Assembly Banner 2021

1 मार्च से किसको, कैसे और कितने में लगेगा कोरोना टीका, जानें हर सवाल का जवाब

देश में वैक्सीनेशन का दूसरा चरण एक मार्च से शुरू होगा (सांकेतिक तस्वीर)

देश में वैक्सीनेशन का दूसरा चरण एक मार्च से शुरू होगा (सांकेतिक तस्वीर)

Corona vaccine: देश में इस समय 10,000 से ज्यादा प्राइवेट अस्पताल आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन औषधि योजना के तहत पैनल पर हैं जबकि 687 प्राइवेट अस्पताल सीजीएचएस के पैनल पर हैं. इन सब में टीकाकरण किया जा सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 27, 2021, 11:55 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश में 1 मार्च से आम आबादी को कोरोना का टीका लगने का काम शुरू हो जाएगा. केंद्र सरकार के आदेश के मुताबिक देश के दस हज़ार सरकारी केंद्रों पर मुफ्त टीका लगाया जाएगा, जहां 60 साल से ऊपर का कोई भी व्यक्ति या फिर 20 तरह की दूसरी बीमारियों से पीड़ित व्यक्ति टीका लगवा सकेगा. देश में करीब 20 हज़ार निजी केंद्रों पर भी टीका लगाया जाएगा. केंद्र सरकार ने इसके लिए ₹250 प्रति डोज़ की अधिकतम तय कर दी है.

देश में इस समय 10,000 से ज्यादा प्राइवेट अस्पताल आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन औषधि योजना के तहत पैनल पर हैं जबकि 687 प्राइवेट अस्पताल सीजीएचएस के पैनल पर हैं. इन सब में टीकाकरण किया जा सकता है. प्राइवेट अस्पतालों की लिस्ट स्वास्थ्य मंत्रालय की वेबसाइट पर भी अपलोड कर दी गई है. इन सबके अलावा सरकारी मेडिकल कॉलेज, जिला अस्पताल, सब डिविजनल हॉस्पिटल, CHC, PHC में भी अब टीका लगाया जा सकेगा.

60 साल के लोगों को दिखाना होगा पहचान पत्र
केंद्र सरकार ने निजी अस्पतालों के लिए प्रति टीका की कीमत अधिकतम 250 रुपये तय कर दी है. यानी इससे ज्यादा कीमत कोई निजी अस्पताल नहीं ले सकेगा. चूंकि टीके की दो डोज लगनी है. यानी की कुल 500 रुपये अधिकतम दो डोज के लिए जा सकेंगे. 60 से ऊपर के लोगों को केवल अपना पहचान पत्र दिखाना होगा जिससे उनकी उम्र कंफर्म हो जाएगी और टीका लग जाएगा.
गंभीर बीमारी वाले लोगों को देना होगा फॉर्म


जबकि 45-59 वर्ष के पुरानी गंभीर बीमारी वाले लोगों को एक फॉर्म देना होगा. इस फॉर्म में रजिस्टर्ड मेडिकल प्रैक्टिशनर से ये प्रमाणित कराना होगा कि 20 पुरानी गंभीर बीमारियों में से इस व्यक्ति को कम से कम कोई एक बीमारी है. सरकार ने इसमें 20 बीमारियों को शामिल किया है. इनमें किडनी, लीवर, हार्ट फेलियर सहित अन्य कई बीमारियों को शामिल की गई हैं.

ये भी पढ़ेंः- 70% स्वास्थ्यकर्मियों को दी गई कोरोना वैक्सीन, टीकाकरण का दूसरा चरण 1 मार्च से: स्वास्थ्य मंत्रालय

Youtube Video


यही नहीं अब रजिस्ट्रेशन करवाने के 3 तरीके होंगे. पहला, पहले से रजिस्ट्रेशन करवा कर फिर टीका लगवाने जाएं. दूसरा, ऑन साइट रजिस्ट्रेशन यानी मौके पर ही जाकर रजिस्ट्रेशन करवाएं और टीका लगवा सकते हैं. तीसरा, अधिकारियों की मदद से ग्रुप में रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज