अब भारत में भी मिलेगी कोरोना की ये वैक्सीन, जानें कीमत और कितनी कारगर हैं

असम के तेजपुर में एक महिला स्वास्थ्यकर्मी को कोरोना टीका देती एक नर्स. (पीटीआई फाइल फोटो)

असम के तेजपुर में एक महिला स्वास्थ्यकर्मी को कोरोना टीका देती एक नर्स. (पीटीआई फाइल फोटो)

India Coronavirus Vaccination: WHO के मुताबिक इसके अलावा दुनिया भर में 200 अतिरिक्त वैक्सीन पर काम चल रहा है, जिनमें 60 क्लीनिकल डेवलपमेंट फेज़ में हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 15, 2021, 1:13 AM IST
  • Share this:

नई दिल्ली. देश में टीकाकरण को गति देने के लिए विदेशों में निर्मित कोरोना रोधी वैक्सीन को अब भारत में आयात की मंज़ूरी मिल चुकी है. अमेरिका, ब्रिटेन, जापान, यूरोप के रेगुलेटर और WHO द्वारा इमरजेंसी इस्तेमाल की मंज़ूरी जिन वैक्सीन को मिल चुकी है, उन्हें भारत में भी इस्तेमाल की मंज़ूरी दी जाएगी. नीति आयोग के सदस्य डॉ. वी.के. पॉल ने बुधवार को यह जानकारी दी.



भारत में फिलहाल 3 वैक्सीन को मंज़ूरी मिल चुकी है जिनमें भारत बायोटेक की कोवैक्सिन, सीरम इंस्टीट्यूट की कोविशील्ड और रूस में निर्मित स्पूतनिक V शामिल हैं. आपको बताते हैं कि सरकार के इस फैसले के बाद भविष्य में भारत में कौन सी वैक्सीन उपलब्ध होगी.



1. Pfizer-BIONTECH वैक्सीन : फाइज़र की वैक्सीन करीब 95% तक कारगर है, 21 दिनों के अंतराल पर इसके दो डोज़ लगाने होंगे. इसे स्टोर करने के लिए माइनस 25 से माइनस 15 डिग्री तक तापमान चाहिए. अंतरराष्ट्रीय बाज़ार में इसकी कीमत करीब ₹1500 है. हालांकि भारत में इसके इस्तेमाल से पहले इसकी कीमत को लेकर चर्चा होगी.



Youtube Video

2. Moderna Vaccine : मॉडर्ना की वैक्सीन 94.1% तक कारगर है, 28 दिनों के अंतराल पर इसके दो डोज़ लगाने होंगे. इसे स्टोर करने के लिए 2 से 8 डिग्री तक तापमान चाहिए. अंतरराष्ट्रीय बाज़ार में इसकी एक डोज़ की कीमत करीब ₹1800 है.



3. J&J की Janssen वैक्सीन : Janssen वैक्सीन की कुशलता दर की बात करें, तो यह सिंगल डोज़ वैक्सीन 66.3% कारगर है. इसे स्टोर करने के लिए 2 से 8 डिग्री तक तापमान चाहिए. हालांकि इसकी कीमत अन्य वैक्सिन के मुकाबले कम है, इसके एक डोज़ की कीमत करीब ₹750 है.



4. Novavax वैक्सीन : प्रोटीन बेस्ड वैक्सीन नोवावैक्स की कुशलता दर करीब 90% है. इसे स्टोर करने के लिए 2 से 8 डिग्री तक तापमान चाहिए और अमेरिका में इसकी कीमत करीब ₹1200 है.





5. स्पूतनिक V : रूस की स्पूतनिक V को भारत में इमरजेंसी इस्तेमाल की मंज़ूरी मिल चुकी है. रूस की एजेंसी RDIF के अनुसार स्पूतनिक 91.6% efficacy वाली वैक्सीन है, जिसे 2 से 8℃ के तापमान पर स्टोर किया जा सकता है. इसकी एक डोज़ की कीमत $10 से कम यानी करीब 750 रुपये से कम है.





WHO के मुताबिक इसके अलावा दुनिया भर में 200 अतिरिक्त वैक्सीन पर काम चल रहा है, जिनमें 60 क्लीनिकल डेवलपमेंट फेज़ में हैं. भारत में दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है, और अब तक 11 करोड़ से ज़्यादा वैक्सीन डोज़ दी जा चुकी हैं. विदेशों में बनी वैक्सीन से भारत में टीकाकरण को और गति मिल सकती है.


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज