Corona Train Guidelines: क्या ट्रेन में चढ़ने से पहले करवाना होगा कोरोना टेस्ट? जानें हर सवाल का जवाब

रेलवे ने चलाई स्पेशल ट्रेन

रेलवे ने चलाई स्पेशल ट्रेन

Corona Train Guidelines: लोग जानना चाह रहे हैं कि क्या भारत सरकार कोरोना के चलते कुछ ट्रेनों को भी रद्द करेगी? आईए एक नजर डालते हैं रेल यात्रा से जुड़े उन तमाम सवालों पर जिसका जवाब आप जानना चाहते हैं...

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 11, 2021, 3:28 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देशभर में इस वक्त कोरोना वायरस (Coronavirus) की दूसरी लहर से अफरातफरी मची है. कोरोना के डर से कई लोग फ्लाइट से सफर करने से कतरा रहे हैं. खबरें आईं कि कई लोगों ने अपना टिकट भी कैंसिल करवा लिया, लिहाजा एयरलाइंस को आखिरी मौके पर कई फ्लाइट्स रद्द करनी पड़ी. इसकी एक वजह कोरोना संक्रमण पर लगाम के लिए कई जगह दोबारा लॉकडाउन लगाने पर चल रही चर्चा है, तो वहीं दूसरी वजह विभिन्न राज्यों में दूसरे राज्य से आने वाले लोगों के लिए तय किए गए अलग-अलग नियम... मसलन महाराष्ट्र से दिल्ली आने वाले विमान यात्रियों के लिए निगेटिव RT-PCR रिपोर्ट को अनिवार्य कर दिया गया है, जो कि 72 घंटे से ज्यादा पुरानी नहीं होनी चाहिए. ऐसे में हर किसी के मन में ट्रेन यात्रा (Train) को लेकर भी कई सवाल उठ रहे हैं. लोग जानना चाह रहे हैं कि क्या सरकार ने ट्रेन में सफर के लिए या कहीं दूसरे राज्य जानें के लिए क्या कोई नया नियम तय किया है?

राहत की खबर ये है कि रेलवे के मुताबिक ट्रेन सेवाओं को रोकने या ट्रेनें कम करने की फिलहाल उसकी कोई योजना नहीं है. इसके अलावा रेलवे ने ये भी कहा है कि यात्रियों की जरूरत को देखते हुए और अधिक ट्रेनें चलाई जा सकती हैं. आईए एक नजर डालते हैं रेल यात्रा से जुड़े उन तमाम सवालों पर जिसका जवाब आप जानना चाहते हैं...

  • क्या ट्रेन में चढ़ने के लिए कोरोना टेस्ट की निगेटिव रिपोर्ट जरूरी है?


    रेलवे की तरफ से फिलहाल ऐसी कोई गाइडलाइन नहीं है. रेलवे ने सिर्फ इतना कहा है कि हर यात्री के लिए यात्रा के दौरान मास्क पहनना जरूरी है. रेलवे ने कहा है कि यात्रियों को हालिया कोविड-19 गाइडलाइंस और राज्‍य सरकारों के प्रोटोकॉल्‍स का ही पालन करना है. यानी अगर राज्य सरकार ट्रेन से उतरने के बाद कोविड टेस्ट की रिपोर्ट मांगती है तो उन्हें दिखाना होगा. लेकिन फिलहाल किसी भी राज्य ने ऐसी कोई गाइडलाइन नहीं बनाई है. रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष सुनीत शर्मा ने यात्रियों से कोरोना वायरस से संक्रमित ना होने की पुष्टि करने वाली रिपोर्ट मांगने की बात भी खारिज कर दी है.

  • क्‍या कोरोना बढ़ने की वजह से ट्रेनों की संख्या कम की जाएंगी?


    रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष सुनीत शर्मा ने यात्रियों को आश्वासन दिया कि ट्रेनों की कोई कमी नहीं होगी और रेलवे ट्रेनों की मांग बढ़ते ही अतिरिक्त ट्रेनों की व्यवस्था करेगा. उन्होंने कहा, ‘रेल सेवाओं को रोकने या ट्रेनें कम करने की कोई योजना नहीं है. जितनी जरूरत होगी, हम उतनी ट्रेनें चलाएंगे. परेशानी की कोई बात नहीं है. गर्मियों में यात्रियों की संख्या सामान्य है और भीड़ कम करने के लिए हमने पहले ही अतिरिक्त ट्रेनों की घोषणा कर दी है.’


  • क्या कोरोना के चलते प्लेटफॉर्म टिकटों की बिक्री बंद हो गई है?


    जी हां. कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए भारतीय रेलवे ने भी कई रेलवे स्टेशन पर प्लेटफॉर्म टिकट की बिक्री पर रोक लगा दी है. रेलवे ने ये निर्णय स्टेशन पर भीड़ ना हो इस कारण लिया है. सेंट्रल रेलवे ने मुंबई सीएसएमटी सहित लंबी दूरी के अपने छह स्टेशनों पर प्लेटफॉर्म टिकटों की बिक्री तत्काल प्रभाव से बंद कर दी है. मध्य रेलवे के मुख्य प्रवक्ता शिवाजी सुतार ने कहा कि मुंबई CSMT के अलावा, LTT, कल्याण, ठाणे, दादर और पनवेल स्टेशनों पर प्लेटफार्म टिकट जारी करना बंद कर दिया है जहां से लंबी दूरी की ट्रेनें चलती हैं.


  • क्या फिर से चलाई जाएंगी श्रमिक स्पेशल ट्रेनें?


    भारतीय रेलवे के सेंट्रल रेलवे जोन ने इस बारे में ट्वीट करके जानकारी दी है. रेलवे ने लिखा है कि फिलहाल रेलवे ने श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाने का कोई प्लान नहीं बनाया है. सेंट्रल रेलवे ने ट्वीट में लिखा है कि सोशल मीडिया पर यह जानकारी गलत फैलाई गई है कि रेलवे श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चला रहा है. रेलवे ने कहा कि श्रमिक स्पेशल ट्रेनें नहीं चलाई जा रहीं हैं, ना ही चलाने की कोई योजना है. रेलवे की ओर से सिर्फ कुछ रूटों पर स्पेशल ट्रेनें चलाई जा रही हैं. कृपया यात्री किसी भी तरह की अफवाहों में न आए.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज