकि दो-तिहाई लोगों में इस वायरस के खिलाफ एंटीबॉडी पाई गई है. भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के महानिदेशक डॉ. बलराम भार्गव ने हाल ही में हुए चौथे सीरो सर्वे के हवाले से मंगलवार को यह जानकारी दी.


भार्गव ने कहा, 'चौथे सीरो सर्वे में 6 से 17 साल के 28975 लोगों और 7252 स्वास्थ्यकर्मियों को शामिल किया गया था. इनमें से 62 फीसदी लोगों ने वैक्सीन नहीं ली थी, जबकि 24 फीसदी लोगों ने एक डोज और 14 फीसदी लोगों ने दोनों डोज लिया था.' उन्होंने बताया कि इस सर्वे में सीरो प्रीवलेंस 67 पर्सेंट पाया गया है.


कोरोना के नए मामलों का जिम्‍मेदार डेेल्‍टा वैरिएंट 100 से अधिक देशों तक पहुंचा


भार्गव ने बताया कि 85 फीसदी हेल्थ केयर वर्कर कोविड के शिकार हो चुके हैं. देश में कोरोना के मामले घटने और टीकाकरण के बावजूद उन्होंने अब भी लोगों को कोविड उपयुक्त व्यवहार को अपनाने को कहा है. गैर-जरूरी यात्रा करने से बचने की सलाह देते हुए उन्होंने कहा कि वही लोग यात्रा करें जो कोरोना रोधी वैक्सीन के दोनों डोज़ का ले चुके हैं.


कोरोना के सबसे ज्यादा केस के बाद भी ब्रिटेन हुआ अनलॉक, देखिए अब कैसी है लाइफ?


यह सीरो सर्वे 21 राज्यों के उन्हीं 70 जिलों में कराया गया, जहां पहले के तीन सीरो सर्वे हो चुके हैं. इस दौरान हर जिले के 10 गांवों या वार्डों से 40 लोगों के सैम्पल लिए गए. हर जिले से 26 साल तक की उम्र वाले 400 लोग इस सर्वे में शामिल हुए थे. वहीं, सर्वे में शामिल हर जिले और उप-जिले से 100 स्वास्थ्यकर्मियों का सैम्पल लिया गया.


महाराष्ट्र और केरल में क्यों बढ़ रहे हैं कोरोना वायरस के मामले, IMA अध्यक्ष ने बताई वजह


वहीं, नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) वी. के. पॉल ने सीरो सर्वे को एक उम्मीद की किरण बताया और कहा कि स्थानीय स्तर का यह डाटा सर्वमान्य है. हालांकि उन्होंने इस दौरान  सामाजिक, राजनीतिक और धार्मिक भीड़भाड़ के साथ ही गैर-जरूरी यात्रा से बचने की सलाह दी.  पॉल ने सभी से टीका लगवाने को भी कहा.




इस बीच, भारत में 125 दिन में कोविड-19 के एक दिन में सबसे कम 30,093 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमण के मामले बढ़कर 3,11,74,322 हो गए. केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से मंगलवार सुबह आठ बजे जारी किए गए अपडेट आंकड़ों के अनुसार, देश में 374 और लोगों की संक्रमण से मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 4,14,482 हो गई, पिछले 111 दिन में सामने आए ये संक्रमण के सबसे कम मामले हैं.


वहीं, उपचाराधीन मरीजों की संख्या भी कम होकर 4,06,130 हो गई है, जो पिछले 117 दिन में सबसे कम है. यह कुल मामलों के 1.30 प्रतिशत हैं. पिछले 24 घंटे में उपचाराधीन मरीजों की संख्या में कुल 15,535 कमी आई है. मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर 97.37 प्रतिशत है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज