राजस्थान, पंजाब सहित 4 राज्य 1 मई से नहीं शुरू कर पाएंगे वैक्सीनेशन, जानिए क्या बताई वजह

असम के तेजपुर में एक महिला स्वास्थ्यकर्मी को कोरोना टीका देती एक नर्स. (पीटीआई फाइल फोटो)

असम के तेजपुर में एक महिला स्वास्थ्यकर्मी को कोरोना टीका देती एक नर्स. (पीटीआई फाइल फोटो)

India Coronavirus News: देश में पिछले 24 घंटे में कोविड-19 के 3,52,991 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 1,73,13,163 हो गई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 26, 2021, 12:49 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश में कोरोना वायरस के खिलाफ 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों का टीकाकरण अभियान एक मई से शुरू होगा, लेकिन चार राज्यों ने इसमें अपनी असमर्थता जाहिर करते हुए कहा है कि उनके पास वैक्सीन नहीं है और इसलिए वे तय तारीख में वैक्सीनेशन की प्रक्रिया शुरू नहीं कर पाएंगे. ये सभी चार राज्य कांग्रेस शासित हैं.

टीकाकरण को एक मई से आरंभ करने को लेकर राजस्थान ने कहा कि कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड की निर्माता कंपनी सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया ने 15 मई से पहले वैक्सीन की आपूर्ति करने में अपनी असमर्थता जताई है. प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा ने कहा, 'हमसे कहा गया था कि वैक्सीनेशन को लेकर सीरम इंस्टिट्यूट से बात करें. वैक्सीन निर्माता कंपनी ने कहा है कि केंद्र सरकार से उसे जो ऑर्डर मिले हैं, उसकी आपूर्ति के लिए उन्हें 15 मई तक का समय चाहिए और इसीलिए वे हमें वैक्सीन देने में फिलहाल असमर्थ हैं.'

रघु शर्मा ने वैक्सीन कंपनी से खरीद प्रक्रिया को लेकर केंद्र पर सवाल उठाए और कहा कि यदि कंपनियों को पहले केंद्र सरकार को वैक्सीन की आपूर्ति करनी है, तो फिर राज्य सरकारें जो कि सीधे कंपनी से वैक्सीन खरीदने की इच्छुक है, उनके लिए क्या प्रक्रिया होगी. उन्होंने कहा कि राजस्थान में 18 से 45 वर्ष के आयु वर्ग में करीब 3.13 करोड़ लोग, ऐसे में इनका टीकाकरण कैसे संभव है? राजस्थान के साथ ही पंजाब, छत्तीसगढ़ और झारखंड की सरकार ने भी एक मई से टीकाकरण को लेकर अपनी चिंता जाहिर की है और कहा है कि उनके यहां वैक्सीन की मात्रा काफी कम है. आपको बता दें कि छत्तीसगढ़, पंजाब और राजस्थान की सत्ता कांग्रेस के हाथों में है, जबकि झारखंड में झामुमो के साथ कांग्रेस की गठबंधन सरकार है.


दूसरी ओर, देश में पिछले 24 घंटे में कोविड-19 के 3,52,991 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 1,73,13,163 हो गई, जबकि उपचाराधीन मरीजों की संख्या 28 लाख को पार कर गई है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह जानकारी दी. मंत्रालय द्वारा सोमवार सुबह आठ बजे तक अपडेट की गई जानकारी के अनुसार, संक्रमण से 2,812 लोगों की मौत के बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 1,95,123 हो गई है.

संक्रमण के मामलों में तेज वृद्धि के साथ ही उपचाराधीन रोगियों की संख्या बढ़कर 28,13,658 हो गई है जो कुल संक्रमितों का 16.25 प्रतिशत है, जबकि कोविड-19 से मुक्त होने की राष्ट्रीय दर गिरकर 82.62 प्रतिशत हो गई है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि संक्रमण से उबरने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 1,43,04,382 हो गई है. मृत्यु दर गिरकर 1.13 प्रतिशत हो गई है.

(इनपुट भाषा से भी)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज