अपना शहर चुनें

States

कोरोना वैक्‍सीन के 5 करोड़ डोज तैयार, उम्मीद है जल्द मिलेगी मंजूरी: सीरम इंस्टीट्यूट

अदार पूनावाला ने उम्मीद जताई कि सरकार जल्द ही कोरोना वैक्सीन को मंजूरी दे सकती है. (फोटो साभार-Firstpost)
अदार पूनावाला ने उम्मीद जताई कि सरकार जल्द ही कोरोना वैक्सीन को मंजूरी दे सकती है. (फोटो साभार-Firstpost)

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (Serum Institute of India) ने कोरोना वायरस वैक्सीन के आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी के लिए केंद्र सरकार के पास आवेदन कर रखा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 29, 2020, 12:29 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (Serum Institute of India) के सीईओ अदार पूनावाला (Adar Poonawalla) ने सोमवार को न्‍यूज एजेंसी एएनआई से ANI से बातचीत में कहा कि कुछ दिनों में कोरोना वायरस वैक्सीन (Coronavirus Vaccine) के इस्तेमाल की मंजूरी मिल जाएगी. पूनावाला ने बताया कि कंपनी ने पहले से 4 से 5 करोड़ कोविशील्ड वैक्सीन (Covishield Vaccine) की डोज तैयार कर रखी हैं. उन्होंने कहा कि ये केंद्र सरकार पर निर्भर करेगा कि उन्हें वैक्सीन की कितनी मात्रा और कितनी जल्दी चाहिए. एशिया के सबसे बड़े वैक्सीन निर्माता ने कहा कि जुलाई 2021 तक वैक्सीन की 30 करोड़ डोज तैयार करने का लक्ष्य है.

अदार ने कहा कि भारत कोवॉक्स (COVAX) कार्यक्रम का हिस्सा है. सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में जो कुछ निर्मित किया जाएगा, उसका 50 फीसदी भारत को मिलेगा और बाकी 50 फीसदी कोवॉक्स के साथ शेयर किया जाएगा. उन्होंने कहा कि भारत की आबादी बहुत बड़ी है और कंपनी की ओर तैयार की गयी 5 करोड़ डोज का ज्यादातर हिस्सा देश में ही खप सकता है. पूनावाला ने कहा कि 2021 के शुरुआती छह महीनों में वैश्विक स्तर पर वैक्सीन के टीकों की कमी हो सकती है. इसमें कोई मदद नहीं कर सकता, लेकिन अगस्त-सितंबर से जैसे ही दूसरे वैक्सीन निर्माता सप्लाई देना शुरू करेंगे, वैक्सीन का मिलना आसान हो जाएगा.





अदार ने कहा कि अगर सरकार वैक्सीन को मंजूरी देती है, तो ये नए साल के तोहफे की तरह होगा. वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए मीडिया से बात करते हुए पूनावाला ने कहा कि शुरुआती एक या दो महीने में वैक्सीन का उत्पादन धीमा रह सकता है. एक बार लॉजिस्टिक्स और सभी चीजें प्रक्रियागत हो गईं तो बड़े पैमाने पर कोविशील्ड का उत्पादन शुरू होने की उम्मीद है.

वैक्सीन को सरकार की ओर से मंजूरी मिलने की प्रक्रिया में आ रही चुनौतियों पर अदार ने कहा, "नियामक संस्था डाटा का अध्ययन कर रही है. बहुत सारे लोग कई मुद्दों को उठा रहे हैं. किसी भी तरह की चिंता की बात नहीं है. वैक्सीन 92 से 95 प्रतिशत तक प्रभावी है. ब्रिटेन में वैक्सीन को आपातकालीन इस्तेमाल के लिए दिसंबर के अंत या जनवरी में मंजूरी मिल सकती है. भारत में भी ऐसा होने की उम्मीद है. हमें गुड न्यूज का इंतजार करना चाहिए."
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज