भारत में कोविड-19 के मामले 7 लाख के पार, अब तक एक करोड़ से ज्यादा टेस्ट

भारत में कोविड-19 के मामले 7 लाख के पार, अब तक एक करोड़ से ज्यादा टेस्ट
भारत में कोरोना के मामले 7 लाख के पार हो गए हैं

Coronavirus: दुनियाभर में सबसे ज्यादा संक्रमित कोरोना केस के मामले में भारत तीसरे स्थान पर पहुंच गया है. रूस को पीछे छोड़ भारत तीसरे पायदान पर आ गया है. उसके आगे अब अमेरिका और ब्राजील हैं जहां दोगुने से भी ज्यादा केस हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. देश में एक दिन में कोविड-19 के मामलों (Covid-19 Cases) में बड़ी उछाल आने के बाद सोमवार को भारत में कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमण के कुल मामलों की संख्या सात लाख के पार चली गई. सिर्फ चार दिन पहले देश में संक्रमितों की संख्या छह लाख पहुंची थी. भारत में सोमवार को कोरोना वायरस का पता लगाने के लिए कोविड-19 की जांच (Covid-19 Tests) की संख्या भी एक करोड़ से अधिक हो गई. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह जानकारी दी.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) की ओर से सोमवार की सुबह जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, एक दिन में कोविड-19 के 24,248 मामले सामने आए जिसके बाद कुल मामलों की संख्या बढ़कर 6,97,413 हो गई. बहरहाल, पीटीआई के आंकड़ों के मुताबिक भारत में कोविड-19 के मामले सात लाख 150 है जबकि मृतकों की संख्या 19,795 हो गई है. इन आंकड़ों को संबंधित राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की तरफ से मुहैया कराए गए आंकड़ों को जोड़कर तैयार किया गया है. मंत्रालय के अनुसार कोविड-19 से 425 और लोगों की मौत होने के बाद इस महामारी से मरने वालों की संख्या 19,693 हो गई है. देश में लगातार चौथे दिन कोरोना वायरस के संक्रमण के बीस हजार से अधिक मामले सामने आए हैं.

दुनिया में तीसरे नंबर पर आया भारत
भारत रविवार को रूस को पीछे छोड़ते हुए कोविड-19 से सर्वाधिक प्रभावित होने वाला तीसरा देश बन गया. संक्रमण के कुल मामलों में अब केवल अमेरिका और ब्राजील ही भारत से आगे है. आंकड़ों के अनुसार, अब तक देश में कोविड-19 के 4,24,432 मरीज उपचार के बाद ठीक हो चुके हैं और 2,53,287 मरीजों का इलाज चल रहा है.
ये भी पढ़ें- कोरोना संकट ने बदली व्यवस्थाएं, अब मंदिर में मिलेगा इम्यूनिटी बूस्टर चरणामृत



मंत्रालय ने बताया कि पिछले 24 घंटे में कोविड-19 के 15,350 मरीज ठीक हुए हैं. मंत्रालय ने कहा, “अब तक 60.86 प्रतिशत मरीज ठीक हो चुके हैं.” कोरोना वायरस के कुल मामलों में वे विदेशी भी शामिल हैं जिनकी भारत में की गई जांच में संक्रमण की पुष्टि हुई. स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक पिछले 24 घंटे में तीन लाख 46 हजार 459 नमूनों की जांच हुई है, जिससे कुल जांच की संख्या एक करोड़ एक लाख 35 हजार 525 हो गई है. भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान संस्थान (आईसीएमआर) के अनुसार पांच जुलाई तक देश में 99,69,662 नमूनों की जांच की जा चुकी थी. इनमें से 1,80,596 नमूनों की जांच रविवार को की गई.

'15 अगस्त तक टीका जारी करने का लक्ष्य हकीकत से परे'
इस बीच बेंगलुरू स्थित वैज्ञानिकों की संस्था इंडियन एकेडमी ऑफ साइंसेज (आईएएससी) ने कहा है कि भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद् (आईसीएमआर) द्वारा 15 अगस्त को कोरोना वायरस का टीका जारी करने का लक्ष्य ‘‘अव्यावहारिक’’ और ‘‘हकीकत से परे’’ है.

आईएएससी ने कहा कि नि:संदेह इसकी तुरंत जरूरत है, लेकिन मानवीय जरूरत के लिए टीका विकसित करने के लिए चरणबद्ध तरीके से वैज्ञानिक पद्धति से क्लिनिकल परीक्षण की आवश्यकता होती है. आईएएससी ने बयान जारी कर कहा कि प्रशासनिक मंजूरियों में तेजी लाई जा सकती है लेकिन ‘‘प्रयोग की वैज्ञानिक प्रक्रियाओं और डेटा संग्रहण की नैसर्गिक समय अवधि होती है जिस पर वैज्ञानिक मानकों से समझौता नहीं किया जा सकता.’’ आईएएससी ने बयान में आईसीएमआर के पत्र का जिक्र किया जिसमें कहा गया है कि ‘‘टीका के सभी क्लीनिकल परीक्षण पूरा होने के बाद इसे अधिकतम 15 अगस्त 2020 तक आम आदमी के स्वास्थ्य के लिए जारी करने पर विचार किया जा सकता है.’’

मौत के मामले में आठवें नंबर पर भारत
विश्वभर से कोविड-19 पर आंकड़े एकत्रित कर रहे अमेरिका के जॉन्स हॉपकिंस विश्वविद्यालय के अनुसार महामारी से होने वाली मौतों की संख्या के मामले में भारत विश्व में आठवें स्थान पर है.

पिछले चौबीस घंटे में कोविड-19 से हुई 425 मौत में से 151 मरीजों की मौत महाराष्ट्र में हुई. इसके साथ ही दिल्ली में 63, तमिलनाडु में 60, कर्नाटक में 37, पश्चिम बंगाल में 21, गुजरात में 18, आंध्र प्रदेश में 14, उत्तर प्रदेश में 12, मध्य प्रदेश में दस, राजस्थान में नौ, तेलंगाना में सात, बिहार में छह, जम्मू कश्मीर और हरियाणा में पांच-पांच, पंजाब, झारखंड और ओडिशा में दो-दो और गोवा में एक मरीज की मौत हुई.

ये भी पढ़ें- दुनिया में 3 नंबर पर आए भारत के इस इलाके में अब भी कोई कोविड-19 रोगी नहीं

महाराष्ट्र में अब तक 19 हजार से ज्यादा मौतें
अब तक कोविड-19 से हुई कुल 19,693 मौत में से महाराष्ट्र में सर्वाधिक 8,822 मरीजों की मौत हुई. दिल्ली में अब तक कोविड-19 के 3,067 मरीजों की मौत हो चुकी है. गुजरात में 1,943, तमिलनाडु में 1,510, उत्तर प्रदेश में 785, पश्चिम बंगाल में 757, मध्य प्रदेश में 608, राजस्थान में 456 और कर्नाटक में 372 मरीजों की मौत हो चुकी है. तेलंगाना में कोविड-19 से 295, हरियाणा में 265, आंध्र प्रदेश में 232, पंजाब में 164, जम्मू कश्मीर में 132, बिहार में 95, उत्तराखंड में 42, ओडिशा में 36 और केरल में 25 मरीजों की मौत हो चुकी है.

मंत्रालय के अनुसार, झारखंड में इस महामारी से 19 मरीजों की मौत हो चुकी है. छत्तीसगढ़ और असम में 14-14, पुडुचेरी में 12, हिमाचल प्रदेश में 11, गोवा में सात, चंडीगढ़ में छह और मेघालय, त्रिपुरा, लद्दाख और अरुणाचल प्रदेश में कोविड-19 से एक-एक मरीज की मौत हो चुकी है.

मंत्रालय के अनुसार, 70 प्रतिशत मृतकों में अन्य बीमारियां भी थीं.

दिल्ली में एक लाख के पार मामले
महाराष्ट्र में अब तक कोरोना वायरस संक्रमण के सर्वाधिक 2,11,987 मामले सामने आ चुके हैं. इसके साथ ही तमिलनाडु में 1,14,978, दिल्ली में 1,00,823, गुजरात में 36,037, उत्तर प्रदेश में 27,707, तेलंगाना में 23,902 और कर्नाटक में 23,474 मामले सामने आ चुके हैं. पश्चिम बंगाल में कोविड-19 के मामलों की संख्या बढ़कर 22,126 हो चुकी है. राजस्थान में अब तक संक्रमण के 20,164, आंध्र प्रदेश में 18,697, हरियाणा में 17,005 और मध्य प्रदेश में 14,930 मामले सामने आ चुके हैं.

बिहार में 11,876, असम में 11,388, ओडिशा में 9,070 और जम्मू कश्मीर में 8,429 मामले सामने आ चुके हैं. पंजाब में 6,283 और केरल में 5,429 मामले सामने आ चुके हैं. छत्तीसगढ़ में 3,207, उत्तराखंड में 3,124, झारखंड में 2,781, गोवा में 1,761, त्रिपुरा में 1,568, मणिपुर में 1,366, हिमाचल प्रदेश में 1,063 और लद्दाख में 1005 मामले सामने आ चुके हैं. पुडुचेरी में अब तक कोविड-19 के 802, नगालैंड में 590, चंडीगढ़ में 466 और दादरा एवं नगर हवेली और दमन और दीव में कुल मिलाकर 271 मामले सामने आ चुके हैं.

अरुणाचल प्रदेश में 269, मिजोरम में 186, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में 125, सिक्किम में 123 और मेघालय में 62 मामले सामने आ चुके हैं. मंत्रालय ने कहा कि आईसीएमआर के साथ आंकड़ों का मिलान किया जा रहा है और राज्यवार आंकड़ों में बदलाव संभव है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज