कोरोना के लक्षणों के बाद भी रिपोर्ट निगेटिव आए तो जानें किन बातों का रखना है ध्‍यान?

कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आए तो इन बातों का रखना चाहिए विशेष ख्‍याल.

कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आए तो इन बातों का रखना चाहिए विशेष ख्‍याल.

अगर किसी व्यक्ति में कोरोना (Corona) के लक्षण हो लेकिन टेस्ट रिपोर्ट् निगेटिव (Corona Negative Report) आ रही है तो इसे मेडिकल टर्म में 'फॉल्स निगेटिव' कहा जाता है. अगर लक्षण ज्यादा गंभीर दिख रहे हैं तो बिना देरी किए HRCT यानी हाई रिजॉलूशन सीटी स्कैन टेस्ट कराना चाहिए.

  • Share this:
नई दिल्ली. देश में कोरोना (Corona) का संक्रमण तेजी से लोगों को अपनी चपेट में ले रहा है. हालात ये हैं कि कोरोना का नया स्‍ट्रेन आरटीपीसीआर (RTPCR) की टेस्ट रिपोर्ट (Test Report) को भी चकमा देने लगा है. कई बार मरीज कोरोना पॉजिटिव होता है लेकिन टेस्‍ट रिपोर्ट निगेटिव (Corona Negative Report) आ जाती है. ऐसे में अगर आपको कोरोना के लक्षण दिखाई पड़ रहे हैं तो कुछ बातों का ध्‍यान रखने की बेहद जरूरत है.

अगर किसी व्यक्ति में कोरोना के लक्षण हो लेकिन टेस्ट रिपोर्ट् निगेटिव आ रही है तो इसे मेडिकल टर्म में 'फॉल्स निगेटिव' कहा जाता है. आरटीपीसीआर का टेस्‍ट करते समय नाक और गले से स्वैब लिया जाता है. ऐसे में अगर स्वैब सही तरीके से न लिया जाए तो टेस्‍ट भी गलत आता है. एक्सपर्ट्स का कहना है कि वायरस में जितनी तेजी से बदलाव देखने को मिल रहा है, उसके कारण भी टेस्‍ट रिपोर्ट में दिक्‍कत आ रही है. ऐसे में कोरोना के लक्षण दिखने के 2 से 7 दिनों के बीच टेस्ट कराना चाहिए, जिससे फॉल्स रिपोर्ट की संभावना कम हो जाती है.

Youtube Video


इसे भी पढ़ें :- कोविड-19 टास्‍क फोर्स की सलाह, कोरोना महामारी रोकने के लिए लॉकडाउन लगाना जरूरी: रिपोर्ट
शरीर के इन लक्षणों को न करें नजरअंदाज?

अगर किसी को लॉस ऑफ स्मेल और लॉस ऑफ टेस्ट यानी गंध या स्वाद में से कोई एक या दोनों महसूस नहीं हो रहे लेकिन रिपोर्ट निगेटिव है तो इस बात को नजरअंदाज बिल्‍कुल भी नहीं करना चाहिए. लॉस ऑफ स्मेल और लॉस ऑफ टेस्ट को कोरोना के अहम लक्षण माना गया है. यही नहीं अगर दवा लेने के बाद भी पिछले 2-3 दिनों से बुखार नहीं उतर रहा और थकान महसूस हो रही है, गले में लगातार खराश हो तो भी सतर्क रहने की जरूरत है.





इसे भी पढ़ें :- Covid-19: कोरोना ने मचाया कोहराम, 24 घंटे में रिकॉर्ड 3689 मरीजों की मौत

RT-PCR में निगेटिव रिपोर्ट हो तो क्या करें?

अगर किसी को कोरोना के लक्षण दिखाई दे रहे हैं लेकिन कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आई है तो भी 5 से 7 दिन के लिए आइसोलेट हो जाना चाहिए. अगर आप खुद को कोरोना निगेटिव मानकर बाकी लोगों के संपर्क में आएंगे तो कई बार दूसरे भी आपके संपर्क में आकर बीमार पड़ सकते हैं. ऐसे समय में ऑक्सिजन लेवल समय समय पर जांचते रहना चाहिए. 95 से ऊपर ऑक्सिजन लेवल सामान्य माना जाता है. अगर लक्षण ज्यादा गंभीर दिख रहे हैं तो बिना देरी किए HRCT यानी हाई रिजॉलूशन सीटी स्कैन टेस्ट कराना चाहिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज