अपना शहर चुनें

States

भारत में कोरोना के 14 हजार से ज्यादा नए मामले, मरीजों के ठीक होने की दर 97% से अधिक

कोरोना वायरस की वजह से मरे एक डॉक्टर के चारो ओर सुरक्षा ड्रेस के साथ खड़े लोग। (रॉयटर्स)
कोरोना वायरस की वजह से मरे एक डॉक्टर के चारो ओर सुरक्षा ड्रेस के साथ खड़े लोग। (रॉयटर्स)

Coronavirus Pandemic: भारतीय चिकित्सा अनुसांधन परिषद (आईसीएमआर) के अनुसार, 20 फरवरी तक देशभर में कुल 21,09,31,530 नमूनों की जांच हुई है.

  • भाषा
  • Last Updated: February 21, 2021, 12:22 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश में कोविड-19 के 14,264 नए मामले सामने आने के साथ ही संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 1,09,91,651 हो गए. लगातार चौथे दिन नए दैनिक मामलों में वृद्धि दर्ज की गई है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा रविवार को अपडेट किए गए आँकड़ों से यह जानकारी सामने आई है.

सुबह आठ बजे तक के आँकड़ों के अनुसार, संक्रमण से 90 और मृत्यु होने से देश में इस महामारी में मरने वालों की संख्या बढ़कर 1,56,302 हो गई. बीमारी से ठीक हो चुके लोगों की संख्या बढ़कर 1,06,89,715 हो गई है, जिससे देश में कोविड-19 मरीजों के ठीक होने की दर 97.25 प्रतिशत हो गई है. वहीं, मृत्यु दर 1.42 प्रतिशत है. देश में कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या 1.5 लाख के नीचे बनी हुई है.

आँकड़ों के अनुसार, देश में अभी कोरोना वायरस संक्रमण के उपचाराधीन मरीजों की संख्या 1,45,634 है, जो कुल मामलों का 1.32 प्रतिशत है. देश में 29 जनवरी को 18,855 नए दैनिक मामले सामने आए थे. भारत में कोविड-19 के मामले सात अगस्त को 20 लाख के आंकड़े को पार कर गए थे, जबकि 23 अगस्त को 30 लाख, पांच सितंबर को 40 लाख और 16 सितंबर को 50 लाख का आँकड़ा पार किया था। 28 सितंबर को यह 60 लाख के पार चला गया, जबकि 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख, 20 नवंबर को 90 लाख और 19 दिसंबर को एक करोड़ का आंकड़ा पार किया था.



भारतीय चिकित्सा अनुसांधन परिषद (आईसीएमआर) के अनुसार, 20 फरवरी तक देशभर में कुल 21,09,31,530 नमूनों की जांच हुई है. देश में बीमारी से जान गंवाने वाले 90 और मरीजों में 40 महाराष्ट्र के, 13 केरल के और 8 पंजाब के हैं.

देश में अब तक कुल 1,56,302 मौतें हुई हैं, जिनमें 51,753 महाराष्ट्र में हुई है, जबकि तमिलनाडु में 12,457, कर्नाटक में 12,292, दिल्ली में 10,898, पश्चिम बंगाल में 10,246, उत्तर प्रदेश में 8,714 और आंध्र प्रदेश में 7,167 मौतें हुई हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय ने जोर देकर कहा कि 70 प्रतिशत से अधिक मौतें अन्य बीमारियों के कारण हुईं. मंत्रालय ने अपनी वेबसाइट पर कहा, 'हमारे आँकड़ों का आईसीएमआर के आँकड़ों के साथ मिलान किया जा रहा है.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज