Assembly Banner 2021

नई चिंता: रिपोर्ट में दावा- देश के ये 3 राज्य हो सकते हैं अगले कोविड हॉट स्पॉट

ये आंकड़े महामारी की दूसरी लहर की ओर इशारा कर रहे हैं. (सांकेतिक तस्वीर: Shutterstock)

ये आंकड़े महामारी की दूसरी लहर की ओर इशारा कर रहे हैं. (सांकेतिक तस्वीर: Shutterstock)

Coronavirus in India: एनालिसिस में राज्य और जिला स्तर का स्टेटिस्टिक्स डेटा बताता है कि पूर्वी इलाकों के मुकाबले देश के पश्चिमी इलाकों में मामले ज्यादा तेजी से बढ़ रहे हैं. महाराष्ट्र (Maharashtra) में हालात बेहद चिंताजनक बने हुए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 19, 2021, 11:38 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) मरीजों के आंकड़े लगातार बढ़ रहे हैं. इसी बीच एक डराने वाली खबर सामने आई है. महाराष्ट्र के अलावा देश के तीन और राज्य कोविड-19 (Covid-19) हॉटस्पॉट (Hotspot) के तौर पर उभरते हुए नजर आ रहा हैं. इन राज्यों से मिल रहे कोविड के आंकड़े डराने वाले हैं. रोज मिल रहे मरीजों के अलावा देश में पॉजिटिविटी दर (Positivity Rate) में भी खासा इजाफा देखा गया है.

हिंदुस्तान टाइम्स का एनालिसिस बताता है कि पंजाब, हरियाणा और मध्य प्रदेश तीन राज्यों में स्थिति खराब हो रही है. एनालिसिस के मुताबिक, इन तीनों राज्यों पर बीमारी का अगला हॉटस्पॉट बनने का खतरा मंडरा रहा है. देश के नए हॉटस्पॉट का पता करने के लिए 20 ज्यादा आबादी वाले इलाकों का डेटा लिया गया था. इस दौरान रिपोर्ट में तीन बातों- बढ़ते पॉजिटिविटी रेट, बढ़ते रोज के मामले और प्रति 10 लाख लोगों पर कम टेस्टिंग को शामिल किया गया था.

एनालिसिस में राज्य और जिला स्तर का स्टेटिस्टिक्स डेटा बताता है कि पूर्वी इलाकों के मुकाबले देश के पश्चिमी इलाकों में मामले ज्यादा तेजी से बढ़ रहे हैं. महाराष्ट्र में हालात बेहद चिंताजनक बने हुए हैं. देश के कई राज्यों में सरकार कोविड नियम कड़े कर रही है. कई जिलों में नाइट कर्फ्यू की घोषणा की जा चुकी है. हाल ही में गुजरात सरकार ने राज्य के 8 बड़े शहरों में स्कूलों में जारी ऑफलाइन क्लासेज 10 अप्रैल तक बंद करने का फैसला लिया है.



यह भी पढ़ें: Coronavirus: मौसमी बीमारी बन सकता है कोरोना वायरस, कई वर्षों तक रहेगा खतरा- UN
इन तीन राज्यों में खतरे की घंटी
तीन राज्यों में सबसे ज्यादा चिंतित करने वाले हालात पंजाब के हैं. बीते 30 दिनों में राज्य में रोज मिल रहे मामलों में 531 फीसदी से इजाफा हुआ है. वहीं, इस दौरान साप्ताहिक पॉजिटिविटी दर 4.7 फीसदी पॉइंट तक बढ़ गई है. देश में महाराष्ट्र के अलावा दूसरी सबस ऊंची बढ़त है. पंजाब और महाराष्ट्र के बाद हरियाणा में मामले बढ़ने की दर सबसे ज्यादा है.

हरियाणा में बीते 30 दिनों में 398 फीसदी की दर से मामले बढ़े हैं. यहां औसत पॉजिटिविटी दर 2.2 फीसदी पर है. मध्य प्रदेश में रोज मिल रहे मामलों की दर 277 फीसदी पर पहुंच गई है. यहां पॉजिटिविटी रेट 3.3 प्रतिशत बढ़ गया है. मध्य प्रदेश में टेस्टिंग दर भी परेशान करने वाली है. यहां प्रति 10 लाख लोगों पर 191 टेस्ट हुए हैं.

बीते 30 दिनों में भारत में कोविड-19 के नए मामले सात दिनों में औसत 140 फीसदी की दर से बढ़े हैं. ये आंकड़े महामारी की दूसरी लहर की ओर इशारा कर रहे हैं. इन चार राज्यों के अलावा आंध्र प्रदेश, दिल्ली और गुजरात के आंकड़े चिंतित करने वाले हैं. इनके अलावा केरल, बिहार और ओडिशा में कोविड मामलों का सात दिनों का औसत गिरा है. बीते एक महीने में देश के केवल इन्हीं राज्यों में मामले का बढ़ना कम हुआ है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज