नगालैंड विधानसभा के सत्र में शामिल होने के लिए कोविड-19 की जांच रिपोर्ट होनी अनिवार्य

नगालैंड विधानसभा के सत्र में शामिल होने के लिए कोविड-19 की जांच रिपोर्ट होनी अनिवार्य
नगालैंड के एक दिवसीय विधानसभा सत्र में भाग लेने के लिए कोरोना जांच रिपोर्ट का होना जरूरी होगा (News18 क्रिएटिव)

बयान में कहा गया है कि नागरिक सचिवालय (civil secretariat) से चर्चा के बाद विधानसभा सचिवालय (assembly secretariat) ने सभी की जांच (testing) के लिए आवश्यक प्रबंध किये है.

  • Share this:
कोहिमा. नगालैंड (Nagaland) में सभी विधायकों और विधानसभा सचिवालय के कर्मचारियों (legislators and assembly secretariat staff) को कोविड-19 (COVID-19) के लिए अनिवार्य रूप से जांच (mandatory test) करानी होगी और राज्य विधानसभा के 30 जुलाई को आयोजित होने वाले एक-दिवसीय सत्र (one-day session) में शामिल होने के लिए रिपोर्ट साथ में लानी होगी. एक आधिकारिक बयान में यह जानकारी दी गई है. विधानसभा आयुक्त और सचिव assembly commissioner and secretary) पी जे एंटनी द्वारा शनिवार को जारी बयान में कहा गया कि विधानसभा अध्यक्ष शारिंगन लोंगकुमर ने फैसला किया है कि परिसर में आने वाले मंत्रियों, सलाहकारों, विधायकों और सचिवालय के अधिकारियों एवं कर्मचारियों सहित सभी लोगों को कोविड-19 की जांच (Covid-19 Testing) करानी होगी और रिपोर्ट अपने साथ लानी होगी.

बयान में कहा गया है कि नागरिक सचिवालय (civil secretariat) से चर्चा के बाद विधानसभा सचिवालय ने सभी की जांच के लिए आवश्यक प्रबंध किये है. विधानसभा परिसर (assembly premises) के आसपास भीड़ से बचने के लिए, अध्यक्ष ने यह भी निर्देश दिया कि सदस्य केवल अपने चालकों और एक सुरक्षाकर्मी (drivers and one security guard) के साथ आ सकते हैं. विधानसभा सत्र को कवर करने वाले पत्रकारों (Journalsits) को भी कोरोना वायरस की जांच करानी होगी और सत्र में शामिल होने के लिए रिपोर्ट साथ में लानी होगी.

नगालैंड के दीमापुर जिले में आठ दिवसीय लॉकडाउन शुरू
कोहिमा, 26 जुलाई (भाषा) कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए नगालैंड के वाणिज्यिक केंद्र दीमापुर में रविवार से आठ दिवसीय लॉकडाउन शुरू हो गया है. जिला कार्य बल के अधिकारियों ने यह जानकारी दी.
स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि राज्य में कोरोना वायरस के कुल 1,339 मामले हैं, जिनमें से सर्वाधिक 527 मामले दीमापुर जिले में हैं. इसके बाद कोहिमा में 334 मामले हैं. कोहिमा जिला प्रशासन ने राज्य की राजधानी में 25 जुलाई से सात दिनों के लॉकडाउन की घोषणा की थी.



जिले में दो अगस्त तक जारी रहेगा लॉकडाउन
दीमापुर में आज लॉकडाउन की वजह से सड़कें खाली रहीं और दुकानें बंद रहीं. चिकित्सा आपात स्थिति में लोगों की जरुरतों को पूरा करने के लिए कुछ इलाकों में कुछ दवा दुकान और अस्पताल खुले रहे.

यह भी पढ़ें: कर्नाटक- बकरीद पर सामूहिक नमाज नहीं, मस्जिदों में केवल 50 लोगों की अनुमति

लॉकडाउन के दायरे से बाहर रखे गये सरकारी कार्यालय, बैंक और मेडिकल क्लीनिक आज रविवार होने के कारण बंद रहे. जिले में कुल दो अगस्त तक लॉकडाउन जारी रहेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading