COVID-19: क्या देश में पूर्ण लॉकडाउन की जरूरत है? जानें सरकार ने क्या कहा

देश में लगे राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के दौरान नई दिल्ली की खाली सड़कों से गुजरते कुछ वाहन. (Reuters/14 April, 2020)

देश में लगे राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के दौरान नई दिल्ली की खाली सड़कों से गुजरते कुछ वाहन. (Reuters/14 April, 2020)

India Coronavirus Lockdown: देश में एक दिन में कोविड-19 से रिकॉर्ड 3,780 लोगों की मौत के बाद इस बीमारी से जान गंवाने वालों की संख्या 2,26,188 हो गई है.

  • Share this:

नई दिल्ली. कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने भारत में कोहराम मचा रखा है. पिछले कई दिनों से 3.50 लाख से अधिक कोरोना के नए मामले सामने आ रहे हैं. ऐसे में एक बार फिर से देशव्यापी लॉकडाउन लगाने की बात कही जा रही है. इस बीच, सरकार ने भी कहा है कि लॉकडाउन जैसे उपायों पर हमेशा चर्चा की जा रही है.


कोरोना वायरस को रोकने के लिए लॉकडाउन लगाने से जुड़े एक सवाल के जवाब में नीति आयोग के सदस्य वी. के. पॉल ने बुधवार को कहा, 'अगर जरूरत पड़ती है, तो उन विकल्पों पर भी चर्चा होती है. बीते 29 अप्रैल को राज्यों को एक विस्तृत गाइडलाइन दी गई है, जिसमें कोरोना वायरस की चेन तोड़ने के लिए नाइट कर्फ्यू से लेकर तमाम तरह के प्रतिबंधों के बारे में बताया गया है.'


आ सकती है कोरोना की तीसरी लहर, हमें रहना होगा तैयार: PM मोदी के मुख्य वैज्ञानिक सलाहकार


देश में कोरोना से एक दिन में रिकॉर्ड 3780 लोगों की मौत
इस बीच, देश में एक दिन में कोविड-19 से रिकॉर्ड 3,780 लोगों की मौत के बाद इस बीमारी से जान गंवाने वालों की संख्या 2,26,188 हो गई है, जबकि एक दिन में संक्रमण के 3,82,315 नए मामले सामने आए हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि इन नए मामलों के बाद कोविड-19 के कुल मामले बढ़कर 2,06,65,148 हो गए हैं.


Youtube Video

भारत में और बढ़ेगा कोरोना का कहर! मौतों की संख्‍या दोगुनी होने की आशंका- रिपोर्ट




लगातार बढ़ते मामलों के बाद देश में उपचाराधीन मरीजों की संख्या 34,87,229 हो गई है जो संक्रमण के कुल मामलों का 16.87 प्रतिशत है, जबकि कोविड-19 से स्वस्थ होने की राष्ट्रीय दर 82.03 प्रतिशत दर्ज की गई है. सुबह आठ बजे तक के आंकड़ों के मुताबिक बीमारी से स्वस्थ होने वाले लोगों की संख्या 1,69,51,731 हो गई है, जबकि बीमारी से मृत्यु दर घटकर 1.09 प्रतिशत हो गई है.


कोरोना से महाराष्ट्र में सबसे अधिक मौत

भारत ने चार मई को गंभीर स्थिति में पहुंचते हुए दो करोड़ का आंकड़ा पार कर लिया था. मौत के नए मामलों में, सर्वाधिक 891 मौत महाराष्ट्र में, उत्तर प्रदेश में 351, दिल्ली में 338, कर्नाटक में 288, छत्तीसगढ़ में 210, पंजाब में 173, राजस्थान में 154, हरियाणा में 153, तमिलनाडु में 144, झारखंड में 132, गुजरात में 131, पश्चिम बंगाल में 107 और बिहार में 105 लोगों की मौत हो गई. देश में अब तक हुई कुल 2,26,188 मौत में से 71,742 महाराष्ट्र में, 17,752 दिल्ली में, 16,538 लोगों की कर्नाटक में, 14,612 की तमिलनाडु में, 13,798 उत्तर प्रदेश में, 11,774 लोगों की पश्चिम बंगाल में, 9,645 की पंजाब में, 9,645 लोगों की पंजाब में और 9,485 की छत्तीसगढ़ में मौत हुई है. (इनपुट भाषा से भी)

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज