नवंबर में आ सकती है अमरिकी वैक्सीन, ट्रंप प्रशासन ने राज्यों से तैयार रहने को कहा

नवंबर में आ सकती है अमरिकी वैक्सीन, ट्रंप प्रशासन ने राज्यों से तैयार रहने को कहा
अमेरिका के सीडीसी डिपार्टमेंट ने राज्यों को खत लिखा है. (फोटो- AFP)

अमेरिका (America) के रोग नियंत्रण एवं रोकथाम केन्द्र (CDC) के निदेशक रॉबर्ट रेडफील्ड ने राज्यों को खत लिखा है-सीडीसी इन टीकों के वितरण का काम तेज करने में आपसे सहयोग का अनुरोध करता है. आपसे आग्रह किया जाता है कि यदि आवश्यकता हो तो आप एक नवंबर 2020 तक इन केन्द्रों को पूरी तरह संचालित करने के लिये जरूरी इंतजाम करें.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 3, 2020, 11:31 PM IST
  • Share this:
प्रोविडेंस. अमेरिका की संघीय सरकार (Donald Trump Government) ने सभी राज्यों को एक नवंबर से कोरोना वायरस टीके (Covid-19 Vaccine) वितरित करने के लिए तैयार रहने को कहा है. अमेरिका के रोग नियंत्रण एवं रोकथाम केन्द्र के निदेशक रॉबर्ट रेडफील्ड ने 27 अगस्त को राज्यों के गवर्नरों को लिखे पत्र में कहा, 'निकट भविष्य में हमें मेककेसन कॉरपोरेशन की ओर से अनुमति पत्र मिल जाएगा, जिसने राज्यों और स्थानीय स्वास्थ्य विभागों तथा अस्पतालों समेत कई स्थानों पर टीकों के वितरण के लिये रोग नियंत्रण केन्द्र (सीडीसी) से अनुबंध कर रखा है.

सीडीसी ने राज्यों से की सहयोग की अपील
रेडफील्ड ने लिखा, 'सीडीसी इन टीकों के वितरण का काम तेज करने में आपसे सहयोग का अनुरोध करता है. आपसे आग्रह किया जाता है कि यदि आवश्यकता हो तो आप एक नवंबर 2020 तक इन केन्द्रों को पूरी तरह संचालित करने के लिये जरूरी इंतजाम करें.'

दुनिया में सबसे ज्यादा मौतें भी अमेरिका में ही हुईं
गौरतलब है कि दुनिया में कोरोना से अमेरिका सबसे प्रभावित देश रहा है. देश में अब तक 63 लाख से ज्यादा केस सामने आ चुके हैं. दुनिया में सबसे ज्यादा मौतें भी अमेरिका में ही हुई है. देश में एक लाख 90 हजार लोगों ने जान गंवाई है. डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन की कोरोना से निपटने को लेकर बहुत आलोचना हुई है. इस वक्त अमेरिकी राष्ट्रपति के चुनाव प्रचार के दौरान डोनाल्ड ट्रंप को इसे लेकर विपक्षी घेरने का प्रयास भी कर रहे हैं.



भारत बन चुका है दुनिया का एपिसेंटर
दुनियाभर में कोरोना का एपिसेंटर अब भारत बन चुका है. देश में तकरीबन रोज 70 केस सामने आ रहे हैं. सरकार ने कोरोना से निपटने के लिए टेस्टिंग स्पीड को काफी ज्यादा बढ़ाया है. इस वक्त देश में तकरीबन रोज दस लाख से ज्यादा कोरोना टेस्ट किए जा रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज